श्रेया इस मामले में दिग्गजों से आगे - Report Exclusive

Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Friday, 16 March 2018

श्रेया इस मामले में दिग्गजों से आगे


सिंगर श्रेया घोषाल ने अब तक 200 से ज्यादा फिल्मों के गीत गाये हैं। श्रेया को कई नेशनल और फिल्मफेयर अवॉर्ड्स मिले हैं। श्रेया गायिकी के क्षेत्र में एक ऐसा नाम हैं, जिन्होंने बेहद कम उम्र में शोहरत की बुलंदियों को छुआ है। वे अब तक 200 से ज्यादा फिल्मों के गीतों को अपने सुरो से सजा चुकीं हैं। अपनी जादुई आवाज के लिए कई अवॉर्ड्स जीत चुकी इस गायिका के नाम एक ऐसी उपलब्धि दर्ज है, 

जो लता मंगेशकर, आशा भोसले, अलका याज्ञनिक, अनुराधा पोडवाल जैसे दिग्गजों के नाम भी नहीं हैं। दरअसल श्रेया घोषाल पहली ऐसी भारतीय गायिका हैं, जिनके मोम के पुतले को मैडम तुसाद के संग्रहालय में लगाया गया है। 

श्रेया का जन्म राजस्थान के रावतभाटा में हुआ था। श्रेया के पिता भाभा परमाणु अंसुधान केंद्र में नाभिकीय ऊर्जा संयंत्र इंजीनियर के रूप में काम करते हैं, जबकि उनकी मां परेलू महिला हैं। श्रेया जब महज चार साल की थीं। तब से ही हारामोनियम पर वे अपनी मां का साथ दिया करती थीं।  

श्रेया ने बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘देवदास’ से की थी लेकिन ये इस फिल्म के लिए श्रेया को लेने का फैसला संजय भंसाली ने नहीं, बल्कि उनकी मां लीला भंसाली ने टीवी शो ‘सा, रे, गा, मा, पा’ शो पर गाते हुए देखकर किया था। 

मां के कहने पर भंसाली ने श्रेया को गाने के लिए बुलाया और उसके बाद श्रेया की झोली में ‘बैरी पिया’ गाना आ गया। इसके बाद क्या हुआ सब जानते हैं। 

श्रेया को एक्टिंग में दिलचस्पी नहीं है। उन्होंने एक साक्षात्कार के दौरान कहा था कि उनके भीतर अभिनय का कीड़ा नहीं है। बच्चे शीशे के सामने खड़े होकर बचपन में एक्टिंग करते हैं, लेकिन वे शीशे में देखते हुए गाना गाती थी। वे मानती हैं कि म्यूजिक के साथ एक्टिंग करती हूं। किसी एल्बम या वीडियो में फीचर करना ठीक है, लेकिन फिल्म के लिए उनमें सब्र नहीं है।

लता मंगेशकर को अपना आदर्श मानने वाली श्रेया घोषाल ने हिंदी के अलावा, तमिल, तेलगु, मलयालम, कन्नड़, गुजराती, मराठी, और भोजपुरी भाषाओं के गीतों में अपनी आवाज दी है। लता मंगेशकर को अपना आदर्श मानने वाली श्रेया घोषाल ने हिंदी के अलावा, तमिल, तेलगु, मलयालम, कन्नड़, गुजराती, मराठी, और भोजपुरी भाषाओं के गीतों में अपनी आवाज दी है।

अब तक श्रेया को चार फिल्मफेयर अवार्ड, चार नेशनल फिल्म अवॉर्ड और दो साउथ फिल्मफेयर अवॉर्ड मिल चुके हैं। अब तक श्रेया को चार फिल्मफेयर अवार्ड, चार नेशनल फिल्म अवॉर्ड और दो दक्षिण के फिल्मफेयर अवॉर्ड मिले हैं।

loading...

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे