हनुमानगढ़:-आप पार्टी ने किया एसबीआई बैंक का घेराव,एजीएम से उपजा विवाद - Report Exclusive

Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Wednesday, 28 February 2018

हनुमानगढ़:-आप पार्टी ने किया एसबीआई बैंक का घेराव,एजीएम से उपजा विवाद


रिपोर्ट एक्सक्लूसिव,हनुमानगढ़। जिले भर में किसानो को मौसम व सिंचाई पानी की कमी के चलते परेशानी झेलनी पद रही है। वहीं बैंक लॉन ना चुका पाने की स्थिति में बैंको द्वारा की जा रही कार्रवाई से किसान चिंतित हो उठे हैं। आज आम आदमी पार्टी हनुमानगढ़ द्वारा किसानों की भूमि नीलामी संबंधी समस्या को लेकर एसबीआई बैंक के एजीएम का घेराव किया गया। विरोध का मु य उद्देश्य छोटे काश्तकारों के लिए गए ऋण के बदले उनकी जमीन नीलामी को रुकवाना था। जिन छोटे काश्तकारों को फसल खराबे का बीमा कंपनियों द्वारा कलेम नहीं  दिया जा रहा था उसके संबंध में भी विस्तार से चर्चा हुई। घेराव के दौरान किसानो ने एक आवाज में एसबीआई की शाखा द्वारा अपनी ऋण वसूली के लिए प्राइवेट एजेंसियों को ठेके पर देने संबंधी तथा उनके द्वारा छोटे काश्तकारों को ऋण की वसूली बाबत मानसिक रूप से प्रताड़ित करने पर कड़ा एतराज जताया गया।

एजीएम बोल बैठे नेतागिरी की बात
आप पार्टी के नेतृत्व में गए किसानो से वार्ता के दौरान दोनों पक्षों में किसी बात को लेकर गहमा गहमी हो गयी। एजीएम द्वारा किसानों की समस्याओं को उठाने आये नेताओ को विवादित ब्यान में कहा की लोग चुनावी वर्ष में नेतागिरी करने के लिए आ जाते हैं ऐसे में हमें किसी से डरने की जरूरत नहीं है ऐसा हमारे उच्चाधिकारियों द्वारा कहा गया है। इस विवादित बयानबाजी के बाद एकबारगी मामला गर्मा गया इस पर कड़ा एतराज जताते हुए सुरेंद्र बेनीवाल ने विरोध दर्ज करवाया। आपसी चर्चा के दौरान कहे गए शब्दों पर बात बिगड़ती देख एजीएम ने दबी आवाज में अपनी गलती को स्वीकारते हुए अपने शब्द वापिस लेने की बात कही।

एजीएम ने शिष्ट मंडल से वार्ता करते हुए कह की प्राइवेट एजेंसियों को काम राजकीय नियम के अनुसार ही दे रखा है क्योंकि बैंकों के पास पर्याप्त स्टाफ नहीं है छोटे किसानों की ऋण संबंधी अगर कोई जायज समस्या है तो वह आकर के व्यक्तिगत रूप से मेरे से मिल सकता है छोटे किसानों की भूमि की नीलामी के लिए एजीएम ने बताया कि कुछ प्रकरणों में बैंक अपने स्तर पर समझौता वार्ता द्वारा किसान हित में फैसला ले कर के उसे मूल राशि जमा करवा ली जाती है। एजीएम ने वार्ता करते हुए आश्वासन दिया की इस पुरे मामले में मेरी सहानुभूति किसानो के प्रति है मेरे द्वारा उच्च स्तर पर बात की जायेगी। जिसके बाद सभी किसान वापिस लौट आये। इस मौके पर प्रभु पचार,सुरेंद्र बेनीवाल ,सुभाष लोहरा ,श्याम यादव ,संजय कुमार ,भरत शाह ,महावीर स्वामी ,राकेश कुमार ,राजेन्द्र रेगर,बनवारी,पूनम चंद,विनोद कुमार ,बिरबल राम आदि वार्ता में मौजूद थे


loading...

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे