Report Exclusive, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India यूपी पुलिस और पीएसी में 51 हजार आरक्षियों की भर्ती शीघ्र - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Thursday, 18 October 2018

यूपी पुलिस और पीएसी में 51 हजार आरक्षियों की भर्ती शीघ्र


लखनऊ। विजय दशमी के अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पुलिस विभाग में बड़े पैमाने पर नयी भर्तियां किये जाने की प्रक्रिया को गति प्रदान की गयी है। यह निर्णय प्रदेश की कानून-व्यवस्था एवं अपराध नियंत्रण की स्थिति को और अधिक बेहतर बनाये जाने के उददेश्य से लिया गया है। मुख्यमंत्री ने पुलिस कर्मियों की कमी को शीघ्र दूर करने के लिये भर्ती की प्रक्रिया को और अधिक तेजी लाने एवं सम्पूर्ण पुलिस भर्ती प्रक्रिया को पूर्णतया पारदर्शी तरीके से करने के निर्दश प्रदान किये है। 

मुख्यमंत्री ने कहा है कि इससे पुलिस बल की जनशक्ति में जहा वृद्वि होगी वही इससे पुलिस कर्मियों पर कार्य का तनाव भी कम होगा जिससे बेहतर कार्य संस्कृति प्राप्त होगी। मुख्यमंत्री ने पुलिस के सिपाहियों की भर्ती में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ाने के उददेश्य से आरक्षी सिविल पुलिस की नयी भर्ती मंे 20 प्रतिशत पद महिलाओं हेतु सुरक्षित करने के भी निर्देश दिये है। मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में राज्य सरकार द्वारा इस दिशा में और तेजी लायी गयी है तथा कई महत्वपूर्ण कदम उठाये गये है। 
Source Report Exclusive
प्रदेश सरकार द्वारा उठाये गये कदमो की विस्तृत जानकारी प्रमुख सचिव, गृह अरविन्द कुमार, पुलिस महानिदेशक, ओ0पी0 सिंह तथा पुलिस महानिदेशक उ0प्र0 पुलिस भर्ती बोर्ड, जी0पी0 शर्मा ने आज मीडिया सेन्टर एनेक्सी में प्रेस प्रतिनिधियों को प्रदान की। उल्लेखनीय है कि वर्तमान समय में पुलिस विभाग में लगभग 42 प्रतिशत रिक्तियां पुलिस आरक्षी स्तर, 50 प्रतिशत रिक्तिया जेल वार्डन स्तर तथा 38 प्रतिशत रिक्तियां फायर मैन स्तर, पर चल रही है। प्रमुख सचिव गृह, अरविन्द कुमार ने उक्त जानकारी देते हुये आज यहां बताया कि पुलिस कर्मियों के मनोबल को बढ़ानें एवं उनकी कार्य संस्कृति को और बेहतर करने के लिये वर्ष 2018 में विशेष प्रयास करके 37575 पुलिस कर्मियों को बड़ी संख्या मंे पदोन्नितियां प्रदान की गयी है। 

उन्होने बताया कि पदोन्नति प्राप्त पुलिस कर्मियों में से 2192 निरीक्षक, 7500 उपनिरीक्षक तथा 24651 हेड कांस्टेबल है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2017 में पदोन्नति पाने वाले पुलिस कर्मियों की कुल संख्या 9892 थी। अरविन्द कुमार ने बताया कि पुलिस विभाग में सिविल पुलिस एवं पीएसी में कुल स्वीकृत 2 लाख 29 हजार से अधिक पदों में से 97 हजार से अधिक पद वर्तमान समय में रिक्त चल रहे है। पुलिस बल मंे सिपाहियों की कमी को शीघ्र पूरा करने के मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में 51,216 पुलिस आरक्षियों की शीघ्र ही नई भर्ती का कार्यक्रम निर्धारित किया गया है। इसके अन्र्तगत 32 हजार पदों पर सिविल पुलिस के आरक्षियों तथा 19216 पदों पर पीएसी के आरक्षियो की नई भर्ती की जायेगी। उन्होने यह भी बताया कि सिविल पुलिस के आरक्षी पदों में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ाने के उददेश्य से उनके लिये 20 प्रतिशत पद सुरक्षित होगे। उन्होनें यह भी बताया कि शासन द्वारा यह भी निर्णय लिया गया है कि पिछली बार हुई अंतिम पुलिस भर्ती के दौरान पात्र ऐसे अभ्यर्थी जिनकी आयु सीमा अब वर्तमान मे होने वाली नयी भर्ती के आवेदन के दौरान निकल गयी है, उन्हे भी आयु सीमा में छूट प्रदान कर मौका दिया जायेगा। अरविन्द कुमार ने बताया कि प्रदेश को आग की दुर्घटनाओं से त्वरित राहत प्रदान करने के उददेश्य से अग्निशमन विभाग को चुस्त-दुरूस्त बनाने के लिए रिक्त चल रहे पदों की शीघ्र भर्ती केा भी शासन द्वारा प्राथमिकता प्रदान की गयी है। 

वर्तमान समय में अग्निशमन विभाग मंे फायर मैन के कुल स्वीकृत 5 हजार से अधिक पदों मे से 1924 पद रिक्त चल रहे है। इस कमी को पूरा करने के लिये 1679 पदों पर फायर मैन की नयी भर्ती हेतु अधियाचन उ0प्र0पुलिस भर्ती बोर्ड को प्रेशित किया जा रहा है। प्रमुख सचिव, गृह ने यह भी बताया कि इसी प्रकार कारागार प्रशासन को भी और अधिक चुस्त दुरूस्त बनाने के प्रयास किये जा रहे है। पुरूष बंदी रक्षकों के कुल स्वीकृत 6490 पदों मंे से वर्तमान समय में केवल 3514 तथा महिला बंदी रक्षकों के कुल स्वीकृत 721 पदों मेें से 96 पद ही भरें होने के कारण कारागार प्रशासन विभाग को भी जन शक्ति की कमी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होनें बताया कि शासन द्वारा कुल 3638 बंदी रक्षकों की शीघ्र ही नयी भर्ती करनें के निर्देष दिये गये है जिसमें 3012 पद पुरूष तथा 626 पद महिला बंदी रक्षकों के है। 

अरविन्द कुमार ने बताया कि वर्तमान समय में 29 हजार से अधिक पुलिस कर्मी विभिन्न प्रषिक्षण संस्थानों में प्रषिक्षण प्राप्त कर रहे है जिनमें 20134 पुरूष आरक्षी, 5341 महिला आरक्षी एवं 3828 पीएसी के आरक्षी है। उल्लेखनीय है कि पीएसी के जवानों की कमी के चलते हुए कुल स्वीकृत 273 पीएसी कंपनियों में से 74 कंपनी बंदी के कगार पर पहुच गयी थी, जिनकों शीघ्र ही नई जनषक्ति उपलब्ध करा कर पुर्नजीवित करने के प्रयास किये जा रहे है। सरकार के गंभीर प्रयासों के फलस्वरूप पीएसी की 30 कंपनिया शीघ्र ही नई जनशक्ति से पूर्ववत क्रियाशील हो जायेगी तथा शेष को भी यथाशीघ्र क्रियाशील कर दिया जायेगा। प्रेस बीफिं्रग के दौरान उ0प्र0 पुलिस भर्ती बोर्ड के अध्यक्ष जी0पी0 शर्मा ने पुलिस भर्ती की चल रही वर्तमान प्रक्रिया को शीघ्र पूर्ण करने तथा नयी भर्ती किये जाने के लिये अपनायी जाने वाली रणनीति की विस्तार से जानकारी प्रदान की। पुलिस महानिदेशक ओ0पी0 सिंह ने भी पुलिस भर्ती की प्रक्रिया मे तेजी लाने एवं उनके बेहतर प्रशिक्षण आदि के संबंध में भी विस्तार से महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर प्रमुख सचिव, सूचना अवनीश अवस्थी भी मौजूद थे।
Source Report Exclusive

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे