Report Exclusive, Lok Sabha Elections 2019: Latest News, Photos, and Videos on India General Elections, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India विराट की कोहली की इस पसंदीदा बॉल को मिलेगी टेस्ट में फिर जगह जाने क्या है माजरा - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Thursday, 14 March 2019

विराट की कोहली की इस पसंदीदा बॉल को मिलेगी टेस्ट में फिर जगह जाने क्या है माजरा


नई दिल्ली, (वेबवार्ता)। दुनियाभर में फटाफट क्रिकेट की बढ़ती लोकप्रियता के बीच टेस्ट के अस्तित्व को बचाने के लिए चल रहे प्रयासों के बीच एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति ने खेल के सबसे पुराने प्रारूप में ड्यूक्स गेंदों का इस्तेमाल बढ़ाने और समय की बर्बादी रोकने के लिए टाइमर के उपयोगी की सिफारिश दी है।



 एमसीसी ने गत सप्ताह बेंगलुरू में आयोजित बैठक में टेस्ट प्रारूप में कई अहम बदलावों पर चर्चा की है। इन प्रस्तावों की अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद(आईसीसी) के सामने सिफारिश की जाएगी। क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति के अध्यक्ष एवं पूर्व इंग्लिश कप्तान माइक गैटिंग तथा पूर्व आस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर शेन वार्न ने इन प्रस्तावों की रूपरेखा तैयार की है।

वर्तमान में एसजी, कूकाबूरा और ड्यूक्स गेंदों का इस्तेमाल दुनियाभर के विभिन्न क्रिकेट बोर्डों द्वारा किया जाता है। लेकिन वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में अब मुख्य रूप से ड्यूक गेंदों का इस्तेमाल करने की सिफारिश की गई है, समिति की दलील है कि दुनियाभर के विभिन्न क्रिकेटरों ने भी ड्यूक गेंदों के इस्तेमाल को महत्व दिया है। 



ग्रीष्मकालीन सत्र में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में एशेज पहला टूर्नामेंट होगा जिसमें एमसीसी ने दिन-रात्रि टेस्ट में उपयोग की जाने वाली गुलाबी कूकाबूरा गेंदों को छोड़कर एक तय मानक की गेंदों के उपयोगी की सिफारिश की है। समिति ने दुनियाभर के क्रिकेटरों से भी इस बाबत उनकी राय ली है तथा एमसीसी इसका परिणाम जांचने के लिए एशिया में भी जल्द इन गेंदों का उपयोग शुरू करेगा।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे