Report Exclusive, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India नोटबंदी के दौरान राजनेताओं की सहकारी बैंकों में बदले गए सबसे ज्यादा पुराने नोट - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Tuesday, 18 September 2018

नोटबंदी के दौरान राजनेताओं की सहकारी बैंकों में बदले गए सबसे ज्यादा पुराने नोट


नई दिल्ली(जी.एन.एस) भ्रष्टाचार और कालेधन पर लगाम लगाने के लिए मोदी सरकार ने नोटबंदी की घोषणा की, लेकिन इससे न तो भ्रष्टाचार कम हुआ और न ही कालेधन पर लगाम लगी। एक आरटीआई में हुए खुलासे से पता चला है कि देश के 10 केंद्रीय सहकारी बैंकों में सबसे ज्यादा नोट बदले गए हैं और उन सभी बैंकों में शीर्ष पदों पर भाजपा, कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना तक के नेता शामिल हैं। देश के 370 जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों में नोटबंदी के दो दिन बाद यानी 10 नवंबर, 2016 से 31 दिसंबर तक 500 और 1 हजार के पुराने नोट 22.270 करोड़ रुपए नए नोटों से बदले गए थे। जिन सहकारी बैंको में इन पैसों को बदला गया, उसमें से चार गुजरात में स्थित हैं तो चार महाराष्ट्र में, जबकि एक कर्नाटक और एक हिमाचल में है। 18.82 फीसदी राशि इन बैंकों में जमा कराई गई है। यह जानकारी सूचना के अधिकार (आरटीआई) अधिनियम के तहत इंडियन एक्सप्रेस ने दी है।
जिस सहकारी बैंक में सबसे ज्यादा 745.59 करोड़ रुपए के पुराने नोट जमा किए गए हैं, वो गुजरात के अहमदाबाद का जिला सहकारी बैंक है, जिसके निदेशक बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और अजयभाई एच पटेल हैं। राजकोट का जिला सहकारी बैंक पुराने नोट जमा करवाने में दूसरे नंबर पर है, जिसमें 693.19 करोड़ रुपए जमा कराए गए, जिसके अध्यक्ष हैं बीजेपी नेता जयेशभाई राडियाडिया। तीसरे नंबर पर है पुणे का जिला केंद्रीय सहकारी बैंक, जिसमें 551.62 करोड़ रुपए के पुराने नोट बदलवाए गए हैं। इस बैंक के अध्यक्ष हैं एनसीपी के पूर्व विधायक रमेश थोराट। इस बैंक की उपाध्यक्ष कांग्रेस की नेता अर्चना गारे हैं। चौथे नंबर पर कांगड़ा जिला केंद्रीय सहकारी बैंक है, जिसमें 543.11 करोड़ रुपए के पुराने नोट बदलवाए गए हैं। इस बैंक के अध्यक्ष कांग्रेस नेता जगदीश पहेलिया हैं।सबसे ज्यादा पुराने नोट बदलवाने की सूची में पांचवें नंबर पर है सूरत का जिला सहकारी बैंक, जिसमें 269.85 करोड़ रुपए बदले गए हैं। इस बैंक के अध्यक्ष हैं भाजपा नेता नरेशभाई भिखाभाई पटेल।

छठे नंबर पर है सबरकंठा का जिला केंद्रीय सहकारी बैंक जहां 328.5 करोड़ रुपए के पुराने नोट बदले गए हैं। इस बैंक के अध्यक्ष हैं बीजेपी के नेता महेशभाई अमितचंदभआई पटेल। सातवें नंबर पर है साउठ केनार जिला सहकारी बैंक, जिसमें 327.81 करोड़ रुपए के पुराने नोट बदले गए हैं और इसके अध्यक्ष हैं कांग्रेस के नेता एमएन राजेंद्र कुमार। आठवें नंबर पर नासिक का जिला केंद्रीय सहकारी बैंक है, जिसमें 319.68 करोड़ रुपए के पुराने नोट बदले गए हैं। इस बैंक के अध्यक्ष हैं शिवसेना के नेता रेंद्र दारडे। नौवें नंबर पर सतारा जिला का केंद्रीय सहकारी बैंक है, जिसमें 312.04 करोड़ रुपए के पुराने नोट बदले गए थे। इस बैंक के अध्यक्ष हैं रांकपा नेता छत्रपति शिवेंद्र सिंह राजे। 10वें नंबर पर है सांगली जिला का सहकारी बैंक, जिसमें 301.08 करोड़ रुपए के पुराने नोट बदले गए हैं। इस बैंक के उपाध्यक्ष हैं भाजपा नेता संग्राम सिंह समपत्रो देशमुख।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे