बीकानेर:-7 साल तक के बच्चों को मिलेगा प्रवेश - Report Exclusive

Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Tuesday, 13 March 2018

बीकानेर:-7 साल तक के बच्चों को मिलेगा प्रवेश


रिपोर्ट एक्सक्लूसिव,बीकानेर। आरटीई के तहत निशुल्क प्रवेश पाने वाले बच्चों को लेकर सरकार ने बड़ी रियायत  दी है। अब कक्षा प्रथम से शुरू होने वाले स्कूल में आरटीई के तहत प्रवेश पाने वाले बालक की  अधिकतम उम्र सीमा छह से बढ़ाकर सात साल कर दी है। इससे अधिक उम्र के चक्कर में  नि:शुल्क प्रवेश पाने से वंचित होने वाले कई बच्चों को इसका फायदा मिलेगा।

 2012 में  आरटीई कानून के तहत हर निजी स्कूलों में गरीब तबके के बच्चों का 25 प्रतिशत सीटों पर  नि:शुल्क प्रवेश होता आया है। इन बच्चों का खर्चा सरकार वहन करती है, लेकिन इसका लाभ  लेने के लिए सरकार ने माता-पिता गरीब होने के साथ-साथ स्कूल में प्रवेश पाने वाले बालक  की उम्र भी निर्धारित कर रखी है। इसमें प्रमुख रूप से एलकेजी कक्षा से शुरू होने पढ़ाई वाले  स्कूल में प्रवेश के लिए पिछले साल तक छात्र-छात्रा की उम्र तीन साल से अधिकतम चार  साल तक की तय कर रखी है। वहीं यूकेजी में संबंधित छात्र की न्यूनतम उम्र चार साल से  अधिकतम पांच साल व प्रेप में पांच साल या उससे अधिक छह वर्ष तक थी। 

न्यूनतम तीन साल, अधिकतम चार साल :
 सरकार ने इस सत्र में आरटीई के तहत प्रवेश पाने वाले छात्र-छात्रा की आयु सीमा में एलकेजी  कक्षा को छोडक़र अन्य कक्षाओं में उम्र बढ़ाई है। इसमें एंट्री लेवल की कक्षा एलकेजी है तो  उसमें प्रवेश पाने वाले छात्र की उम्र तो न्यूनतम तीन साल व अधिकतम चार साल है। वहीं यूके जी में संबंधित छात्र की न्यूनतम साढ़े तीन साल अधिकतम पांच वर्ष है। प्रेप कक्षा में न्यूनतम  उम्र साढ़े चार वर्ष से अधिकतम छह वर्ष है। इसके अलावा एंट्री लेवल कक्षा प्रथम है तो उसके  लिए न्यूनतम उम्र छात्र-छात्रा की पांच वर्ष व अधिकतम सात वर्ष रखी गई है। 

निजी स्कूलों का किया था सत्यापन :
 शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत निजी स्कूलों ने 25 प्रतिशत सीटों पर स्कूलों में  निशुल्क प्रवेश दिया था। इसके बाद शिक्षा विभाग की ओर से नि:शुल्क प्रवेश को लेकर  सत्यापन करवाया था। सत्यापन के बाद सही पाए गए स्कूलों के लिए पुनर्भरण राशि का प्रस्ताव  भेजा था। कुछ स्कूल ऐसे हैं, जिन्होंने पुनर्भरण राशि को लेकर दावा प्रपत्र शिक्षा विभाग को  भेजा नहीं। 

11 लाख से अधिक आवेदन 
आरटीआई प्रवेश के प्रदेश भर में इस दफा 28300 स्कूलों के लिये 11 लाख 41 हजार 600  आवेदन आये। ङ्क्षजनकी लॉटरी शाम को निकाली जाएगी। 

loading...

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे