Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India नशा मुक्ति हेतु मंशा के द्वितीय चरण के लिये 101 दिवसीय कार्ययोजना - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Friday, 25 March 2022

नशा मुक्ति हेतु मंशा के द्वितीय चरण के लिये 101 दिवसीय कार्ययोजना

 नशा मुक्ति हेतु मंशा के द्वितीय चरण के लिये 101 दिवसीय कार्ययोजना

नशे संबंधी जागरूकता अभियान को आमजन के घर-घर तक पहुंचाना हैः जिला कलक्टर
श्रीगंगानगर,। संभागीय आयुक्त बीकानेर द्वारा पूरे संभाग में चलाये जा रहे नशा मुक्ति अभियान (23 मार्च से 4 जुलाई 2022) के द्वितीय चरण की सफलता के लिये 101 दिवसीय कार्य योजना तैयार की गई है।
जिला कलक्टर श्रीमती रूक्मणि रियार सिहाग ने बताया कि श्रीगंगानगर जिले में 23 मार्च से 4 जुलाई 2022 तक नशा मुक्ति हेतु मंशा के द्वितीय चरण की शुरूआत की गई है, जिसमें नशे संबंधी जागरूकता अभियान को जिले के प्रत्येक आमजन व घर-घर तक पहुंचाया जाना है। इस कार्यक्रम की सफलता के लिये 101 दिवसीय कार्य योजना तैयार कर विभिन्न विभागों के अधिकारियों को विभिन्न प्रकार की जिम्मेदारियां सौंपी गई है।
उन्होंने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा प्रत्येक थाना क्षेत्रा के अंतर्गत शराब के ठेके निर्धारित समय तक खुले, अवैध शराब ब्रिक्री पर कार्यवाही व जिले में नशे से प्रभावित गांवों, कस्बों में अवैध नशे के कारोबार में लिप्त व्यक्तियों के विरूद्ध अभियान चलाकर कार्यवाही की जायेगी। सीईओ जिला परिषद द्वारा इस अभियान के तहत सभी गांवों व ढ़ाणियों तक नशे के खिलाफ प्रचार प्रसार व जन जागृति कार्यक्रम, जिला आबकारी अधिकारी द्वारा शराब ठेके नियमानुसार खुलने व अवैध हथकड़ शराब में लिप्त के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही करना, आयुक्त नगरपरिषद द्वारा कचरा संग्रहण वाहनों में फलैक्स, बैनर लगाकर नशे के विरूद्ध जनजागृति पैदा की जायेगी।
जिला कलक्टर ने बताया कि सीएमएचओ, सहायक निदेशक औषधि व पीएमओ द्वारा मेडिकल की दुकानों पर जांच करना, नशीली दवाइयों की ब्रिक्री पाये जाने पर कानूनी कार्यवाही एवं कोटपा अधिनियम के तहत कार्यवाही की जायेगी। जिला खेल अधिकारी द्वारा जिले की विभिन्न खेल परिसरों की दीवारों पर स्लोगन लिखवाना एवं खिलाड़ियों के माध्यम से नशे के विरूद्ध अभियान चलाना, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा स्कूलों में गठित बाल समूहों की नियमित बैठक करवाकर नशा मुक्ति के संबंध में क्षमतावर्धन करना, विद्यालय परिसर के आसपास कोटपा एक्ट की पालना सुनिश्चित करनी होगी।
उन्होंने बताया कि प्रभारी अधिकारी एनसीसी, प्रभारी अधिकारी स्काउट एवं गाइड एवं एनवाईके नशे के खिलाफ प्रचार-प्रसार व गतिविधियां आयोजित करेंगे। उपनिदेशक महिला बाल विकास, सहायक निदेशक सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग सार्वजनिक स्थलों पर नशे के विरूद्ध प्रचार व नशा रोकने की गतिविधियां आयोजित करेंगे। उपश्रम आयुक्त श्रम संगठनों के माध्यम से ईंट भट्टों पर कार्य करने वाले श्रमिक नशा न करें, इसके लिये कार्य करेंगे।
जिला रसद अधिकारी राशन डिपो के माध्यम से प्रचार-प्रसार व जनजागरूकता, महाप्रबंधक उधोग केन्द्र ओद्यौगिक इकाईयों में नशा मुक्ति हेतु स्लोगन, उपनिदेशक कृषि किसानों के बीच नशे के खिलाफ प्रचार एवं किसान केन्द्रों पर स्लोगन, लेखन, अधीक्षण अभियंता पेयजल व विद्युत अपनी-अपनी परियोजनाओं पर नशे के विरूद्ध स्लोगन लेखन का कार्य कर जनजागृति पैदा करेंगे

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे