Report Exclusive, Lok Sabha Elections 2019: Latest News, Photos, and Videos on India General Elections, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India राष्ट्रपति जी के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव संसद में बोले निहालचंद - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Tuesday, 5 February 2019

राष्ट्रपति जी के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव संसद में बोले निहालचंद


श्रीगंगानगर। माननीय राष्ट्रपति जी के अभिभाषण पर धन्यवाद देने के लिए मैं, आपके सामने उपस्थित हुआ हूँ और आपके माध्यम से मैं उनका हृदय से आभार प्रकट करता हूं और साथ ही बोलने हेतु समय दिए जाने पर आपका धन्यवाद देता हूँ।
    संसद के बजट सत्रा की शुरुआत में राष्ट्रपति महोदय द्वारा अभिभाषण एक पुरानी और महतवपूर्ण संसदीय परम्परा रही है और इस बार का अभिभाषण इसलिए भी और महतवपूर्ण है कि इसमें राष्ट्रपति महोदय द्वारा हमारी वर्तमान सरकार के पिछले 5 वर्षों के सफल कार्यान्वन का ज़िक्र किया गया है। वर्ष 2014 के आम चुनावों से पहले देश एक अनिश्चितता के दौर से गुजर रहा था, दुनिया में विश्व गुरु की ख्याति रखने वाला देश विभिन्न प्रकार के घोटालों की वजह से चर्चा में था। किसान, गरीब, मजदूर व पिछड़ा वर्ग अपने वर्चस्व की लडाई लड़ रहा था, महंगाई ने आम नागरिक की कमर तोड़ दी थी। 2014 के आम चुनावों में देश की जनता ने प्रचण्ड बहुमत से आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाई और उन पर एक नए भारत के निर्माण हेतु विश्वास दिखाया। हमारी सरकार ने ना ही केवल नए भारत के सपने को साकार करने की दिशा में तेजी से कदम बढ़ाये बल्कि दुनिया ने भी नए भारत का लोहा माना। हमारी सरकार ने इन 4.5 वर्षों के कार्यकाल में देश के प्रत्येक वर्ग को ध्यान में रखते हुये अपनी योजनाओं को तैयार किया और प्रभावी ढंग से लागू करने का काम किया। आजाद भारत के इतिहास में पहली बार हमारी सरकार ने गरीबों के लिए मकान, बीमा, गैस कनेक्शन, किसानों के लिए साइल हेल्थ कार्ड जैसी व्यवस्था की है।
    इस अंतरिम बजट में किसानों, श्रमिकों और करदाताओं को राहत पहुंचाकर हमारी सरकार ने इन लोगों के लिए विकास के नए द्वार खोले है। आयकर की सीमा 2.5 लाख से 5 लाख रुपये करके मध्यम वर्ग और करदाताओं का विशेष ध्यान रखा गया है ।    
    हमारी सरकार द्वारा इस अंतरिम बजट में देश के सभी वर्गों का ध्यान रखा गया है। सरकार ने इस अंतरिम बजट के माध्यम से प्रयास किया है कि किसानों, विद्यार्थियों, असंगठित क्षेत्रा में काम करने वाले लोगों, गृहणियों और नौकरी पेशा वर्ग के लोगों को तमाम सहूलियतें प्रदान की जाए, ताकि देश का चहुमुखी विकास सुनिश्चित किया जा सके। सरकार ने प्रधानमन्त्रा किसान सम्मान निधि योजना शुरू की है। यह योजना 1 दिसम्बर 2018 से लागू होगी और इस योजना में 6000 रुपये प्रति वर्ष उन किसानों को दिया जायेगा जिनके पास 2 हेक्टेयर से कम जमीन है। इस योजना पर आने वाला 75 हजार करोड़ का पूरा खर्च केंद्र सरकार उठाएगी और इस योजना से लगभग 12 करोड़ किसानों को फायदा होगा। भारत अब दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है, जिसकी जीडीपी 8 प्रतिशत के करीब रहने की संभावना है। प्राकृतिक आपदा की स्थिति में किसानों को ऋण में 2 प्रतिशत की छूट दी जाएगी और जो किसान समय पर ऋण भरेगा, उसके लिए यह छूट 3 प्रतिशत तक होगी। गायों के संरक्षण हेतु कामधेनु योजना को शुरू किया गया है। इस योजना पर 750 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे और गायों के लिए राष्ट्रीय कामधेनु आयोग की भी स्थापना की जाएगी। देश के सैनिकों को दिए जाने वाले बोनस को 3500 रुपए से बढ़ाकर 7000 रुपये कर दिया गया है। आंगनवाडी योजना में काम करने वाले सभी कर्मचारियों को मिलने वाले मानदेय में 50 प्रतिशत की वृद्धि कर दी गयी है। अब तक उज्ज्वला योजना में दिए गए गैस कनेक्शनों की संख्या को 8 करोड़ करने के लक्ष्य को रखा गया था और अब देश में 6 करोड़ लोगों को उज्ज्वला योजना में गैस कनेक्शन दिए जा चुके हैं। घरेलू कामगारों के लिए ’प्रधानमंत्रा श्रम योगी मानधन’ नाम से मजदूरों के लिए पेंशन योजना। 10 करोड़ असंगठित मजदूरों को इस पेंशन स्कीम का लाभ मिलेगा। 21 हजार तक वेतन वाले मजदूरों का बोनस 7 हजार रुपए होगा। “प्रधानमंत्रा श्रम योगी मानधन योजना“ के तहत 60 साल की उम्र पार कर चुके मजदूरों को प्रतिदिन 100 रुपये के हिसाब से हर महीने 3000 रुपये पेंशन के तौर पर दिए जायेंगे। प्रधानमंत्रा मुद्रा योजना का सबसे अधिक लाभ महिलाओं को ही मिला है। अब तक देशभर में 15 करोड़ मुद्रा ऋण दिए गए हैं जिसमें से 73 प्रतिशत ऋण महिला उद्यमियों को प्राप्त हुआ है। वर्तमान केंद्र सरकार महिलाओं को सशक्त कर रही हैं। केंद्र सरकार ने गर्भवती महिलाओं के लिए प्रधानमंत्री मातृ योजना की घोषणा की है, जिसके तहत महिलाओं को 26 सप्ताह का मातृत्व अवकाश दिया जाएगा। मनरेगा के लिए 60 हजार करोड़ के आवंटन का एलान। रक्षा बजट पहली बार 3 लाख करोड़ के पार चला गया है। स्मार्ट सिटी के बाद अब अगले पांच साल में एक लाख डिजिटल गांव बनाए जाएंगे।
    पिछले साढ़े चार सालों में हमारी सरकार ने एक भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चलाई है, जोकि देश में केवल विकास के लिए प्रतिबद्ध है। वर्तमान सरकार ने कमरतोड़ महंगाई की कमर ही तोड़ दी। भारत दुनिया की तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है। सरकार ने कई बड़े आर्थिक सुधार किए है, नए भारत के लिए कई योजनाओं की शुरुआत की गई है। हमारा लक्ष्य 2022 तक न्यू इंडिया बनाने का है। आदरणीय प्रधनमंत्रा श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार देश के निरंतर विकास के पथ पर अग्रसर है। मैं, एक बार पुनः माननीय राष्ट्रपति जी को अभिभाषण हेतु धन्यवाद देता हूँ। 

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे