Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India टीबी रोगी खोज अभियान 3 से 16 अक्टूबर तक, कार्मिकों का प्रशिक्षण सम्पन्न - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Thursday, 1 October 2020

टीबी रोगी खोज अभियान 3 से 16 अक्टूबर तक, कार्मिकों का प्रशिक्षण सम्पन्न



टीबी की तलाश में घर-घर दस्तक देंगे स्वास्थ्य कार्यकर्ता

हनुमानगढ़। स्वास्थ्य विभाग की ओर से राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम (एनटीईपी) के तहत जिले में टीबी रोगियों की खोज के लिए 3 से 16 अक्टूबर तक विशेष अभियान चलाया जाएगा। इस दौरान विभागीय टीमें घर-घर दस्तक देंगी एवं टीबी रोगी चिन्हित करेंगी ताकि उनका समुचित उपचार हो सके। अभियान को सफल बनाने के लिए गत दिवस जिला स्तर से ब्लॉक स्तरीय कार्मिकों को प्रशिक्षण भी दे दिया गया है। अब आशा सहयोगिनी, एएनएम एवं अन्य स्वास्थ्य कार्मिकों द्वारा घर-घर जाकर सर्वे का कार्य 3 अक्टूबर से प्रारंभ किया जाएगा और संभावित टीबी रोगी की नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पर जांच करवाई जाएगी।
जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. रविशंकर शर्मा ने बताया कि जिले में प्रस्तावित टीबी रोगी खोज अभियान के तहत स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता प्रत्येक सी-टाइप गांव, ईंट-भट्ठा, झुग्गी झोपड़ी, जेल व अन्य चिन्हित स्थानों में जाकर सर्वे करेंगे।  प्रत्येक टीम में एक एएनएम व एक आशा होंगी, जो प्रतिदिन कम से कम 250 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग करेंगे। सर्वे के दौरान जिस भी घर में किसी व्यक्ति को दो सप्ताह से अधिक खांसी, बुखार, भूख कम लगना, लगातार वजन में गिरावट, बलगम में खून आदि लक्षण मिलेंगे, उन्हें संभावित टीबी रोगी मानते हुए चिन्हित किया जाएगा। इसके बाद नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में बलगम की जांच, एक्सरे आदि जांच करवाई जाएंगी। टीबी रोग की पुष्टि होने पर उसका उपचार प्रारंभ किया जाएगा। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत उपचार समस्त राजकीय चिकित्सा संस्थानों पर निःशुल्क किया जा रहा है एवं दवा भी उपलब्ध है। साथ ही निक्ष्य पोषण योजना के तहत पात्र क्षय रोगियों को प्रतिमाह पोषण राशि भी सरकार की ओर से दी जा रही है। 

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे