Report Exclusive, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India आकाशवाणी कोटा कैजुअलकर्मियों का शान्तिपूर्ण धरना जारी,कार्यक्रम प्रमुख ने बुलाई पुलिस - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Friday, 23 March 2018

आकाशवाणी कोटा कैजुअलकर्मियों का शान्तिपूर्ण धरना जारी,कार्यक्रम प्रमुख ने बुलाई पुलिस


रिपोर्ट एक्सक्लूसिव,सूरतगढ़/कोटा। अॉल इंडिया रेडियो कैजुअल अनाऊंसर एंड कॉम्पीयर्स यूनियन नई दिल्ली की आकाशवाणी कोटा कैजुअल इकाई का शान्तिपूर्ण धरना प्रदर्शन दूसरे दिन गुरुवार को भी जारी  रहा।

कोटा कैजुअल इकाई प्रवक्ता राजेन्द्र रावल ने बताया कि सुबह 9:45 बजे जब आकाशवाणी कोटा के कार्यक्रम प्रमुख श्री गोस्वामी अपनी गाड़ी से ऑफिस जा रहे थे तो सभी कैजुअल अनाऊंसर और कॉम्पीयर्स ने अपनी मांगों को लेकर बातचीत करने के उद्देश्य से उनका घेराव किया क्योंकि कैजुअलकर्मियों को बातचीत करने के लिए आकाशवाणी केन्द्र में आने पर रोक लगा दी गई हैं।लेकिन यहाँ भी कार्यक्रम प्रमुख ने गाड़ी से उतरना तो दूर गाड़ी के शीशे तक नहीं खोलें और कोई बातचीत नहीं की।

बाद में कार्यक्रम प्रमुख ने पुलिस को फोन करके कहा कि धरना दे रहे कर्मचारी चक्का जाम कर रहे हैं और मारपीट का प्रयास कर रहे हैं।कुछ देर बाद पुलिस की 2 गाड़ियां मौके पर पहुंची और हालात का जायजा लिया।मौके पर पुलिस को चक्का जाम और मारपीट जैसी कोई स्थिति दिखाई नहीं दी।वहाँ कैजुअल कर्मचारी शांतिपूर्ण तरीके से अपनी बात रख रहे थे।पुलिस ने आसपास के लोगों और दुकानदारों से भी पूछताछ की तो सभी ने चक्का जाम और मारपीट की बात से इन्कार कर दिया तो कुछ देर बाद पुलिस वहां से चली गई। 


कोटा कैजुअल इकाई के अध्यक्ष जुगल चौधरी ने कहा कि कार्यक्रम प्रमुख हमारी बात सुनने और समाधान करने की बजाय बेवजह आरोप लगा रहे हैं जबकि हम अपनी बात शांतिपूर्ण तरीके से रख रहे हैं।इकाई सचिव शशिकांत सुमन ने बताया कि आकाशवाणी का मुख्य द्वार बंद कर दिया है और हमें बातचीत के लिए भी अंदर नहीं जाने दिया जा रहा है इसलिए हमने गेट के बाहर कार्यक्रम प्रमुख से बातचीत करना चाही लेकिन उन्होंने कोई बात नहीं की,इससे स्पष्ट है कि स्थानीय आकाशवाणी प्रशासन के मन में कुछ षडयंत्र और खोट है।वहीं दूसरी ओर धरने पर सभी कैजुअल कर्मचारी दिनभर नारेबाजी करते रहे और कई स्वयंसेवी संगठनों,व्यापारियों और धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधि,कोटा बूंदी लोकसभा प्रभारी नवीन पालीवाल और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता भी धरना स्थल पहुंचे और कैजुअल कर्मचारियों का समर्थन किया।इन प्रतिनिधियों ने संबोधित करते हुए कहा कि हक की लड़ाई में हम सब आपके साथ हैं।

इस दौरान कांग्रेस के युवा नेता शिवकान्त नंदवाना भी पहुंचे उन्होंने कैजुअल कर्मचारियों की सभी मांगों को वाजिब बताते हुए पूरी तरह से समर्थन देने का वादा किया।इसके बाद वे इकाई अध्यक्ष जुगल चौधरी के साथ कार्यक्रम प्रमुख श्री गोस्वामी से मिलने पहुंचे। वहाँ नंदवाना ने कहा कि जो बाहर आंदोलन कर रहे हैं वह सभी आकाशवाणी के पारिवारिक सदस्य हैं और सालों से पूरी ईमानदारी के साथ काम कर रहे हैं इसलिए आपको भी इनके प्रति सकारात्मक सोच रखनी होगी।उन्होंने उदाहरणार्थ बताया कि कोटा यूनिवर्सिटी में भी कई लोगों का नियमितीकरण गया है अगर आप भी सकारात्मक सोचेंगे तो इन लोगों का भी भला हो सकेगा।नंदवाना ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर आप कर्मचारियों का समर्थन नहीं करेंगे तो कांग्रेस कार्यकर्ता अपने पूरे दल बल के साथ धरने पर साथ रहेंगे।

नीटू कार्यकर्ता ब्रजेश शर्मा  नें भी धरने को अपना समर्थन दिया और कहा कि आपकी मांगे जायज है और आकाशवाणी प्रशासन को समस्याओं का निदान करना चाहिये।
महिला कैजुअल कर्मचारी तृषा झा,प्रथमा सोनी,निशा धूत,तरन्नुम नाज़ ने कहा कि हम हक की लड़ाई शान्तिपूर्ण तरीके से लड़ रहे हैं फिर भी स्थानीय आकाशवाणी प्रशासन हमें परेशान कर रहा है।

देशभर के दूसरे आकाशवाणी केंद्रों में कैजुअल कर्मचारियों की ड्यूटियां लगाई जा रही है जबकि कोटा में ही मनमानी की जा रही है।ऑल इंडिया यूनियन नई दिल्ली  के विधिक सलाहकार पुष्पेन्द्र शर्मा ने धरने को सम्बोधित करते हुए कहा कि यूनियन इस आन्दोलन को राष्ट्रव्यापी बनाएगी।


अॉल इंडिया यूनियन महासचिव डॉ.शबनम खानम् ने संदेश जारी करते हुए कहा कि अगर जल्द ही मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया तो अॉल इंडिया यूनियन के सभी पदाधिकारी और सदस्य कोटा धरने पर पहुँच जाएंगे और अनशन शुरु कर दिया जाएगा।

हाड़ौती की प्रगतिशील कृषक रिम्पी सिंह और हाड़ौती संभाग के सभी श्रोता भी धरने का समर्थन कर रहे हैं।इस दौरान वरिष्ठ साहित्यकार लोकेश मर्दुल ने अपनी रचनायें सुनाकर प्रदर्शनकारियों का उत्साहवर्धन किया।हेमन्त भारद्वाज,महेन्द्र नागर, महेन्द्र शर्मा सहित कोटा के सभी कैजुअलकर्मी धरने पर मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे