Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India मेडिकल कॉलेज निर्माण को लेकर आवश्यक कार्यवाही जल्द होगी पूरीः- मेडिकल शिक्षा सचिव - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Monday, 30 September 2019

मेडिकल कॉलेज निर्माण को लेकर आवश्यक कार्यवाही जल्द होगी पूरीः- मेडिकल शिक्षा सचिव

मेडिकल कॉलेज निर्माण की इच्छा अब जल्द पूरी होगीः- विधायक गौड़
श्रीगंगानगर। मेडिकल शिक्षा सचिव एवं जिले के प्रभारी सचिव श्री वैभव गलरिया ने कहा कि श्रीगंगानगर में मेडिकल कॉलेज निर्माण को लेकर जो आवश्यक कार्यवाही है, वो जल्द पूरी कर ली जायेगी तथा भारत सरकार की वित्तीय स्वीकृति जारी होने के साथ ही निर्माण कार्य प्रारम्भ करवा दिया जायेगा। 
श्री गलरिया ने सोमवार को राजकीय जिला चिकित्सालय परिसर में प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज की भूमि का निरीक्षण करने के पश्चात यह बात कही। जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने जिला चिकित्सालय परिसर मे मेडिकल कॉलेज से संबंधित प्रस्तावित भूमि, चिकित्सालय परिसर व चिकित्सालय के वर्तमान भवन के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। प्रभारी सचिव ने कहा कि मेडिकल कॉलेज की जगह की समीक्षा की गई है, जमीन पर्याप्त है। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य को जल्द प्रारम्भ करना प्रस्तावित है। निर्माण के लिये निविदा, डिजाईनिंग इत्यादि आवश्यक प्रक्रियाएं जल्द पूरी कर ली जायेगी। महाविधालय के लिये पट्टे से संबंधित पत्रावली श्रीगंगानगर के जिला कलक्टर के निर्देशन में संचालित की जा रही है। 
मेडिकल शिक्षा सचिव ने कहा कि वर्तमान में मेडिकल कॉलेज के लिये भूमि पर्याप्त है, लेकिन भविष्य में सुपर स्पेस्लिटी तथा अन्य सुविधाओं के विस्तार को ध्यान में रखते हुए शहर में जहां भी जगह है, उसे मेडिकल कॉलेज के लिये आरक्षित करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत सरकार से वित्तीय स्वीकृति जारी होने के साथ ही प्राप्त राशि को कार्यकारी एंजेंसी आरएसआरडीसी को हस्तांतरित की जायेगी, जिससे निर्माण कार्य प्रारम्भ हो सकें। उन्होंने संभावना व्यक्त की कि आगामी 10-12 दिनों में वित्तीय स्वीकृति जारी हो सकती है। प्रारम्भ में 100 मेडिकल छात्रों के लिये आवश्यक संसाधन व भवन का निर्माण किया जायेगा। सीटों में बढोतरी के साथ-साथ संसाधनों में भी बढोतरी होगी। उन्होंने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों से मेडिकल कॉलेज का नक्शा इत्यादि देखा तथा चर्चा की। 

गंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड़ भी जिला चिकित्सालय में उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि श्रीगंगानगर की जनता की इच्छा के अनुरूप जल्द ही मेडिकल कॉलेज का निर्माण प्रारम्भ होगा। निर्माण कार्य में जो आवश्यक प्रक्रियाएं जरूरी है, उन्हें पूरा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री की इच्छा है कि गंगानगर में जल्द मेडिकल कॉलेज का कार्य प्रारम्भ हो। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज का निर्माण होने से यहां की जनता को, गरीबों को तथा दूर-दराज के नागरिकों को भारी लाभ मिलेगा। मेडिकल कॉलेज निर्माण को लेकर आर्थिक संसाधनों की कोई कमी नही रहेगी। 
जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने प्रभारी सचिव को जिला जिला चिकित्सालय परिसर में प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज स्थल का अवलोकन करवाया तथा आवश्यक भूमि, भवन, उपलब्ध संसाधनों के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने मेडिकल कॉलेज से संबंधित अन्य आवश्यक बिन्दुओं पर भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि सरकार के निर्देशानुसार सभी प्रकार की कार्यवाही पूर्ण कर ली जायेगी। 
मेडिकल शिक्षा सचिव श्री गलरिया व जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने चिकित्सालय परिसर तथा विभिन्न वार्डों का सघन निरीक्षण किया। चिकित्सालय की सफाई व्यवस्था, शौचालयों की साफ-सफाई, शौचालयों का वर्किंग में होना तथा नलों में जल प्रवाह व पेयजल व्यवस्था का निरीक्षण किया एवं आवश्यक निर्देश दिये। प्रभारी सचिव व जिला कलक्टर ने ओपीडी का निरीक्षण किया तथा चिकित्सकों को निर्देश दिये कि आमजन में यह भावना जागृत की जाये कि बिना किसी बिमारी के भी समय-समय पर अपने स्वास्थ्य की जांच करवानी चाहिए। सामान्य तौर पर शुगर व बीपी की जांच आवश्यक करवानी चाहिए। उन्होंने हड्डी वार्ड, प्रसूति कक्ष, जच्चा-बच्चा वार्ड, ओबर्जवेशन वार्ड, नवजात शिशु ईकाई, डायलेसिस विभाग सहित विभिन्न वार्डों का अवलोकन किया तथा रोगियों से बातचीत की। जिला चिकित्सालय में रोगियों को मिलने वाली दवाएं, उपचार व जांच इत्यादि के बारे में बातचीत की। 
उन्हांने बच्चा वार्ड में शुगर रोग से पीड़ित बच्चे के परिजनों से बातचीत की तथा उन्हें सलाह दी, कि नियमित रूप से चिकित्सकों की सेवाएं ले तथा सरकार द्वारा उपलब्ध करवाई जा रही दवाएं एवं जांच का लाभ लें। इसी प्रकार 20 आरबी निवासी प्रभू से बातचीत की। प्रभारी सचिव ने जिला चिकित्सालय परिसर में संचालित अन्नपूर्णा रसोई का अवलोकन किया तथा उपस्थित रोगियों के सहयोगी व जरूरतमंदों को खाना परोसा। इस अवसर पर मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री सौरभ स्वामी, भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु श्री मोहम्मद जुनेद, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गिरधारीलाल, पीएमओ डॉ. एस.के.कामरा, सहित वरिष्ठ चिकित्सक व अधिकारी उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे