Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India गंगानगर जिले में 14 फरवरी से शुरू होगा नशा मुक्ति अभियान ‘मंशा‘ - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Tuesday, 8 February 2022

गंगानगर जिले में 14 फरवरी से शुरू होगा नशा मुक्ति अभियान ‘मंशा‘

 गंगानगर जिले में 14 फरवरी से शुरू होगा नशा मुक्ति अभियान ‘मंशा‘


 अभियान की तैयारियों के लिए जिला कलक्टर ने अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश
श्रीगंगानगर, । गंगानगर जिले में नशा मुक्ति अभियान (मिशन अगेंस्ट नारकोटिक्स सब्सटेंस एब्यूज) ‘मंशा‘ की शुरुआत 14 फरवरी 2022 से होगी। अभियान की तैयारियों के संबंध में चर्चा करने के लिए सोमवार शाम को जिला कलक्टर श्रीमती रुक्मणि रियार सिहाग की अध्यक्षता में बैठक कलक्ट्रेट सभागार में हुई।
जिला कलक्टर ने बताया कि संभागीय आयुक्त बीकानेर श्री नीरज के. पवन के निर्देशानुसार गंगानगर जिले में नशा मुक्ति हेतु ‘मंशा‘ अभियान प्रारंभ किया जाना है। श्रीगंगानगर में 14 फरवरी से लेकर 23 मार्च 2022 तक उक्त अभियान संचालित किया जाएगा। नशा मुक्ति अभियान की सफलता के लिए जिला कलक्टर की अध्यक्षता में टास्क फोर्स गठित की गई है। टास्क फोर्स में जिला प्रशासन, पुलिस, शिक्षा, चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, स्काउट एवं गाइड, जिला खेल अधिकारी, औषधि नियंत्रक अधिकारी और एनजीओ सहित अन्य गणमान्य जनों को शामिल किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि उपखंड स्तर पर भी एसडीएम की अध्यक्षता में टास्क फोर्स गठित की जाएगी। जिला और उपखण्ड स्तर पर गठित टास्क फोर्स द्वारा नशे के अवैध कारोबार और नशा मुक्ति के लिए समुचित कार्रवाई की जाएगी। प्रति सप्ताह बैठक का आयोजन करते हुए तब तक की प्रगति सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।
जिला कलक्टर ने बताया कि विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों एवं विद्यालय स्तर पर प्रधानाध्यापक टास्क फोर्स के साथ नोडल अधिकारी के रूप में काम करेंगे। जिला स्तर पर अभियान के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए जाएंगे। इसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति स्वयं अथवा अपने परिजन की नशा मुक्ति हेतु संपर्क कर सकेगा। इसके साथ ही इस हेल्पलाइन पर मादक पदार्थों के अवैध कारोबार से सम्बंधित सूचनाएं भी दी जा सकेंगी।

उन्होंने बताया कि 10 फरवरी को जिला मुख्यालय पर जागरूकता अभियान ‘ना करेंगे, ना करने देंगे‘ की शुरुआत की जाएगी। विद्यालय और महाविद्यालयों में अध्ययनरत युवाओं में नशाखोरी के प्रति जागरूकता के लिए पोस्टर एवं पंपलेट तैयार किए जाएंगे। अभियान की सफलता के लिए ब्रांड एंबेसडर नियुक्त करने के साथ-साथ ग्राम पंचायत सदस्यों का भी सहयोग लिया जाएगा। स्कूलों और ग्राम सभाओं में नशा मुक्ति और नशा नहीं करने देने के संकल्प पत्रा भी भरवाए जाएंगे। सभी गांवों और ढाणियों तक अभियान की जानकारी पहुंचाने के लिए संबंधित उपखंड स्तर के अधिकारी कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे।
जिला पुलिस अधीक्षक श्री आनंद शर्मा ने बताया कि पुलिस के सहयोग से नशीले और मादक पदार्थों का कारोबार करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। बच्चों और युवाओं में जन जागरूकता के लिए आईईसी गतिविधियां संचालित करते हुए अभियान के सर्वश्रेष्ठ प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया जाएगा। गांवों में नशा मुक्ति अभियान की सफलता के लिए ग्राम रक्षक और सुरक्षा सखी का सहयोग दिया जाएगा।
इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर (सतर्कता) श्रीमती कमला अलारिया, सीएमएचओ डॉ. गिरधारी लाल मेहरडा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के निदेशक श्री प्रेमाराम, औषधि नियंत्राक अधिकारी श्री दलजीत सिंह उप्पल, नशा मुक्ति विशेषज्ञ डॉ. रविकांत गोयल, जिला चिकित्सालय के डॉ. प्रेम अग्रवाल, सीडीईओ श्री हंसराज यादव, टांटिया चौरिटेबल ट्रस्ट से डॉ. विकास सचदेवा और तपोवन नशा मुक्ति पुनर्वास केंद्र से श्री संदीप कटारिया सहित अन्य मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे