Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India चिकित्सा विभाग संभावित कोरोना पाॅजिटिव मानते हुए तैयारी रखे प्रोटोकाॅल के अनुसार उपचार हो, इसके लिए अधिकतम स्टाॅफ को प्रशिक्षण दिया जाए - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Tuesday, 7 April 2020

चिकित्सा विभाग संभावित कोरोना पाॅजिटिव मानते हुए तैयारी रखे प्रोटोकाॅल के अनुसार उपचार हो, इसके लिए अधिकतम स्टाॅफ को प्रशिक्षण दिया जाए


श्रीगंगानगर,। जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते कहा कि कोविड-19 के संक्रमण एवं बचाव को ध्यान में रखते हुए संभावित कोरोना पाॅजिटिव मानते हुए सभी तरह की तैयारियां मुकम्मल की जाए। उन्हांेने कहा कि अब तक पाॅजिटिव नहीं आने का मतलब यह नहीं है कि हम पूरी तरह रिलैक्स होकर बैठ जाएं। इस वायरस का कोई पता नहीं कब कहां से रोगी मिल जाए।
जिला कलक्टर मंगलवार को कलक्ट्रेट सभाहाॅल में चिकित्सा विभाग के अधिकारियों एवं निजी चिकित्सकों की संयुक्त बैठक में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना का पाॅजिटिव रोगी संभावित मानते हुए डेडिकेटेड चिकित्सालय, डाॅक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, लैबब्वाय तथा सफाई कार्मिकों तक की पारियों के अनुसार ड्यूटियां लगाकर तैयारी रखें। पाॅजिटिव रोगियों के लिए एम्बुलेंस व अन्य वाहनों को भी सूचीबद्ध कर रखा जाए। 
जिला कलक्टर ने कहा कि ओपीडी में आने वाले रोगियों में कोई खांसी, बुखार का संदिग्ध रोगी नजर आए तो तुरन्त आरआरटी की टीम से संबंधित की जांच करवाई जाए। इसी प्रकार निजी चिकित्सक भी ओपीडी में आने वाले ऐसे संदिग्ध रोगियों को राजकीय चिकित्सालय रेफर करे या रोगी का नाम, मोबाईल नम्बर व उसकी हिस्ट्री चिकित्सा विभाग को देें। जिला कलक्टर ने निजी चिकित्सकों को बताया कि आवश्यक संसाधन, किट इत्यादि की व्यवस्थाएं कर ली गई हंै। 
श्री नकाते ने चिकित्सा विभाग को निर्देश दिए कि कोरोना के वायरस से ग्रसित व्यक्ति का उपचार व डब्ल्यूएचओ की गाइडलाईन व प्रोटोकाॅल के अनुसार हो, की जानकारी चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ, लैब ब्वाय व सफाई कार्मिकों तक को प्रशिक्षित किया जाए। निजी चिकित्सालयों के स्टाफ को भी प्रशिक्षण दिया जाए। जिले में अधिक से अधिक स्टाफ प्रशिक्षित होना चाहिए जिनकी जरूरत के अनुसार सेवाऐं ली जा सकंे। 
जिला कलक्टर ने कहा कि जरूरत के अनुसार निजी चिकित्सालयों का भी उपयोग किया जाएगा। इसके लिए चिकित्सा विभाग के अधिकारी निजी चिकित्सकों से चर्चा कर सूची तैयार कर लंे। निजी चिकित्सालयों में आवश्यकता अनुरूप रोगियों को शिफ्ट किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि राजकीय चिकित्सालय, सुरेन्द्रा डेंटल काॅलेज तथा जनसेवा होस्पिटल को डेडीकेटेड चिकित्सालय के रूप में आरक्षित कियस गया है। 
इस अवसर पर भारतीय प्रशासनिक अधिकारी श्री मोहम्मद जुनैद, न्यास सचिव डाॅ0 हरीतिमा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ0 गिरधारी लाल, आरसीएचओ डाॅ0 एच.एस. बराड, डाॅ0 रफीेक तथा डाॅ0 संदीप चैहान सहित अन्य चिकित्सक उपस्थित थे। 

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे