Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India यदि कोरोना पॉजिटिव मरीज के सम्पर्क में आ जाएं, तो तुरंत कोविड सैम्पल ना करवाएं, लक्षण उभरने पर जांच करवाएं रू डॉ. नवनीत शर्मा - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Wednesday, 5 May 2021

यदि कोरोना पॉजिटिव मरीज के सम्पर्क में आ जाएं, तो तुरंत कोविड सैम्पल ना करवाएं, लक्षण उभरने पर जांच करवाएं रू डॉ. नवनीत शर्मा

 यदि कोरोना पॉजिटिव मरीज के सम्पर्क में आ जाएं, तो तुरंत कोविड सैम्पल ना करवाएं, लक्षण उभरने पर जांच करवाएं रू डॉ. नवनीत शर्मा

- बुधवार नहीं होगा कोविड वैक्सीनेशन

हनुमानगढ़, । कोरोना संक्रमण बढने के साथ ही लोगों में इसके लिए भय आना लाजिमी है, ऐसी स्थिति में आमजन को घबराने की जरूरत नहीं है। यदि आपमें कोविड संक्रमण के कोई लक्षण नहीं आ रहे हैं, तो आपको कोविड सैम्पल करवाने की आवश्यकता नहीं है। लक्षण आने पर विभाग द्वारा आपका कोविड सैम्पल लिया जाएगा।
सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि अगर आपको पता चले कि आप किसी कोरोना संक्रमित मरीज के सम्पर्क में आए हैं, तो सबसे पहले खुद को होम क्वारंटाइन कर लें। कोरोना वायरस का लक्षण दिखने में 5 से 6दिन लग सकते हैं। इसलिए इस अवधि के लिए घर पर खुद को परिवार से अलग रखें व घर से बाहर न निकलें। इस दौरान बुखार, सांस की तकलीफ, खांसी, गंध में कमी, गले में खराश, बहती नाक, दस्त और मांसपेशियों में दर्द आदि लक्षणों का ध्यान रखें। अगर यह लक्षण प्रतीत होते हैं, तो तुरंत कोरोना सैम्पलिंग करवाएं। यदि यह लक्षण 14 दिनों तक नहीं आते, तो आप पूर्णतरू स्वस्थ हैं। आपको कोरोना सैम्पल करवाने की आवश्यकता नहीं है।

अनावश्यक भीड़ ना करें, बढ़ता है संक्रमण का खतरा
सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने कहा कि अगर आपको कोई लक्षण प्रतीत नहीं होते हैं, तो आप कोविड सैम्पल करवाने के लिए चिकित्सा केन्द्रों एवं कोविड सैम्पलिंग स्थल के चक्कर ना काटे। क्योंकि ऐसा करने से आपमें कोविड पॉजीटिव होने के सम्भावना बढ़ जाएगी। प्रशासन और चिकित्सा विभाग आपको घर रहने की निर्देश दे रहा है जबकि आप चिकित्सा संस्थानों पर घूमकर संक्रमण स्वयं अपने घर लेकर जाने में सहायक हो रहे हैं।

जरूरतमंद मरीज की रिपोर्ट में देरी
कोविड प्रभारी डॉ. रविशंकर शर्मा ने बताया कि कोविड के लक्षण आए बिना कोविड सैम्पलिंग करवाने से जरूरतमंद (कोविड संक्रमित) व्यक्ति छूट जाता है। ऐसे में उसका सैम्पल होने में देरी होती है और उसकी रिपोर्ट भी देरी से आती है। अगर उस जरूरतमंद व्यक्ति का कोविड सैम्पल समय पर होता है, तो उसकी पॉजीटिव रिपोर्ट जल्दी मिलती। इससे चिकित्सा विभाग उसे जल्दी उपचार दे सकता है। ऐसी स्थिति में देरी होने से वह व्यक्ति कइयों को संक्रमित कर सकता है।

रिपीट सैम्पल से बचें
कोविड प्रभारी डॉ. रविशंकर शर्मा ने बताया कि कोरोना पॉजीटिव आए व्यक्ति को विभाग द्वारा घर पर रहकर उपचार लेने व परिवार से अलग रहने की सलाह दी जाती है। ऐसे में पॉजीटिव व्यक्ति 10 से 14 दिन के उपचार के बाद पूर्णतरू स्वस्थ हो जाता है। यदि 14 दिन के बाद आपमें कोई लक्षण नहीं है, तो आपको पुनरू सैम्पल करवाने की आवश्यकता नहीं है।

घर-घर सर्वें के दौरान मिल रही किट
एसीएमएचओ डॉ. पवन कुमार ने बताया कि मेडिकल टीम द्वारा घर-घर जाकर सर्दी, खासी, जुकाम (आईएलआई) के मरीजों का डाटा संग्रहित किया जा रहा है। ऐसे में आईएलआई मरीजों को उन्हें दवाइयों को किट भी उपलब्ध करवाई जा रही है। उपलब्ध डाटा के अनुसार मरीजों को फोन कर उन्हें घर पर ही दवाइयां दी जा रही है।

गुरुवार को लगेगी कोविड वैक्सीन
आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि 5 मई बुधवार को जिले में कोविड वैक्सीनेशन नहीं होगा। कोविड वैक्सीन अब 6 मई गुरुवार को लगाई जाएगी। गुरुवार को आयोजित होने वाले वैक्सीनेशन में केवल द्वितीय डोज वालों का ही टीकाकरण होगा। वह लाभार्थी जिन्होंने 42 दिन या उससे अधिक दिन पूर्व कोविड वैक्सीन की प्रथम डोज लगवाई थी, वह गुरुवार को चयनित टीकाकरण साइट पर जाकर वैक्सीनेशन करवा लें। उन्होंने कहा कि 18 से 44 के मध्य आयु के युवाओं का वैक्सीनेशन जल्द ही शुरु किया जाएगा। अभी राज्य के केवल 11 जिलों में 18 से 44 के मध्य आयु के युवाओं का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। निदेशालय से इस आदेश आते ही आमजन को इसकी सूचना उपलब्ध करवा दी जाएगी। इस जानकारी के लिए चिकित्सा संस्थानों के पूछताछ काउंटर पर भीड़ ना करें।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे