Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Thursday, 26 August 2021

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित

 हमारे प्रयासों में कमी नहीं आनी चाहिए: श्री नथमल डिडेल

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित 


प्रत्येक ब्लॉक में अच्छा कार्य करने वाली एएनएम को प्रशस्त्रि पत्र देकर किया सम्मानित

हनुमानगढ़, । जिला स्वास्थ्य समिति (डीएचएस) की बैठक आज जिला कलक्ट्रेट परिसर में प्रातरू 10 बजे जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा, पीएमओ डॉ. दीपकमित्र सैनी, आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह, एसीएमएचओ डॉ. पवन कुमार, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. रविशंकर शर्मा, डीपीएम जितेन्द्र राठौड़, डीएनओ सुदेश जांगिड़, ब्लॉक स्तर से समस्त बीसीएमओ, बीपीएम, सीएचसी मेडिकल ऑफिसर्स एवं एनएचएम स्टॉफ आदि उपस्थित थे। इसके अलावा प्रत्येक ब्लॉक से सात बेहतर कार्य करने वाली एवं सात कम कार्य करने वाली एएनएम उपस्थित थीं।
जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर से पूर्व हमें अपने चिकित्सा संस्थान की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करना होगा। हमारी सीएचसी-पीएचसी पर स्वास्थ्यकर्मियों सहित समस्त कार्मिकों ऑक्सीजन सिलेण्डर व ऑक्सीजन कंसलट्रेटर को स्थापित करने, इस्तेमाल करने, लीकेज चेक करने एवं सम्भाल करने संबंधी कार्यों में दक्ष करना ताकि आने वाली किसी भी आपात स्थिति पर नियंत्रण रखा जा सके। उन्होंने कहा कि कोविड की तृतीय लहर हेतु राज्य स्तर से चयनित सीएचसी में टिब्बी ब्लॉक की सीएचसी को भी जोड़ा जाए। उन्होंने जिला अस्पताल, संगरिया, नोहर, भादरा व रावतसर में स्थापित किए जा रहे ऑक्सीजन प्लाण्ट के कार्य के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि बीसीएमओ ऑक्सीजन प्लाण्ट का साप्ताहिक निरीक्षण करें ताकि बाद में किसी भी प्रकार की अव्यवस्था ना हो। उन्होंने कहा कि कार्य कम गति से हो रहा है। इसके लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) को पत्र प्रेषित किया जाए। उन्होंने कहा कि जिले में समस्त ऑक्सीजन कंसलट्रेटर की ऑनलाइन एंट्री शुक्रवार शाम तक हो जानी चाहिए। उन्होंने एनएचएम द्वारा बनाई जा रहे चिकित्सा संस्थानों की बिल्डिंग की प्रगति के बारे में जानकारी ली। उन्होंने निर्देश दिए कि चिकित्सा संस्थानों की बिल्डिंग के बारे में समस्त जानकारी व नक्शा बीसीएमओ के पास होनी चाहिए। इसके अलावा कार्य संबंधी जानकारी भी साइट पर चस्पां होनी चाहिए। उन्होंने एनएचएम के एईएन से कहा कि चिकित्सा विभाग का सिविल वर्क जल्द से जल्द पूरा हो जाना चाहिए। इसके लिए ठेकेदार एवं कार्मिकों को पाबंद करें तथा क्वालिटी का पूरा ध्यान रखा जाए।
विभागीय योजनाओं पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि एएनसी चौकअप में 14 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, लेकिन यह अधिक हो सकती थी। हमें अपने कार्मिकों एवं संसाधनों का पूर्ण उपयोग लेना होगा। स्वास्थ्यकर्मियों को प्रोत्साहित करना होगा। हमारे प्रयासों में कमी नहीं आनी चाहिए। इसकी बदौलत ही हमें अपने लक्ष्यों को पूर्ण कर पाएंगे। एएनसी चौकअप में कम कार्य करने वाली घेउ, गदरा, टोपरिया मलसीसर एवं भोमपुरा से कार्य में सुधार करने के लिए पाबंद किया। उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा चिकित्सकीय स्टॉफ नोहर व भादरा में है। इसके बावजूद एएनसी कार्य में सबसे ज्यादा संस्थान भी वहीं के हैं, इसलिए सुधारात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाए। उन्होंने कहा कि समस्त बीसीएमओ कार्य नहीं करने वाली कार्मिक की सूची बनाकर सीएमएचओ कार्यालय भिजवाएं। उन सभी का डेपूटेशन रद्द किया जाएगा। थ्री एएनसी चौकअप पर उन्होंने कहा कि कार्य होने के उपरांत ऑनलाइन नहीं होने जिले का प्रदर्शन कमतर होता है।
उन्होंने कहा कि संस्थागत प्रसव में सुधार तो हुआ है, लेकिन अपेक्षाकृत  अभी भी कम है। उन्होंने कहा कि आमजन संस्थागत प्रसव की जगह प्राइवेट हॉस्पीटल, जिला अस्पताल या जिले के बाहर जा रहे हैं। यह चिकित्साकर्मियों के लिए सोचनीय विषय है कि एक जरूरतमंद आदमी को सुविधा नहीं मिलने पर वह अपने गांव से बाहर जाता है, तो उसका पैसा व समय खर्च होता है। हर एएनएम को अपना सहयोग करना होगा। घर-घर जाकर आमजन में विश्वास दिलाना होगा कि हमारे चिकित्सा संस्थान पर सुरक्षित संस्थागत प्रसव करवाया जाता है। आपका विश्वास देखकर ही आमजन आप पर विश्वास करने लगेगा। संस्थागत प्रसव का कार्य डॉक्टरों के साथ-साथ दक्ष एएनएम द्वारा भी सुरक्षित करवाया जा रहा है। दक्ष एएनएम के साथ कमजोर एएनएम को अटैच करो। इससे कमजोर एएनएम के कार्य में सुधार आएगा। उन्होंने संस्थागत प्रसव में ब्रह्मसर, मलसीसर, नौरंगदेसर, बड़ोपल एवं मुनसरी से स्पष्टीकरण मांगा। उन्होंने बीसीएमओ से कहा कि ऐसी सभी एएनएम जिन्होंने पिछले तीन महीनों से डिलीवरी नहीं करवाई, उन सभी को चार्जशीट दें तथा उनका पदस्थापन अन्य चिकित्सा संस्थान पर किया जाए। उन्होंने समस्त बीसीएमओ से कहा कि जीरो डिलीवरी करवा रही पीएचसी की कार्य व्यवस्था को दुरुस्त करवाएं।
उन्होंने कहा कि टीकाकरण में 92 प्रतिशत कार्य करके हमारा जिला द्वितीय स्थान पर रहा है, ऐसे में हमें टीकाकरण में कम कार्य करने वाले चिकित्सा संस्थानों पर कार्य कर इसे 95 प्रतिशत तक किया जाए ताकि अगली बार हम प्रथम स्थान पर रह सकें। उन्होंने जननी सुरक्षा योजना एवं मुख्यमंत्री राजश्री योजना में कम कार्य कर रहे चिकित्सा संस्थानों को कार्य पूर्ण रखने के लिए पाबंद किया। उन्होंने कहा कि समस्त बीपीएम ऑनलाइन पोर्टल पर एण्ट्री करवाएंगे तथा डीपीएम तथा डीएनओ इनकी मॉनिटरिंग करेंगे। अगले माह आयोजित होने वाली बैठक में ऑनलाइन पोर्टल पर  95 प्रतिशत एंट्री होनी चाहिए। कार्य नहीं करवाने वाले बीपीएम को हटाया जाएगा। परिवार कल्याण कार्यक्रम में पुरुष नसबंदी में कम कार्य कर रहे चिकित्सा संस्थानों को केस बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले की रैकिंग को बढ़ाने के सभी कारकों पर कार्य करें ताकि जिला अग्रिम पंक्ति में रहे। उन्होंने परिवार कल्याण, पीपीआईयूसीडी, अंतरा इंजेक्शन में बेहतर कार्य करने की बात कही। इसके लिए सभी को ट्रेनिंग दी जाए। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में जरूरतमंद व्यक्ति को इलाज प्रदान कर पैकेज बुक किए जाएं। इसमें लापरवाही ना बरती जाए। इसके उपरांत उन्होंने कायाकल्प, फण्ड पोजिशन, अनटाइड फण्ड, टीबी, एनीमिया मुक्त राजस्थान आदि पर चर्चा की।
सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने डीएचएस में समस्त विभागीय योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ब्लॉक मीटिंग समय अनुसार ही आयोजित की जाएं तथा पीपीटी जिला स्तरीय ग्रुप में अवश्य शेयर करें। कहीं पर भी विजिट करें, तो ओडीके ऐप पर जरूर इन्द्राज करें। एएनएम को मोबाइल फोन ऑपरेट करना सिखाएं ताकि वो आसानी से योजनाओं की जानकारी ऑनलाइन तरीके से अपडेट कर सके। समस्त अधिकारी  ऑनलाइन पोर्टल को दिन में एक बार ओपन करें।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे