Report Exclusive, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India गुजरात: ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का प्रधानमंत्री मोदी ने किया अनावरण - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Wednesday, 31 October 2018

गुजरात: ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का प्रधानमंत्री मोदी ने किया अनावरण


केवडिया(जी.एन.एस)

– पटेल के जीवन पर आधारित संग्रहालय का भी लोकार्पण किया– इस परियोजना से प्राकृतिक संसाधनों को बड़े स्तर पर नुकसान पहुंचेगा: आदिवासियों

देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल के सम्मान में तैयार 182 मीटर ऊंची दुनिया की सबसे विशालकाय प्रतिमा ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का बुधवार को अनावरण हो गया। प्रधानमंत्री मोदी ने सरदार पटेल की जयंती पर इसका अनावरण किया।

‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ के अनावरण के लिए देशभर की 30 छोटी-बड़ी नदियों का जल लाया गया था, जिसमें गंगा, यमुना, सरस्वती, सिंधु, कावेरी, नर्मदा, ताप्ती, गोदावरी और ब्रह्मपुत्र आदि शामिल हैं। पीएम मोदी ने इन्हीं 30 नदियों के जल से प्रतिमा के पास स्थित शिवलिंग का अभिषेक किया। इस दौरान 30 ब्राह्मणों ने मंत्रों का जाप भी किया।

पीएम मोदी ने ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ के अनावरण से पहले 17 किलोमीटर लंबी फूलों की घाटी का उद्घाटन किया। साथ ही उन्होंने प्रतिमा के पास पर्यटकों के लिए तंबुओं के शहर और पटेल के जीवन पर आधारित संग्रहालय का भी लोकार्पण किया। प्रतिमा के भीतर 135 मीटर की ऊंचाई पर गैलरी बनाई गयी है, जिससे पर्यटक बांध और पास की पर्वत शृंखला का दीदार कर सकेंगे। सरदार पटेल की इस प्रतिमा की ऊंचाई स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी से दोगुनी है। प्रतिमा की निर्माण का सरदार सरोवर बांध के पास साधु बेट पर किया गया गया है।
अधिकारिक विज्ञप्ति के मुताबिक, लौह पुरुष की सबसे बड़ी प्रतिमा के अनावरण के बाद भारतीय वायुसेना के तीन जहाज सलामी देते हुए तिरंगा बनाया। प्रतिमा के निकट ही प्रधानमंत्री यहां ‘वॉल ऑफ यूनिटी’ का भी अनावरण किया। उसी समय तीन जगुआर लड़ाकू विमान काफी नीचे से उड़ान भरते हुए गए। ‘वॉल ऑफ यूनिटी’ का उद्घाटन करने के बाद मोदी पटेल को पुष्पांजलि अर्पित किया। इसी दौरान दो एमआई-17 हेलीकॉप्टर प्रतिमा पर पुष्पवर्षा किया। इस अवसर पर गुजरात पुलिस, सशस्त्र और अर्द्धसैनिक बलों के बैंड सांस्कृतिक और संगीत कार्यक्रमों की प्रस्तुति की। इसके साथ ही 29 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों से आए कलाकार संगीत एवं नृत्य प्रस्तुति दिया।
आदिवासियों ने किया बहिष्कार का एलान:- इस बीच स्थानीय आदिवासी नेताओं ने बुधवार के आयोजन का बहिष्कार करने की घोषणा की है और दावा किया कि इस परियोजना से प्राकृतिक संसाधनों को बड़े स्तर पर नुकसान पहुंचेगा। सरदार सरोवर डैम के निकट के 22 गांवों के सरपंचों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर बताया है कि वह इस कार्यक्रम के लिए उनका स्वागत नहीं करेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि इलाके में अभी भी स्कूल, अस्पताल और पीने के पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं नहीं हैं। मालूम हो कि नर्मदा जिले के कुछ आदिवासी समूहों ने प्रतिमा निर्माण का शुरू से ही विरोध करते रहे हैं।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे