Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India 30 अप्रैल से पहले चिरंजीवी योजना में रजिट्रेशन नहीं करवाया तो मई, जून और जुलाई में बीमार होने पर योजना के लाभ से रह जाएंगे वंचित -कलक्टर - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Tuesday, 27 April 2021

30 अप्रैल से पहले चिरंजीवी योजना में रजिट्रेशन नहीं करवाया तो मई, जून और जुलाई में बीमार होने पर योजना के लाभ से रह जाएंगे वंचित -कलक्टर


 30 अप्रैल से पहले चिरंजीवी योजना में रजिट्रेशन नहीं करवाया तो मई, जून और जुलाई में बीमार होने पर योजना के लाभ से रह जाएंगे वंचित -कलक्टर

 
कोविड मैनेजमेंट, वैक्सीनेशन, चिरंजीवी योजना और गेहूं खरीद को लेकर ली वीडियो कॉन्फ्रेंस में बोले जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल

जिला कलक्टर ने हनुमानगढ़ जिले को कोरोना वैक्सीन की अतिरिक्त डोज दिए जाने को लेकर लिखा उच्चाधिकारियों को पत्र

''डोर-टू-डोर सर्वे जल्द करें ताकि गंभीर स्थिति में रोगी के अस्पताल में पहुंचने से पहले ही ईलाज शुरू किया जा सके''

''चिरंजीवी योजना में ब्लॉकवाइज कम रजिस्ट्रेशन करने वाले ई-मित्र केन्द्रों को 10-15 दिन तक किया जाएगा ब्लैक लिस्ट''

 
हनुमानगढ़,। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने कोरोना मैनेजमेंट, वैक्सीनेशन, चिरंजीवी योजना और गेहूं खरीद की समीक्षा करने के लिए जिले के सभी ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक ली। बैठक में जिला कलक्टर ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि जिले भर में सभी लोगों का 30 अप्रैल से पहले इस योजना में रजिस्ट्रेशन करवाएं। अन्यथा रजिस्ट्रेशन नहीं करवाने वाले मई, जून और जुलाई में बीमार हुए तो उन्हें योजना का लाभ नहीं मिल सकेगा। जिला कलक्टर ने कहा कि सरकार की ये अति महत्वपूर्ण योजना है जिसमें रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद 5 लाख रूपए तक का कैशलेश इलाज बड़े प्राइवेट अस्पतालों में भी करवाया जा सकेगा। इसमें कोरोना का इलाज भी शामिल कर लिया गया है। लिहाजा जिले के सभी ब्लॉक में सभी संबंधित अधिकारी पार्षदों, सरपंचों, पंचों, राशन डिलर्स इत्यादि के साथ बैठक कर लोगों को इस योजना में 30 अप्रैल से पहले रजिट्रेशन करवाने के लिए प्रोत्साहित करें। साथ ही जिला कलक्टर ने कहा कि इस योजना के अंतर्गत वैसे तो सरकार ने एनएफएसए, लघु व सीमांत किसान,  संविदाकर्मियों इत्यादि का निशुल्क रजिस्ट्रेशन करने का प्रावधान किया है। वहीं आमजन भी मात्र 850 रूपए में 5 लाख रूपए का कैशलेश स्वास्थ्य बीमा का लाभ ले सकेंगे। उन्होने कहा कि हो सकता है कि ब्लॉक में कई लोग ऐसे भी हों जो 850 रूपए भी ना दे सकें तो ऐसे में ब्लॉक स्तरीय अधिकारी स्थानीय भामाशाहों के सहयोग से ऐसे लोगों का रजिस्ट्रेशन करवाने का प्रयास करें। साथ ही कहा कि ब्लॉक में ऐसे ईमित्रों को नोटिस दें जहां बहुत कम रजिस्ट्रेशन हुआ है। साथ ही उन्हें 10-15 दिन के लिए ब्लैक लिस्ट भी कर दें।  जिला कलक्टर ने कहा कि इस योजना के अंतर्गत कुछ दिन पहले जिला काफी नीचे था। लेकिन जिले के सभी अधिकारियों ने काफी अच्छा कार्य करते हुए पिछले तीन चार दिनों में बहुत अच्छी प्रगति इस योजना में ला दी है। लेकिन हमारा लक्ष्य जिले के शत प्रतिशत लोगों का इस योजना में रजिस्ट्रेशन करवाना है ताकि लोगों को इस योजना का लाभ मिल सके। 
                                   जिला कलक्टर ने कहा कि जिले में पूरी प्रशासनिक टीम अच्छा कार्य कर रही है। आगे भी टीम स्प्रीट और आपसी समन्वय से कार्य करने की जरूरत है।ताकि कोरोना जैसी महामारी से ज्यादा से ज्यादा लोगों को बचाया जा सके। जिला कलक्टर ने बैठक में कोरोना वैक्सीनेशन की समीक्षा करते हुए जिले में लोगों का वैक्सीनेशन के प्रति बढ़ते रूझान को देखते हुए उच्चाधिकारियों को जिले के लिए अतिरिक्त डोज भेजे जाने हेतु पत्र लिखने के निर्देश दिए। बैठक के तुरंत बाद जिला कलक्टर ने जिले के लिए अतिरिक्त डोज हेतु पत्र जयपुर भिजवा भी दिया। कोरोना वैक्सीनेशन की समीक्षा करते हुए उन्होने सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि वे अपने इलाके में उन ग्राम पंचायतों में 45 से ज्यादा उम्र के लोगों को पहले वैक्सीनेशन करवाएं जहां कोरोना पॉजिटिव केस ज्यादा आ रहे हैं। जिला कलक्टर ने सभी एसडीएम से कोरोना मैनेजमेंट,कोरोना पॉजिटिव केस, एक्टिव केसेज, डोर-टू-डोर सर्वे, जन अनुशासन पखवाड़ा में कोरोना गाइडलाइन की पालना, गाइडलाइन की पालना नहीं करने पर चालान, सीज की कार्रवाई, वैक्सीनेशन, चिरंजीवी योजना इत्यादि की समीक्षा करते हुए कहा कि कोरोना प्रबंधन में किसी प्रकार की कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ये जीवन और आजीविका बचाने का मिशन है। कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं करने वालों के अधिकतम चालान, कठोरतम कार्रवाई करने का समय है।ताकि सरकार को पूर्ण लॉक डाउन ना लगाना पड़े।   
                                जिला कलक्टर ने डोर-टू-डोर सर्वे को लेकर निर्देशित किया कि इस सर्वे के जरिए हम बहुत लोगों की जान बचा सकते हैं। जहां खांसी, जुकाम इत्यादि के मरीज हैं उन्हें ट्रेस आउट कर इलाज शुरू करवाएं ताकि गंभीर स्थिति में अस्पताल में पहुंचने से पहले ही उन्हें चिन्हित कर ईलाज शुरू किया जा सके। उन्होने कहा कि जहां भी कोरोना पॉजिटिव केस आ रहे हैं संबंधित कोरोना पॉजिटिव लोगों के होम आइसोलेशन में रहना सुनिश्चित करें। साथ ही उनका ईलाज भी जल्द शुरू कराएं। संबंधित पीएससी, सीएसची पर इलाज करवाएं। गंभीर रोगियों को ही जिला अस्पताल रैफर किया जाए। जिन लोगों में कोरोना के लक्ष्ण कम हैं उन्हें कोविड केयर सेंटर या होम आइसोलेशन में ही इलाज करवाएं। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और आशा को लेकर कहा कि ये तीनों वर्कर डोर-टू-डोर सर्वे के साथ साथ चिरंजीवी योजना में भी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं। साथ ही कहा कि बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों को होम आइसोलेशन में रखें। अगर वे होम आइसोलेशन के नियमों का पालन नहीं करें उनको पूर्व की भांति स्कूल या धर्मशाला में बनाए गए सेंटर में रखना शुरू करें।  जिला कलक्टर ने कहा कि शादियों को लेकर जो गाइडलाइन गृह विभाग ने जारी की है। उसकी कठोरता से पालना सुनिश्चित करें। अगर कोई संबंधित पटवारी, ग्राम विकास अधिकारी इत्यादि शादी में 50 से ज्यादा लोग के होने की जानकारी ना दें तो संबंधित के खिलाफ नोटिस जारी करें।
                               जिला कलक्टर ने गेहूं खरीद की समीक्षा करते हुए सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि वे उपज मंडी का विजिट करें। समय पर लिफ्टिंग और समय पर किसानों को भुगतान सुनिश्चित करें। किसानों को उपज मंडी में किसी तरह की दिक्कत का सामना ना करना पड़े।  बैठक में जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के अलावा सीईओ जिला परिषद श्री रामनिवास जाट, एसडीएम हनुमानगढ़ श्री कपिल यादव, डीएसओ श्री राकेश न्यौल, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, नगर परिषद कमीश्नर श्रीमती पूजा शर्मा, सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा, आरसीएचओ डॉ विक्रम सिंह, सीडीईओ श्री तेजा सिंह, डीईओ श्री हंसराज, कृषि उपज मंडी समिति के उपनिदेशक श्री सुभाष सहारण, महिला एवं बाल विकास के उपनिदेशक श्री प्रवेश सोलंकी, आरसीएचओ डॉ विक्रम सिंह, कृषि उपज मंडी समिति के सचिव श्री सीएल वर्मा समेत अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे