चारणवासी:-हादसों को बुलावा देते संपर्क सडक़ों के अंधे मोड़,गांवों को आपस में जोडऩे वाली कई संपर्को सडक़ों पर बने हैं ब्लाइंड कट और जर्जर सडक़ें - Report Exclusive

Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Monday, 26 February 2018

चारणवासी:-हादसों को बुलावा देते संपर्क सडक़ों के अंधे मोड़,गांवों को आपस में जोडऩे वाली कई संपर्को सडक़ों पर बने हैं ब्लाइंड कट और जर्जर सडक़ें


रिपोर्ट एक्सक्लूसिव,चारणवासी। गांवों को आपस में जोडऩे वाली संपर्क सडक़ों के अंधे मोड व ब्लाइंड कट मोड हादसों को बुलावा दे रहे हैं। ऐसे मोडो पर आए दिन हादसें हो रहे हैं। गांव रामसरा से नोहर की तरफ जाते वक्त गांव की आबादी से कुछ दूरी पर ब्लाइंड कट हैं ये मोड वाहन चालकों के लिए जान लेवा हो सकता हैं। क्यों कि ये मोड गुळाई से बना हुआ हैं वाहन चालक इस मोड को साधारण समझ कर वाहनों की गति कम नहीं करते ओर सामने से आ रहा वाहन दिखाई नहीं देता। ऐसी स्थिति में कई बार वाहन आपस में टक्करा जाते हैं। 
कमोबेश ये ही हाल गांव चारणवासी से फेफाना जाने वाली संपर्क सडक़ पर खिनानिया वितरिका के पुल के दोनों ओर महज दूरी पर दोनों तरफ ब्लाइंड कट मोड हैं। 

पेड़ बने परेशानी के सबब:
खास बात तो ये हैं कि दोनों मोडो पर पेड़ व झाडी खडी होने के कारण आगे से आने वाला वाहन दिखाई नहीं देता। दोनों मोड से तीन-तीन तरफ सडक़ निकलती हैं। मोड पर संकेत बोर्ड न लगा होने के कारण वाहनों को आपस में भिडऩे की आंशका बनी रहती हैं। विभाग भी इन ब्लाइंड मोडो पर चैतावनी व संकेत बोर्ड नहीं लगवा रहा। इन सडक़ों पर धुंध में सफर करना खतरें से खाली नहीं हैं। 

ऐसे ही गांव चारणवासी से मलवाणी जाते समय मोड पर सडक़ के किनारे डाली गई लकड़ी वाहन चालकों के लिए परेशानी सबब बन चुकी हैं। ब्लाइंड मोड पर लकडिय़ों का ढेर होने के कारण आपस में वाहत आते दिखाई नहीं देतें। वहीं गांव मलवाणी से रतनपुरा व मल्लैंका जाने वाली संपर्क सडक़ पर भी कई ब्लाइंड कट मोड हादसों को बुलावा दे रहे हैं। पूर्व पंचायत समिति सदस्य जिंद्रपाल गोदारा ने बताया कि रतनपुरा में भी कई ऐसे खतरनाक मोड हैं जो हमेशा दुर्घटना को निमंत्रण देते रहते हैं। 

ग्रामीणों ने सार्वजनिक निर्माण विभाग से गांवों की संपर्क 
सडक़ों के ब्लाइंड कट मोड के दोनों तरफ कुछ दूरियों पर संकेत व चैतावनी बोर्ड लगवाने व पेड़ व झाडिय़ा कटवाने की मांग की हैं। ताकि हादसों में कमी आये। वहीं वाहन चालकों ने बताया कि अधिकाश्ंा सडक़ों पर संकेत बोर्ड न लगा होते के कारण अनजान राहगीर रास्ता भटक जाते हैं। सार्वजनिक निर्माण विभाग के एक्सईएन जोधा सिंह ने बताया कि संकेत बोर्ड लगवाने के लिए सरकार को प्रस्ताव भेजा हुआ हैं। स्वीकृती मिलने पर लगवा दिए जाऐगें।  



loading...

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे