Report Exclusive, Lok Sabha Elections 2019: Latest News, Photos, and Videos on India General Elections, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India संवेदनशील, अतिसंवेदनशील केन्द्रों पर 4 प्रकार से होगी निगरानीः- जिला निर्वाचन अधिकारी - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Wednesday, 10 April 2019

संवेदनशील, अतिसंवेदनशील केन्द्रों पर 4 प्रकार से होगी निगरानीः- जिला निर्वाचन अधिकारी


  • पुलिस व जिला प्रशासन की हुई संयुक्त बैठक
  • संयुक्त दौरे में ग्रामीणों से बातचीत कर फीडबैक लेंः- पुलिस अधीक्षक

श्रीगंगानगर। जिला कलक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि लोकसभा आम चुनाव 2019 के दौरान मतदान का कार्य शान्तिपूर्ण व भयमुक्त वातावरण में सम्पन्न हो, इसके लिये संवेदनशील व अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों का ध्यानपूर्वक चिन्हिकरण कर अंतिम रूप देवें।
    जिला निर्वाचन अधिकारी मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभाहॉल में जिले के सहायक रिटर्निंग अधिकारियों व पुलिस अधिकारियों की संयुक्त बैठक में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि क्रिटीकल, संवेदनशील व अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों पर चार प्रकार से नजर रखी जायेगी। ऐसे चिन्हित मतदान केन्द्रों पर केन्द्रीय पुलिस फोर्स, वैब केमरे, माइक्रों ओबजर्वर, विडियोग्राफी के माध्यम से नजर रखी जायेगी, जिससे मतदान का कार्य निर्बाध रूप से सम्पन्न हो सकें।
    जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि क्षेत्रा में दौरे के दौरान ऐसे पोकेट का भी चिन्हिकरण करें, जहां कोई नागरिक, परिवार या समूह भयभीत होने वाले है, ऐसे वर्ग से बातचीत करनी है तथा भयभीत करने वाले लोगों को चिन्हित कर उन्हें पाबन्द करने का कार्य भी किया जायेगा। जिला कलक्टर ने सहायक रिटर्निंग अधिकारियों को आरक्षित ईवीएम के लिये अस्थाई ईवीएम स्ट्रॉग रूम तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अस्थाई स्ट्रॉग रूम का भी प्रोटोकॉल के अनुसार ही निर्धारण किया जायेगा।
    श्री नकाते ने कहा कि प्रत्येक विधानसभा में 3-3 एसएसटी लगाई गई है। एआरओ के निर्देशानुसार एसएसटी अपना कार्य करेगी। नाके लगाकर वाहनों की जांच के स्थान निर्धारित कर लें तथा नाके लगाने की सूचना जिला नियंत्राण कक्ष व पुलिस नियंत्राण कक्ष को देनी होगी। दो-तीन दिन बाद एसएसटी का स्थान बदलते रहे। बिना अनुमति के चुनाव प्रचार में लगे वाहनों पर नजर रखी जाये। वाहनों पर अनाधिकृत प्रचार सामग्री वाले वाहनों के संबंध में एमवीएक्ट तथा लोकप्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत कार्यवाही सुनिश्चित की जा सकती है। उन्होंने कहा कि एफएसटी भी चुनाव के दौरान प्रभावी कार्यवाही करें। वाहनों के निरीक्षण के समय इस बात का ध्यान रखा जाये कि किसी नागरिक को अनावश्यक परेशान नही करना है। वाहन से नकदी व सोना चांदी मिलने पर इसकी रसीद दी जायेगी।
पुलिस अधीक्षक श्री हेमन्त कुमार शर्मा ने कहा कि एसडीएम व पुलिस अधिकारी संवेदनशील व अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों को अंतिम रूप देने से पूर्व संबंधित क्षेत्रा के ग्रामीणों से बातचीत करें, वहां की स्थिति व वातावरण को देखते हुए केन्द्रों का निर्धारण किया जाये। उन्होंने बताया कि जिले में लगभग 92 प्रतिशत अनुज्ञापत्रा धारकों के शस्त्रा जमा करने की कार्यवाही की जा चुकी है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि एसएसटी व एफएसटी प्रभावी रूप से कार्य करें, इसके लिये सूचना तंत्रा विकसित होना चाहिए तथा इन टीमों को लगातार सूचनाएं दी जाये। क्षेत्रा में अवैध शराब का विक्रय या दुकान हो तो निरीक्षण किया जाये।
पुलिस अधीक्षक ने शैडो एरिया का निरीक्षण करने के साथ-साथ आयुध विक्रेताओं के स्टॉक का निरीक्षण करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान आदर्श आचार संहिता की पालना होनी चाहिए। किसी भी वाहन पर जनप्रतिनिधि के पद इत्यादि नही लिखे होने चाहिए। चुनाव के लिये स्वीकृति वाले वाहन ही चुनाव प्रचार का कार्य करेंगे।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन श्री ओ.पी.जैन, एडीएम सर्तकता श्री राजवीर सिंह, सीईओ श्री सौरभ स्वामी, एसीईओ डॉ. हरितिमा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सुरेन्द्र सिंह, एसडीएम गंगानगर श्री मुकेश बारहठ, एसडीएम सादुलशहर श्री यशपाल आहूजा, एसडीएम रायसिंहनगर श्री संदीप कुमार, एसडीएम करणपुर श्रीमती रिना छिम्पा, एसडीएम अनूपगढ श्री मनमोहन मीणा सहित जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व थाना प्रभारियों ने भाग लिया। 

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे