Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India सभी जिला कलेक्टर/एसपी करायेंगे राज्य सरकार के निर्देशों की सख्ती से अनुपालना - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Friday, 17 July 2020

सभी जिला कलेक्टर/एसपी करायेंगे राज्य सरकार के निर्देशों की सख्ती से अनुपालना

मुख्य सचिव ने वीसी के माध्यम से दिए कोरोना से बचाव के निर्देश
सभी जिला कलेक्टर/एसपी करायेंगे राज्य सरकार के निर्देशों की सख्ती से अनुपालना
श्रीगंगानगर। मुख्य सचिव श्री राजीव स्वरूप ने शुक्रवार को सभी जिला कलेक्टर्स व एसपी सहित सीएमएचओ को वीसी के माध्यम से कोरोना के संबंध में दिशा निर्देश देते हुए सभी जिलों में उनकी सख्ती से अनुपालना करवाने को कहा।
उन्होंने कहा कि राजस्थान में सरकारी विभागों ने मिलकर बहुत अच्छा काम किया है जिसकी वजह से मृत्यु दर घटकर जुलाई माह में 1.68 प्रतिशत पर आ गई है, जिसे शून्य की तरफ ले जाना है।
उन्होंने कहा कि लाॅकडाउन के मध्य में और अनलाॅक डाउन के प्रारंभ में कोरोना के केस बढ़ने की दर लगभग समान थी, इसके कई कारण सामने आए हैं और भविष्य में इन को रोकने के लिए हरसंभव प्रयत्न किए जा रहे हैं।
राज्य सरकार ने यह निश्चित किया है कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर अन्य राज्यों की तरह राजस्थान में लाॅकडाउन ना लगाया जाए बल्कि प्रशासन व सरकार के साथ मिलकर जनता को ना सिर्फ जागरूक किया जाए बल्कि राज्य सरकार के सभी दिशा निर्देशों के अनुपालना सख्ती से करवाई जाए। 
उन्होंने कहा कि यह अनुपालना करवाते हुए यह ध्यान रखा जाए कि जिला प्रशासन/पुलिस असंवेदनशील नहीं हो लेकिन जनता में यह जागरूकता अवश्य हो कि मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना तथा शादी समारोह आदि में अधिक संख्या में एक जगह एकत्रित नहीं होना अति आवश्यक है। राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर जारी किए गए दिशा-निर्देश व एडवाइजरी की पूर्ण पालना हो इसका ध्यान अवश्य रखा जाए।
उन्होंने कहा कि लाॅकडाउन साॅल्यूशन नहीं है लेकिन  कोरोना काल अभी लंबा चलेगा तथा इससे संभल कर कार्य करने की आवश्यकता है।
उन्होंने कहा कि टेस्टिंग का भी फोकस इस समय सुपर स्प्रेडर्स/क्लोज कांटेक्ट्स/सिंप्टोमेटिक मरीजों पर रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि हाई रिस्क ग्रुप तथा आई एल आई मरीजों पर विशेष ध्यान रखना होगा। उन्होंने कहा कि सीमावर्ती जिलों में निगरानी व प्रबंधन किया जाए तथा असिम्पटोमेटिक मरीजों को घर में क्वेरेंटीन की सख्ती से पालना करनी होगी। उन्होंने कहा कि इस समय घरेलू हेल्प से भी सुपर स्प्रेडर्स बढ़ सकते हैं अतरू घर में आने वाले हेल्पर्स आदि को भी स्वच्छता का पालन करनाए मास्क लगाना अति आवश्यक है।
उन्होंने कहा कि सभी जिला कलक्टर सीएमएचओ से रोजाना संवाद स्थापित करें और कोरोना को पांव पसारने से रोकने के लिए हर संभव प्रयत्न करें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 प्रभावित क्लस्टर क्षेत्रों में कंटेनमेंट को सख्ती से लागू किया जाए व जागरूकता अभियान अभी चलता रहेगा।
उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ जंग  तब तक जारी रहेगी जब तक कि हम इस पर विजय प्राप्त ना कर लें।
 उन्होंने कहा कि ग्रामीण व दूरदराज के क्षेत्रों में भी जैसे कस्बे, गांव व छोटे शहरों में कोरोना जागरूकता को बढ़ाए जाने की आवश्यकता है ताकि इन क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ते मामलों को रोका जा सके।
 उन्होंने कहा कि समस्त कार्यालयों के प्रभारी यह सुनिश्चित करेंगे कि कार्य स्थलों पर सभी कर्मचारियों एवं अन्य आने वाले व्यक्तियों द्वारा आवश्यक रूप से फेस मास्क पहना जाए और सामाजिक दूरी रखी जाए अन्यथा इसके लिए आॅफिस इंचार्ज पर 2 वर्ष का कारावास तथा 10000 रूपये का जुर्माना किया जा सकता है।
 सभी सार्वजनिक स्थानों एवं परिवहन में समस्त व्यक्तियों द्वारा समुचित सामाजिक दूरी बनाए रखना सुनिश्चित किया जाएगा। इसकी पालना नहीं करने पर जुर्माने से यह दंडनीय होगा।
 उन्होंने कहा कि संपूर्ण कार्य स्थलों, आम सुविधा और मानव संपर्क में आने वाली सभी वस्तुओं जैसे दरवाजे के हैंडल, रेलिंग आदि को बार-बार विसंक्रमित किया जाए।
उन्होंने कहा कि सभी व्यक्तियों को यह सलाह दी जाती है कि ऐसी किसी भी जगह, जो सार्वजनिक संपर्क में आती हो, को छूने के बाद साबुन और पानी से हाथ धोने और साबुन पानी आसानी से उपलब्ध नहीं होने पर सैनिटाइजर का यूज करना आवश्यक है।
उन्होंने कहा कि उपर्युक्त सभी निर्देशों की अनुपालना जिला मजिस्ट्रेट व अन्य अधिकृत अधिकारियों/पुलिस द्वारा करवाई जाएगी। 
  उन्होंने कहा कि दुकानों आदि पर ग्राहकों के मध्य सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए आकस्मिक निरीक्षण किया जाए तथा सभी प्राइवेट व सरकारी दफ्तरों में आकस्मिक निरीक्षण के लिए वीडियो टीम भेजकर चेकिंग की जाए। उन्होंने कहा कि पहले समझाइश ही की जाए तथा निर्देशों की अनुपालना सख्ती से कराने का तात्पर्य यह नहीं है कि सभी को दंडित किया जाए  अपितु यह ध्यान रखा जाए कि यदि बार-बार समझाने के बावजूद भी सरकार के निर्देशों की अनुपालना नहीं हो रही हो तब दंडात्मक कार्यवाही की जाए।
प्रमुख शासन सचिव ने कहा कि मृत्यु दर शून्य रहे, यह इलाज का उद्देश्य होना चाहिए तथा आईसीयू, वेंटीलेटर्स आदि पर पूरा ध्यान रखा जाना चाहिए और व्यवस्थाओं में कोई कमी नहीं आनी चाहिए।
   इस वीसी में श्रीगंगानगर के जिला कलेक्टर श्री महावीर प्रसाद वर्मा, अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन डाॅ. गुंजन सोनी, अतिरिक्त जिला कलक्टर सिटी श्री अरविंद जाखड़, सीएमएचओ डाॅ. गिरधारी लाल मेहरड़ा, पीएमओ डाॅ. के एस कामरा सहित आर सी एच ओ डाॅक्टर ब्राड़ उपस्थित रहे। 

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे