Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India शिक्षा के साथ-साथ स्वास्थ्य का भी ख्याल रखें - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Wednesday, 29 September 2021

शिक्षा के साथ-साथ स्वास्थ्य का भी ख्याल रखें

 जिला निष्पादन समिति की बैठक

शिक्षा के साथ-साथ स्वास्थ्य का भी ख्याल रखें
रैकिंग सुधार के लिये विद्यालय स्तर पर व्यक्तिगत मॉनिटरिंग जरूरीः जिला कलक्टर
श्रीगंगानगर, । जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने कहा कि विद्यार्थियों में शिक्षा के साथ-साथ उनके स्वास्थ्य का भी पूरा ख्याल रखा जाये। विद्यालयों में किसी भी बच्चें में खांसी, बुखार, जुखाम के लक्षण दिखने पर तुरन्त नजदीक के चिकित्सक को दिखाएं।
जिला कलक्टर बुधवार को कलेक्ट्रेट सभाहॉल में शिक्षा विभाग की जिला निष्पादन समिति की बैठक में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि चिकित्सा विभाग बच्चों में कोविड-19 रोग न फेलें, इसको लेकर अधिक से अधिक नमूने लिये जाये तथा जिस विद्यालय में कोई छात्रा कोविड पॉजिटिव पाया जाता है तो समस्त छात्रों के नमूने लिये जाये। जो छात्र पॉजिटिव आये, उनके अभिभावकों के भी नमूने लिये जाये। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में कोरोना गाईडलाइन की पालना सुनिश्चित की जाये।
जिला कलक्टर ने कहा कि रैकिंग में गंगानगर जिला चौथे नम्बर पर है, ऐसे में शिक्षा विभाग के अधिकारियों से लेकर विद्यालय के प्रधानाचार्य तक व्यक्तिगत तौर पर मॉनिटरिंग करनी होगी तभी जाकर रैकिंग में सुधार होगा। दिसम्बर 2021 माह तक गंगानगर जिला एक नम्बर पर हो, ऐसे सार्थक प्रयास करने होंगे। जिला कलक्टर ने रीट परीक्षा की सफलता को लेकर सभी को बधाई दी। उन्होंने कहा कि एक टीम भावना से जो कार्य किया गया, वह सराहनीय है। रैकिंग में भी एक टीम के रूप में कार्य कर यह सिद्ध करना है कि जिला नम्बर एक पर रहेगा।
जिला कलक्टर ने कहा कि गंगानगर जिले में सरकार द्वारा विद्यार्थियों के लिये जो योजना संचालित की जा रही है, उसका लाभ छात्रों को मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षा गुणवत्तापूर्ण हो। राजकीय विद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों व अभिभावकों में साख व विश्वास में बढ़ोतरी हुई है। बच्चों का नामांकन, परिणाम अच्छा हो, खेल की सुविधा, सेनेन्ट्री, आईटी लैब इत्यादि बिन्दुओं पर विशेष ध्यान दिया जाये। जिन विधालयों में कम्प्यूटर लैब है, वह संचालन की स्थिति में हो तथा विद्यार्थियों के काम आये। किसी भी विधालय में कम्प्यूटर लैब बंद नहीं मिलनी चाहिए।
मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी श्री दयानंद यादव ने बताया कि नाबार्ड के प्रथम चरण में 29 कार्य, द्वितीय चरण में 31 कार्य प्रारम्भ किये, जिनमें से 29 पूर्ण हो चुके है। पीएबी में 76 कार्य स्वीकृत हुए, जिनमें से 64 पूर्ण हो चुके हैं। डीएमएफटी में 36 कार्य स्वीकृत हुए, जिनमें 34 कार्य पूर्ण हो चुके है। सीएम जनसहभागिता योजना में 21.74 लाख के 21 कार्य प्रगति पर है। उन्होंने बताया कि जिले में 273 आईसीटी लैब स्थापित की गई है। उन्होंने कहा कि मिड-डे-मिल योजना में विद्यार्थियों/ अभिभावकों को दिया जाने वाला कॉम्बो पैकेट अभिभावक को देने के बाद उन्हीं से खुलवाकर निरीक्षण करवा दें। अगर पैकेट में कोई खराबी है तो उसे बदलकर दिया जाये।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गिरधारी लाल ने बताया कि विभिन्न विद्यालयों में प्रतिदिन एक हजार नमूने लिये जा रहे है। अभी तक विभिन्न 5 स्थानों पर कोविड-19 के पॉजिटिव रोगी पाये गये है। उन्होंने कहा कि सभी विद्यालयों में प्रवेश द्वार पर सेनेटाईजर मशीन हो, मास्क का उपयोग छात्रा व अध्यापक सभी को करना है। खुले व वेंटिलेशन वाले अध्ययनकक्षों का उपयोग किया जाये। विद्यालयों में किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये।
पेयजल विभाग के अधीक्षण अभियंता श्री वीरेन्द्र कुमार बलाना ने बताया कि जल जीवन मिशन के तहत अधिकांश विद्यालयों में पेयजल भिजवाने के प्रयास किये जा रहे है। अब तक स्वीकृत कार्यों में 34 विद्यालयों तक पेयजल की पाईपलाईन स्वीकृत हो चुकी है तथा 86 योजनाएं प्रस्तावित है, जिनमें भी विद्यालय लाभान्वित होंगे।
बैठक में शिक्षा विभाग के जिला स्तरीय व ब्लॉक स्तर के अधिकारियों ने भाग लिया। (

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे