Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India कृषि विज्ञान केन्द्र पदमपुर पर महिला कृषक प्रशिक्षण का आयोजन - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Thursday, 15 October 2020

कृषि विज्ञान केन्द्र पदमपुर पर महिला कृषक प्रशिक्षण का आयोजन

 श्रीगंगानगर,। आत्मा योजना अन्तर्गत पंचायत समिति पदमपुर में महिला किसान दिवस के उपलक्ष में कृषि विज्ञान केन्द्र पदमपुर पर महिला कृषक प्रशिक्षण का आयोजन गुरूवार को किया गया, जिसमें 50 महिला कृषकों द्वारा भाग लिया गया। उक्त कृषक प्रशिक्षण को श्रीमती सीमा चावला प्रोफेसर गृह विज्ञान द्वारा महिलाओं की कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन इत्यादि में भागीदारी पर चर्चा की तथा श्री हरबंस सिंह उप परियोजना निदेशक आत्मा द्वारा कृषि विभाग में कृषि संकाय में अध्ययनरत छात्राओं को देय प्रोत्साहन राशि के बारे में बताया तथा डाॅ. बी.एस. शेखावत कृषि विज्ञान केन्द्र प्रभारी द्वारा महिलाओं के कृषक रूचि समूह गठन एवं संचालन बाबत् चर्चा की तथा श्री दीपक शर्मा द्वारा कृषि विभाग की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी।

15 अक्टूबर 2020 को आत्मा योजना अन्तर्गत पंचायत समिति अनूपगढ़ की ग्राम पंचायत 21 एसजेएम खोखरांवाली के गावों का संयुक्त भ्रमण किया, जिसका आयोजन ग्राम पंचायत 21 एसजेएम, राजीव गांधी सेवा केन्द्र पर किया गया, जिसमें लगभग 30 किसानों ने भाग लिया। 
सर्वप्रथम डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद नैण द्वारा फसल अवशेषों को मिट्टी में मिलाने के लाभ जैसे जैविक कार्बन की मात्रा का बढ़ना, उर्वरक उर्वरा शक्ति बढ़ने, पौषक तत्वों की मात्रा, भूमि की नमी, भूमि की जलधारण क्षमता का बढ़ना तथा फसल अवशेषों को जलाने के दुष्प्रभावों के बारे में बताया साथ ही मिट्टी परीक्षण की प्रक्रिया एवं महत्व के बारे में विस्तार पूर्वक बताया।
श्री विकास कुमार, उप परियोजना निदेशक (आत्मा) श्रीगंगानगर द्वारा उपस्थित कृषकों को रबी फसलों की समसामयिक जानकारी जैसे खेत की तैयारी, बुवाई, रबी फसलों की उन्नत किस्में, बीज की मात्रा एवं बिजाई से पूर्व बीजोपचार, सिंचाई व्यवस्था, उर्वरक प्रबन्धन व कीट रोग उपयोग के बारे में विस्तार पूर्वक बताया।
डाॅ. श्योनारायण, पशु चिकित्सक बाण्डा द्वारा पशुओं में दुग्ध उत्पादन, नस्ल सुधार, रोग नियंत्रण के बारे में विस्तार से बताया गया एवं पशुपालकों के द्वारा मौके पर पूछे गये प्रश्नों में पशुओं की बिमारियों के संबंध में उपचार व बचाव के उपायों की जानकारी देते हुए खुरपका, मुंहपका बीमारी के नियंत्रण उपाय बताये। इसके साथ-साथ नवजात बछड़ों के रख-रखाव की विशेषरूप से जानकारी दी तथा डेयरी करने वाले पशुपालकों को किसान कार्ड का महत्व बताया।
श्री सतपाल सहारण, सहायक कृषि अधिकारी (उद्यान) ने उद्यान विभाग द्वारा देय योजनाओं जैसे नये बगीचों की स्थापना, पुराने का बगीचों का जीर्णोद्वार, ग्रीन हाऊस, शेडनेट हाऊस, मधुमक्खीपालन, पैक हाउस, सौर ऊर्जा सयंत्र, मशरूम उत्पादन एवं सामुदायिक जल स्त्रोत आदि के बारे में बताया तथा भूमि की उर्वरा शक्ति बनाये रखने एवं जैविक खेती के बारे में किसानों को जानकारी देते हुये वेस्ट डिकम्पोजर का उपयोग करते हुये कम से समय में कम्पोस्ट खाद तैयार करने एवं जैविक कीट नियंत्राण अपनाने की सलाह दी एवं नये बगीचों की स्थापना तथा पुराने बगीचों में फल वृद्धि अवस्था के समय रखी जाने वाली सावधानियां जैसे पानी की उपलब्धता, पानी देने का समय, उर्वरक प्रबन्धन, कीटनाशक छिड़काव आदि के बारे में भी जानकारी दी। 
श्रीमती रमना, सहायक कृषि अधिकारी बाण्डा कालोनी ने कृषि विभाग द्वारा देय योजनाओं के बारे में विस्तार पूर्वक बताया। इस भ्रमण में श्री विनोद कुमार कृषि पर्यवेक्षक 21 एसजेएम, श्री शिशुपाल तंवर कृषि पर्यवेक्षक उद्यान भी उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे