Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India घूँघट मुक्त हो राजस्थान: मुख्यमंत्री श्री गहलोत - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Saturday, 10 July 2021

घूँघट मुक्त हो राजस्थान: मुख्यमंत्री श्री गहलोत

 घूँघट मुक्त हो राजस्थान: मुख्यमंत्री श्री गहलोत

जिले में महिला अधिकारिता विभाग ने विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए
श्रीगंगानग,। घूंघट मुक्त राजस्थान मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा किया गया आह्वान है, जिसे पूरे राजस्थान में महिला अधिकारिता विभाग द्वारा संचालित किया जा रहा है। शनिवार को जिले की समस्त ग्राम पंचायतों में घूंघट प्रथा के विरूद्ध जागरूकता कार्यक्रम करवाए गए। चूनावढ, रायसिंहनगर, खाटलबाना,  करनपुर, ग्राम पंचायत फतूही आदि में महिलाओं द्वारा ’’घूंघट हटाओ अपनी पहचान बनाओ‘‘ कार्यक्रम आयोजित किए गए।
 21वीं सदी में महिलाएँ सभी क्षेत्रों में अपनी पहचान बना चुकी हैं तथा कंधे से कंधा मिलाकर राष्ट्रनिर्माण में सहयोग दे रही हैं। ऐसे में राजस्थान में भी महिलाएँ अग्रिम पंक्ति में हों यह सपना मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने देखा है तथा वे पूरी तरह से इस प्रथा को राजस्थान में खत्म करने के लिए कृत संकल्पित हैं।
 36 एच नग्गी करनपुर में साथिन राजविंदर कौर व साथिन सुनीता ने सूरतगढ़ में पर्दा प्रथा पर अपने विचार व्यक्त किए एवं महिलाओं को अपनी पहचान बना समाज में योगदान देने के लिए प्रेरित किया। महिला अधिकारिता विभाग श्रीगंगानगर समय-समय पर हस्ताक्षर अभियान, शपथ ग्रहण अभियान आदि चलाकर समाज में जागरूकता फैलाने का कार्य कर रहा है। इसी कड़ी में मार्च माह में हस्ताक्षर अभियान चलाया गया था, जिसमें एडीएम प्रशासन भवानी सिंह पंवार ने भी हस्ताक्षर कर अपना योगदान दिया था। उपनिदेशक आईसीडीएस श्री तेज प्रकाश अग्निहोत्री एवं श्री विजय कुमार सहायक निदेशक महिला अधिकारिता विभाग ने महिलाओं को पर्दा प्रथा से मुक्त हो नई पहचान बनाने के लिए प्रेरणा दी।
 भारत देश के 2022 में आजादी के 75 वर्ष पूरे करने के सम्बंध में पंचायती राज मंत्रालय भारत सरकार के स्तर से अमृत महोत्सव कार्यक्रम आयोजित कर रहा है, जिसमें प्रत्येक ग्राम पंचायत/गाँव में लैंगिक असमानता पर आधारित विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। बेटी पढ़ाओ अभियान,  पर्दा प्रथा के विरुद्ध जागरूकता अभियान, केवल एकल व द्विपुत्री माता पिता का सम्मान, बेटा बेटी एक समान विषय पर खेल प्रतियोगिता,  लड़का लड़की एक समान विषय पर वाद विवाद प्रतियोगिता, उन माता पिता को सम्मानित करना जिनकी पुत्रियाँ सरकारी अथवा गैर सरकारी नौकरी में कार्यरत हैं, आदि कार्यक्रम आयोजित कर तथा इनके अतिरिक्त अपनी सुविधा के अनुसार तथा नवाचार अनुसार अन्य कार्यक्रमों का आयोजन कर महिला एवं बाल विकास विभाग समाज में लैंगिक भेदभाव को समाप्त करने की ओर अग्रसर है। जिला परिषद सी ई ओ श्री अशोक कुमार मीणा ने बताया कि 9 जुलाई से 15 जुलाई तक जिले की सभी ग्राम पंचायतों में विभिन्न कार्यक्रमों को आयोजित कर जागरूकता लाने का प्रयास किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे