Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India पुलिस लाईन में अन्त्तर्राष्ट्रीय नशा विरोधी दिवस पर नशा मुक्ति जन जागृति कार्यशाला का आयोजन - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Friday, 26 June 2020

पुलिस लाईन में अन्त्तर्राष्ट्रीय नशा विरोधी दिवस पर नशा मुक्ति जन जागृति कार्यशाला का आयोजन


श्रीगंगानगर,। जिला पुलिस अधीक्षक श्री हेमन्त शर्मा के निर्देशानुसार पुलिस प्रशासन द्वारा स्वास्थय एवं शिक्षा विभाग के सहयोग से जिला स्तर पर चलाये जा रहे नशा मुक्ति अभियान के अन्ततर्गत शुक्रवार को इंटरनेशनल डे अगेंस्ट ड्रग एब्यूज एण्ड इलीसिट ट्रेफिकिंग के अवसर पर पुलिस लाईन श्रीगंगानगर में कोविड-19 प्रोटोकाॅल की पालना करते हुए नशा मुक्ति जन-जागृति कार्यशाला का आयोजन किया गया। 
इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सहीराम बिश्नोई ने मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित पुलिसकर्मियों से कहा कि यदि किसी परिवार में एक व्यक्ति नशा करता हो तो उसका दुष्प्रभाव गाली-गलौच, मारपीट, लड़ाई झगड़ा, पारिवारिक विघटन आदि के रूप में पुरे परिवार तथा आस-पडौस सहित अनेकों व्यक्तियों पर पड़ता है। समाज में फैले नशे को मिटाने का कर्तव्य प्रत्येक नागरिक का है, सामुहिक प्रयासों से ही नशे की समस्या पर काबू पाया जा सकता है। ड्रग तस्करी में लिप्त लोगों पर पुलिस लगातार प्रभावी कार्यवाही कर रही है। शिक्षा एवं स्वास्थ्य विभाग से मिलकर पुलिस निरंतर रूप से नशा मुक्ति अभियान चलाकर नशे पर आरंभिक अवस्था में ही काबू पाने का प्रयास कर रही है। जिसके सकारात्मक परिणाम स्पष्ट रूप से दृष्टिगोचर हो रहे है। 
कार्यक्रम में नशा मुक्ति विशेषज्ञ डाॅ रविकान्त गोयल ने मुख्य वक्ता के रूप मंे कहा कि आज नशा आरंभ करने की आयू घटकर 10 वर्ष तक के चिन्ताजनक स्तर पर पंहुच चुकी है। पूरे विश्व में नशा करने वालों की तादात तेजी से बढ़ती जा रही है। नशा व्यक्ति के स्वास्थ्य पर हमला कर उसे कमजोर बना देता है, इम्यूनिटि को क्षीण कर देता है। जिससे व्यक्ति अनेकों बिमारियों से ग्रसित हो जाता है व कोरोना के संक्रमण का शिकार होने की संभावना भी बढ़ जाती है। डाॅ गोयल ने बताया कि कोरोना काल मंे लाॅक-डाउन के दौरान लोगों के मन में नशा छोड़ने का प्रण लेकर नशा मुक्ति केन्द्र पर आये जिसमें हेराईन, चिट्टा, अफीम, पोस्त, शराब, इत्यादि के काफी संख्या में लोगों ने नशा छोड़ा जो कि लाॅकडाउन की उपलब्धि है। जन जागृति कार्यशालाओं के माध्यम से हजारों लोग नशोें से बचे है तथा विधार्थी नशा रहित जीवन जीने के लिए प्रेरित हुए है। डाॅ गोयल ने उपस्थित सदन को जीवनभर नशा नहीं करने की शपथ दिलायी। 
इस अवसर पर पैरालीगल वालंेटियर श्री इन्द्रमोहन सिंह जूनेजा ने कहा कि मानव जीवन अनमोल है, जिसे नशे की भेंट नहीं चढाना चाहिए। नशा व्यक्ति के वर्तमान को कष्टमय व भविष्य को अंधकारमय बना देता है। इस अवसर पर संचित निरीक्षक श्रीमती चन्द्रकला उनि ने नशें से दूर रहते हुए सुंदर, सुखद व गरिमामय जीवन जीने तथा समाज को नशा मुक्त करने हेतु अपना सहयोग देने के लिए उपस्थित लोगों को प्रेरित किया। कार्यक्रम से प्रेरित होकर श्री भुण्डाराम हैडकानि ने आजीवन नशा नहीं करने की शपथ ली जिसका करतल ध्वनि से स्वागत किया गया। कार्यक्रम में क्यूआरटी हवलदार श्री जितेन्द्र कुमार ने भी नशा मुक्ति पर अपने विचार रखे। इस अवसर पर एमटीओ श्री गंगजीतसिंह, हवलदार मेजर श्री जयकरण वर्मा, एलपी प्रभारी श्री सुरजीतसिंह व सामाजिक कार्यकर्ता श्री विजय किरोड़ीवाल ने कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना सहयोग प्रदान किया। 

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे