Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India उत्तर पश्चिम रेलवे-रेल बजट 2021-22 नई लाइन तथा संरक्षा पर विशेष ध्यान केंद्रित - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Friday, 5 February 2021

उत्तर पश्चिम रेलवे-रेल बजट 2021-22 नई लाइन तथा संरक्षा पर विशेष ध्यान केंद्रित

 उत्तर पश्चिम रेलवे-रेल बजट 2021-22

नई लाइन तथा संरक्षा पर विशेष ध्यान केंद्रित
’भविष्य के लिए तैयार आत्मनिर्भर भारत की ओर महत्वपूर्ण कदम’
श्रीगंगानगर, 5 फरवरी। 1 फरवरी 2021 को प्रस्तुत बजट में उत्तर पश्चिम रेलवे को विभिन्न कार्यों के लिये बजट का आंवटन किया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे के केपिटल आउट-ले वर्ष 2021-22 के बजट में 4672.55 करोड़ आवंटित किया गया है। इस बजट में भौतिक एवं वित्तीय पूंजी और अवसंरचना पर ध्यान केन्द्रीकृत किया गया है। यह बजट आंकाक्षी भारत के लिए समावेशी विकास लाने वाला है। इसका उद्देश्य मानव पूंजी में नवजीवन का संचार करना है। इससे नव प्रवर्तन और अनुसंधान एवं विकास को बढ़ावा मिलेगा। इसमें सरकार का उद्देश्य ‘न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन‘ की अवधारणा को मूर्त रूप प्रदान करना है।
उत्तर पश्चिम रेलवे के लिए इस बजट में नई लाइनों तथा संरक्षा पर विशेष ध्यान केन्द्रित किया गया हैं। यात्राी सुविधाओं के लिये 462.58 करोड रूपये का प्रावधान रखा गया है। इसी प्रकार संरक्षा के अहम मद ट्रेक नवीनीकरण के लिये 500 करोड तथा रेलवे समपारो पर संरक्षा को ध्यान में रखते हुये रोड ओवर ब्रिज तथा रोड अण्डर ब्रिज के लिये 334.51 करोड रूपये का बजट में प्रावधान किया गया है।
इसके अतिरिक्त निर्माण कार्य जिनमें नई लाइने, आमान परिवर्तन के कार्य जो प्रगति पर है उनके लिये भी उपयुक्त बजट का प्रावधान किया गया है, ताकि इनकों गति प्रदान की जा सकें।
आधारभूत अवसंरचना को सुदृढ़ करने के लिये नई लाइन के लिये 316.76 करोड, आमान परिवर्तन के लिये 80 करोड तथा दोहरीकरण के लिये 225 करोड रूपये के बजट का प्रावधान किया गया है।
इसी प्रकार ब्रिज कार्यों के लिये 33 करोड, सिगनल कार्यो के लिये 93.59 करोड, रोलिंग स्टाॅक के लिये 24.87 करोड, यातायात सुविधाओं के लिये 65.99 करोड, कारखाना कार्यो के लिये 40.53 करोड, कर्मचारी कल्याण के लिये 29.24 करोड तथा प्रशिक्षण कार्य के लिये 4.11 करोड रूपये का बजट आवंटन किया गया है।  
रेवाड़ी-भिवानी-हिसार रेलखण्ड के डेडिकेटेड फ्रेट काॅरीडोर फीडर रूट पर उपरि विद्युत उपस्कर को ऊॅचा करना के लिये  24.86 करोड़ के नये कार्यों के लिये प्रावधान किया गया है।      
दौसा-गंगापुरसिटी 92.67 किमी पर 160 करोड़ रूपये, गुढ़ा-ठठाणा मीठडी परीक्षण ट्रेक  पर 100 करोड़ रूपये नई लाईन के लिये, मावली-बड़ी सादरी 81.01 किमी अमान परिवर्तन पर 50 करोड़, अहमदाबाद-हिम्मतनगर 208.48 किमी अमान परिवर्तन पर 240 करोड़ रूपये खर्च होंगे।
इसी प्रकार फुलेरा-डेगाना 108.75 किमी दोहरीकरण पर 32 करोड़ रूपये, डेगाना-राई का बाग 145 किमी पर 100 करोड़, बागडग्राम-गुड़िया पेच डबलिंग 47 किमी पर 40 करोड़, अजमेर-बागडग्राम 48.43 किमी. दोहरीकरण कार्य के लिये 25 करोड़ की राशि का प्रावधान किया है।
उत्तर पश्चिम रेलवे पर रेल विद्युतीकरण के कार्य 1062.36 करोड़ रूपये, गांधीनगर जयपुर (2), भगत की कोठी (4) तथा जोधपुर (2) स्टेशनों पर एस्केलेटर का प्रावधान 3.19 करोड़, रेवाड़ी-सादुलपुर बाईपास लाइन के लिये 9.98 करोड़ रूपये, खातीपुरा-जयपुर के उपग्रह स्टेशन (सेटेलाईट स्टेशन) के रूप में नई टर्मिनल सुविधा का विकास 50 करोड़ रूपये तथा जयपुर मण्डल विद्युत सामान्य सेवा हेतु विद्युत आपूर्ति संस्थापनाओं का संवर्धन, उन्नयन व सुधार कार्य पर 2.49 करोड रूपये का प्रावधान किया है।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे