Report Exclusive, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India UIDAI ने 50 करोड़ नंबर बंद होने की खबरों को खारिज कर बताया आधारहीन - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Thursday, 18 October 2018

UIDAI ने 50 करोड़ नंबर बंद होने की खबरों को खारिज कर बताया आधारहीन



नई दिल्ली(जी.एन.एस) देश के 50 करोड़ मोबाइल यूजर्स के उनका नंबर बंद होने की मीडिया में चल रही खबरों को UIDAI ने खारिज कर दिया है और कहा है ये आधारहीन हैं। टेलीकॉम विभाग ने भी UIDAI के साथ साझा बयान जारी किया है और इन खबरों को गलत बताया है। इसके पहले ऐसी खबरें थी कि अगर मोबाइल यूजर्स ने टेलीकॉम कंपनियों को आधार के साथ दूसरा कोई डॉक्यूमेंट (पहचान पत्र) नहीं दिया है, तो इस स्थिति में उनका नंबर बंद हो सकता है। इस वक्त देश में 50 करोड़ से अधिक नंबर आधार पर चल रहे हैं।



पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने आधार को लेकर फैसला सुनाया था। सुप्रीम कोर्ट ने मोबाइल नंबर के लिए आधार का उपयोग अवैध माना था, ऐसे में कंपनियों को आधार की जानकारी हटानी होगी। इसके पहले ऐसी खबरें थी कि अगर यूजर ने दूसरा कोई पहचान पत्र सिम खरीदते वक्त या बाद में कंपनी को नहीं दिया है, तो उसका नंबर बंद भी हो सकता है।
सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अगर आधार को डिलिंक किया गया तो कोई KYC नहीं रह जाएगी। इस स्थिति में नबंर को बंद करना होगा जबतक कोई दूसरा KYC अपडेट नहीं किया जाता है। मार्च के महीने में, टेलीकॉम कंपनियों को सभी पूर्व-आधार केवाईसी दस्तावेजों को नष्ट करने का आदेश दिया गया था, क्योंकि वे डिजिटलाइज्ड हो रहे थे।



इसके पहले मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नए KYC के जरिए ही नंबर को बंद होने से रोका जा सकता है जोकि बिना आधार के होगा। इसके मतलब ये होगा कि यूजर्स से लेकर कंपनियों को अब और मशक्कत करनी होगी। सरकार की कोशिश है कि आधार हटाने और कोई नया पहचान पत्र जमा कराने तक मोबाइल यूजर्स को कोई परेशानी न हो और उनका नंबर बंद न हो। इसके लिए टेलीकॉम विभाग भी आधार प्राधिकरण के साथ लगातार बातचीत कर रहा है और कोई बीच का रास्ता तलाशने की कोशिश की जा रही है। हालांकि दूरसंचार विभाग ने इन खबरों का खंडन किया है।

Source Report Exclusive

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे