Report Exclusive, Lok Sabha Elections 2019: Latest News, Photos, and Videos on India General Elections, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India सूई का दर्द महसूस नही हुआ तो मुस्काए नौनिहाल, प्रमाण-पत्र भी मिले - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Monday, 22 July 2019

सूई का दर्द महसूस नही हुआ तो मुस्काए नौनिहाल, प्रमाण-पत्र भी मिले


शुरू हुआ खसरा-रूबेला टीकाकरण अभियान,  गूंजा नारा ‘‘हमने चेचक मारी है, अब खसरा-रूबेला की बारी है’’
श्रीगंगानगर, । गंभीर बीमारी खसरा-रूबेला को देश से मिटाने के लिए सोमवार को श्रीगंगानगर सहित पूरे राजस्थान में टीकाकरण अभियान शुरू हुआ। अभियान के दौरान नौ माह से 15 वर्ष आयु तक के बच्चों को खसरा-रूबेला का टीका स्कूलों, आंगनबाड़ी केंद्रों व मदरसों में लगाया गया और उन्हें प्रमाण-पत्र भी दिए गए। यह अभियान आगामी करीब एक माह तक जारी रहेगा। पहले दिन जिला मुख्यायल पर मटका चौक स्थित राजकीय बालिका विद्यालय में सीएमएचओ डॉ. गिरधारी मेहरड़ा, आरसीएचओ डॉ. अजय सिंगला व डिप्टी कंट्रोलर डॉ. प्रेम बजाज ने अभियान की शुरूआत की। 
इस दौरान बच्चों से रूबरू होते हुए अधिकारियों ने कहा कि यह टीकाकरण सबके लिए जरूरी है, क्योंकि हमें देश से इस बीमारी को समूल नष्ट करना है। इससे पहले हमने सफल टीकाकरण अभियानों के जरिए ही पोलियो व चेचक जैसी गंभीर बीमारियों को खत्म कर चुके हैं। जरूरी है कि बच्चों का स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्रों सहित अन्य निर्धारित स्थलों पर टीकाकरण हो जाए क्योंकि कोई भी टीम घर-घर नही पहुंचेगी। यह टीका उन बच्चों के लिए भी लगेगा जिनके पहले नियमित खसरा या बूस्टर टीका लग चुका है। सोमवार को टीका दाएं हाथ पर बारीक सूई से लगाया गया, जिस कारण दर्द महसूस नही हुआ और बच्चे मुस्कुराते हुए नजर आए। अभियान को लेकर बच्चों में उत्साह देखते ही बन रहा है। अभियान के सफल संचालन को लेकर सीएमएचओ डॉ. गिरधारी मेहरड़ा, आरसीएचओ डॉ. अजय सिंगला व एसीएमएचओ डॉ. मुकेश मेहता सहित अन्य अधिकारियों ने फील्ड में जाकर निरीक्षण किया और व्यवस्थाएं देखी। अभियान प्रभारी डॉ. अजय सिंगला ने बताया कि यह टीका अवश्य लगवाएं क्योंकि खसरा एक जानलेवा एवं तीव्र गति से फैलने वाला खतरनाक संक्रामक रोग है। यह रोग प्रभावित रोगी के खांसने व छींकने से फैलता है। इसके प्रभाव से बच्चों में निमोनिया, दस्त एवं मस्तिष्क में संक्रमण जैसी घातक बीमारियों का खतरा बना रहता है। यह रोग नवजात शिशुओं एवं बच्चों की मृत्यु का एक प्रमुख कारण भी है। उन्होंने बताया कि जिले में खसरा के मरीज सामने आते रहते हैं इसलिए जरूरी है कि हम सामूहिक रूप से अभियान में टीके लगवाएं ताकि इस बीमारी को पोलियो की तरह समूल नष्ट किया जा सके। यह तभी संभव है जब हर बच्चे के टीका लगे और कोई भी बच्चा टीकाकरण से वंचित न रहे। 
सेल्फी, वीडियो, पोस्टर भेजें, बनें विजेता
सीओआईईसी विनोद बिश्रोई ने बताया कि खसरा-रूबेला अभियान से जुड़े संदेश का वीडियो या टीकाकरण करवाने की फोटो, प्रमाण-पत्र के साथ सेल्फी या खसरा-रूबेला से जुड़े पोस्टर, पेंटिंग आदि बच्चे वाट्सएप नंबर 9829762729 पर भेज सकते हैं। बेस्ट प्रतिभागी को विभाग की ओर से पुरस्कृत किया जाएगा। बच्चों व अभिभावकों में जागरूकता के लिए यह स्पर्द्धा शुरू की गई है। 

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे