Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India पीएम केयर्स के माध्यम से श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ समेत देशभर के 551 जिला अस्पतालों में लगेंगे पीएसए आक्सीजन उत्पादन संयंत्र: सांसद श्री निहाल चन्द - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Monday, 26 April 2021

पीएम केयर्स के माध्यम से श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ समेत देशभर के 551 जिला अस्पतालों में लगेंगे पीएसए आक्सीजन उत्पादन संयंत्र: सांसद श्री निहाल चन्द

 पीएम केयर्स के माध्यम से श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ समेत देशभर के 551 जिला अस्पतालों में लगेंगे पीएसए आॅक्सीजन उत्पादन संयंत्र: सांसद श्री निहाल चन्द

श्रीगंगानगर,। देश के अस्पतालों में आॅक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने हेतु प्रधानमंत्री के निर्देश के तहत, पीएम केयर्स फंड ने देश में सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों पर 551 समर्पित पीएस, (प्रेशर स्विंग ऐड्साॅप्र्शन) चिकित्सा आॅक्सीजन उत्पादन संयंत्रों की स्थापना के लिए धन आवंटन को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। प्रधानमंत्री ने निर्देश दिया है कि इन संयंत्रों को जल्द से जल्द शुरू किया जाए। उन्होंने कहा कि इन संयंत्रों से जिला स्तर पर आॅक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने में काफी मदद मिलेगी। इस प्रकार श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिले में भी इन संयत्रो की स्थापना सुनिश्चित हो गई है।
 केन्द्रीय पूर्व राज्यमंत्री एवं सांसद श्री निहालचंद ने बताया कि ये समर्पित संयंत्र विभिन्न राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में जिला मुख्यालयों पर चिन्हित सरकारी अस्पतालों में स्थापित किए जाएंगे। खरीद प्रक्रिया स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के माध्यम से की जाएगी। उन्होने कहा कि पीएम केयर्स फंड ने इस साल की शुरुआत में देश में सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों पर अतिरिक्त 162 डेडिकेटेड प्रेशर स्विंग ऐड्साॅप्र्शन (पीएसए) मेडिकल आॅक्सीजन उत्पादन संयंत्र लगाने के लिए 201.58 करोड़ रुपये आवंटित किए थे।
 उन्होने बताया कि जिला मुख्यालयों के सरकारी अस्पतालों में पीएसए आॅक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित करने का मुख्य उद्देश्य सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली को और मजबूत करना है और यह सुनिश्चित करना है कि इनमें से प्रत्येक अस्पतालों में कैप्टिव आॅक्सीजन उत्पादन की सुविधा बनी रहे। इस तरह से अपने स्तर पर आॅक्सीजन उत्पादन सुविधा से इन अस्पतालों और जिले की दिन प्रतिदिन की मेडिकल आॅक्सीजन की जरूरतें पूरी हो सकेंगी, इसके अलावा, तरल चिकित्सा आॅक्सीजन (एलएमओ) कैप्टिव आॅक्सीजन उत्पादन के ’’टाॅप अप‘‘ के रूप में काम करेगा। इस तरह की प्रणाली यह सुनिश्चित कर सकेगी कि जिले के सरकारी अस्पतालों को आॅक्सीजन की आपूर्ति में अचानक व्यवधान न उत्पन्न हो सके और कोरोना मरीजों व अन्य जरूरतमंद मरीजों के लिए निर्बाध रूप से पर्याप्त आॅक्सीजन मिल सके। वर्तमान में इस कोरोना महामारी के बढ़ते संकट के बीच आए केंद्र सरकार के इस ऐतिहासिक निर्णय पर सांसद श्री निहालचन्द ने खुशी जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी व केंद्र सरकार का आभार प्रकट किया है।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे