हनुमानगढ़:- टिब्बी दोहरे हत्याकांड की गुत्थी आज भी अनसुलझी!,पुलिस नहीं पकड़ पा रही मुख्य आरोपित को - Report Exclusive

Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Tuesday, 29 May 2018

हनुमानगढ़:- टिब्बी दोहरे हत्याकांड की गुत्थी आज भी अनसुलझी!,पुलिस नहीं पकड़ पा रही मुख्य आरोपित को


दोहरा हत्याकांड जिसका मुख्य आरोपी आज भी चल रहा फरार

मृतक के परिजन चार साल से काट रहे कभी इधर तो कभी उधर चक्कर

चार बार बदली जांच लेकिन मुख्य आरोपी फिर भी पकड़ से बाहर

एसओजी आईजी से मिले मृतक परिजन,किया आश्वस्त

हनुमानगढ़(कुलदीप शर्मा) जिले के टिब्बी थानाक्षेत्र में ग्रामपंचायत 4 केएसपी के गांव 1 केएसपी में 31 दिसम्बर 2014 को हुए दोहरे हत्याकांड की पूरी गुथी आज भी सुलझ नही पाई हैं! उसका सबसे बड़ा कारण पुलिस जिसे मुख्य आरोपी मान रही है वो पिछले चार सालों से फरार है लेकिन पुलिस एक आरोपी को आज भी पकड़ने में नाकामयाब रही है। पीड़ित पक्ष ने इस दौरान राजस्थान पुलिस के कोई भी उच्च अधिकारियों का दरवाजा खटखटाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी है लेकिन उन्हें न्याय की उम्मीद तो हर जगह दिखाई जाती थी लेकिन आज भी पुलिस मुख्य आरोपी को पकड़ने में सफलता हासिल नहीं कर पाई है। 

ये था मामला....
......
टिब्बी थानाक्षेत्र की ग्राम पंचायत 4 केएसपी के गांव 1 केएसपी की घटना है। 31 दिसम्बर के शाम करीबन 5 बजे दम्पति की हत्या कर दी गयी थी। हत्या का कारण जमीनी विवाद पुलिस मानती आ रही है लेकिन आज तक भी मुख्य आरोपी के पकड़ में नहीं आने के चलते पुलिस स्पष्ट नहीं कर पाई है कि आखिर हत्या की वजह क्या रही होगी! हालांकि ये अलग बात है कि इसी मामले में करीबन आधा दर्जन से ज्यादा लोगों को पुलिस पकड़ कर कोर्ट में पेश करके सभी आरोपियों को जेसी करवा चुकी है। पीड़ित परिजनों की माने तो पुलिस इस मामले में जमीनी विवाद को ही आधार मान कर चल रही है। मृतक मांगीलाल व मांगीलाल की धर्मपत्नी कमलादेवी की हत्या का मुख्य आरोपी विनोद कुमार पुत्र रामप्रताप निवासी 9 केएसपी रिश्ते में भी मृतको के कुछ लगता है। मुख्य आरोपी विनोद कुमार आज भी फरार है जिसको पुलिस पकड़ने का प्रयास करने का दावा करती आ रही है।

चार बार बदली जांच,लेकिन किसी को नहीं मिला मुख्य आरोपी
.......
31 दिसम्बर 2014 को हत्या होने के चार साल से भी अधिक बीतने के बावजूद पुलिस के आलाधिकारी मुख्य आरोपी विनोद कुमार को पकड़ नहीं पाए है। इन चार सालों में मृतको के परिजनों ने राजस्थान पुलिस के एसपी से लेकर डीजीपी तक का दरवाजा खटखटाया लेकिन उसके बावजूद भी उन्हें न्याय नहीं मिल सका हालांकि इसमे आधा दर्जन से अधिक आरोपियों की गिरफ्तारी पुलिस कर चुकी है लेकिन अंतिम एक व्यक्ति आज भी फरार है। दोहरे हत्याकांड ने जहां इलाके में दहशत का माहौल बना दिया था तो वहीं इस दौरान सबसे पहले टिब्बी एसएचओ,दूसरी बार डीएसपी संगरिया, तीसरी बीकानेर आईजी कार्यालय और अंतिम जांच नीतिश आर्य राजगढ़ एसपी कर चुके है। लेकिन बावजूद इसके आज तक भी पुलिस उसे पकड़ने में नाकामयाब रही है। परिजनों का मानना है कि जब तक मुख्य आरोपी नहीं पकड़ा जाएगा उनका न्याय अधूरा ही रहेगा!

हाई कोर्ट ने दिए सम्पति कुड़क के आदेश,नार्को टेस्ट के नाम पर भागा मुख्य आरोपी..
........
मृतक के दामाद की माने तो 11 जनवरी 2016 को मुख्य आरोपी के पकड़ में नहीं आने के चलते कुड़की के आदेश निकाले थे लेकिन वो भी आज तक अधर में लटके हुए हैं! तो वहीं फरवरी 2015 में जब मुख्य आरोपी विनोद कुमार का नार्को टेस्ट करवाने की बात आई तो वो फरार हो गया जिसका आज तक भी पुलिस पता नहीं लगा पाई है कि आखिर वो कहाँ गया है। तो वहीं इस मामले से लेकर फरार होने तक के घटनाक्रम पर पुलिस की कार्यशैली पर भी कई सवाल खड़े कर दिए हैं तो वहीं अभी तक एक आरोपी को ना पकड़ पाने के बाद  पुलिस की बड़ी नाकामी भी खुल कर सामने आई है। बताया जाता है कि अंतिम जांच अधिकारी एसपी राजगढ़ नितेश आर्य ने 11 जनवरी 2016 की हाई कोर्ट जोधपुर में पेश होकर मुख्य आरोपी को पकड़ने की पूरी कोशिश करना बताया गया था। जिसके बाद कोर्ट ने कुड़की के भी आदेश जारी किए थे। बाद में उन आदेशो का क्या हुआ इसकी जानकारी हमे पुख्ता नहीं मिल पाई थी!

एसओजी के आईजी दिनेश एम. एन. से मिले परिजन
........
हनुमानगढ़ में आज पंजाब,हरियाणा, राजस्थान राज्यो की पुलिस की बैठक जिला कलेक्ट्रेट में आयोजित हुई। इस महत्वपूर्ण बैठक में एसओजी के बहुचर्चित व दबंग आईजी दिनेश एम. एन. से मिलने मृतक के दामाद रामकिशन बिश्नोई व परिजन अमर सिंह शेरेका मिलने पहुंचे। एसओजी के आईजी दिनेश एम. एन. ने परिजनों से लम्बी बात करते हुए उनके पूरे मामले को सुनने के बाद आश्वस्त किया कि जल्द ही इस मामले में रिपोर्ट मंगवा कर इसे पढूंगा और आप निश्चित रहे आपके साथ जिसने भी गलत किया वो जहां भी होगा पकड़ा जाएगा। जिसके बाद परिजनों ने बताया कि हमे एसओजी के आईजी से बहुत उम्मीद है उन्होंने आश्वस्त किया है जल्द ही वो इस मामले में सम्भव मदद करेंगे!

किसने क्या कहा.....
.......
मुख्य आरोपी विनोद कुमार जब तक नहीं पकड़ा जाता है हमारा न्याय अधूरा ही रहेगा। पिछले चार साल से हम बहुत भटक रहे हैं  लेकिन न्याय की उम्मीद कम ही नजर आ रही है। मुख्य आरोपी चार साल से फरार चल रहा है लेकिन पुलिस ईमानदार प्रयास उसे पकड़ने का नहीं कर पा रही है--....... रामकिशन बिश्नोई,मृतक दामाद

आज हम एसओजी के आईजी दिनेश एम. एन. से मिले है उन्होंने आश्वस्त किया है कि वो इस मामले में जो सम्भव होगी वो मदद जरूरत पड़ने पर जरूर करेंगे। कहते है पुलिस को सब मामलू होता है पुलिस चाहे तो सब कुछ हो सकता है लेकिन पुलिस मुख्य आरोपी को आज तक क्यों नहीं पकड़ पा रही है वो हमारी समझ से परे है......... अमर सिंह,मृतक परिजन

loading...

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे