Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India हेल्पलाईन के प्रकरण टाईम एस्कालेट होने पर संबंधित को नोटिस दिया जायेगा - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Tuesday, 9 November 2021

हेल्पलाईन के प्रकरण टाईम एस्कालेट होने पर संबंधित को नोटिस दिया जायेगा

 हेल्पलाईन के प्रकरण टाईम एस्कालेट होने पर संबंधित को नोटिस दिया जायेगा


जिला स्तरीय अधिकारी शिविरों में जायेः जिला कलक्टर
श्रीगंगानगर, । जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने कहा कि राजस्थान संपर्क पोर्टल 181 पर दर्ज प्रकरणों को निर्धारित अवधि में निस्पादन करना होगा। अगर किसी अधिकारी की लापरवाही से प्रकरण टाईम एस्कालेट होता है तो संबंधित अधिकारी को नोटिस दिया जायेगा।
जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाहॉल में साप्ताहिक समीक्षा बैठक में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि जो प्रकरण जिस लेवल का है, उसका निपटारा उसी स्तर पर होना चाहिए। बैठक में जानकारी दी गई कि जिला परिषद के 369, पेयजल के 176, पीडब्ल्यूडी के 132, शिक्षा विभाग के 37, नगरपरिषद के 400, कृषि के 13, उधान के 12, नगरविकास न्यास के 26, जल संसाधन के 155 प्रकरण लम्बित है, जिनका निपटारा करने के निर्देश दिये गये है। जिला कलक्टर ने मुख्यमंत्राी कार्यालय से प्राप्त पत्रों के निस्पादन की समीक्षा की।
जिला कलक्टर ने नगर विकास न्यास व नगरपरिषद गंगानगर को निर्देशित किया है कि शहर की जो सड़के टुटी है, उनकी मरम्मत की जाये तथा पेच वर्क करवाया जाये। जिला कलक्टर ने चिकित्सालय से किसान चौक तक 1.92 करोड़ की सड़क सुदृढ़ीकरण के कार्य जल्द प्रारम्भ करने के निर्देश दिये। उन्होंने हनुमानगढ़ रोड़ सहित अन्य सड़के जो प्रक्रियाधीन है, की प्रगति की जानकारी ली। जिला कलक्टर ने जल जीवन मिशन के तहत स्वीकृत कार्यों को समय पर पूर्ण करने के निर्देश दिये। जिले में 2853 गांवों में 459 योजनाएं स्वीकृत है, जिन्हें जल्द प्रारम्भ करने व अन्य योजनाओं को स्वीकृत करवाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि पेयजल विभाग की जो परियोजनाएं है या विधानसभा वार ट्यूबवेल व हेण्डपम्प लगाये जाने का कार्य है, उसे निर्धारित अवधि में पूर्ण किया जाये, जिससे आगामी गर्मी के मौसम में आमजन को योजनाओं का लाभ मिल सके।
जिला कलक्टर ने सीमांत क्षेत्र विकास योजना, एमपी, एमएलए लेड की योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि स्वीकृत कार्य निर्धारित अवधि में पूर्ण किये जाये तथा जो कार्य पूर्ण है, उनकी यूसी, सीसी जारी करने में विलम्ब न किया जाये। जिला कलक्टर ने कहा कि प्रशासन शहरों व गांवों के संग अभियान में जिला स्तर के अधिकारी भी जाये तथा ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को प्रत्येक शिविर में जाने के लिये पाबंद किया जाये। उन्होंने कहा कि शिविरों की प्रगति को प्रतिदिन अपडेट किया जाये।
जिला कलक्टर ने कहा कि पंजाब में पेट्रोल डीजल की दरें कम होने के कारण रसद विभाग सर्तक रहकर यह देखे कि कोई नागरिक नियम विरूद्ध तेल का परिवहन न करे। विधुत विभाग द्वारा कृषि कार्य के लिये दिये जाने वाले विधुत कनेक्शन में 1 हजार 80 के लक्ष्य के विपरीत 622 कनेक्शन दिये गये है तथा इस माह के अंत तक 200 कनेक्शन देने के निर्देश दिये गये है।  
अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन श्री भवानी सिंह पंवार ने कृषि के लिये डिग्गी निर्माण की प्रगति की समीक्षा की। विभाग की डिग्गियों के अलावा जल संसाधन विभाग की नहरों के कार्य के अनुरूप 150 डिग्गियों का अतिरिक्त निर्माण किया जायेगा। 11 गुणा 6 फीट के सुपर कम्पोस्ट बनाने के लिये सुपर खाद वितरण के लक्ष्य पूरे कर लिये गये है। 11 हजार 260 मिनी किट वितरित किये गये है। श्री पंवार ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि जिला चिकित्सालय में जिस क्षेत्रा से ज्यादा डेंगू के रोगी सामने आते है, उस क्षेत्रा में सर्तकता व फोगिंग पर विशेष ध्यान दिया जाये।
श्री पंवार ने कहा कि विभिन्न योजनाओं में चिकित्सा विभाग को उपकरण खरीद के लिये जो राशि दी गई है, नियमानुसार उपकरण क्रय किये जाये। मुख्यमंत्राी चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की समीक्षा की गई। बैठक में नहीं आने वाले अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस दिये जायेंगे। प्रशासन शहरों व गांवों के संग अभियान में आमजन के पट्टों सहित व्यक्तिगत व सार्वजनिक क्षेत्रा के कार्य करने के निर्देश दिये गये। बैठक में जानकारी दी गई कि महात्मा गांधी नरेगा योजना में 40 हजार श्रमिक कार्यरत है। जिले में 1670 व्यक्तिगत शौचालयों के भुगतान अभियान के दौरान किया जा रहा है। बैठक में आधार सीडिंग, शहर में आवारा कुत्तों, पशुओं के टीकाकरण कार्यक्रम, शिक्षा विभाग में आईसीटी लेब की प्रगति, आरयूआईडीपी के कार्यों की समीक्षा की गई।
बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अशोक कुमार मीणा, न्यास सचिव डॉ. हरितिमा, आयुक्त नगरपरिषद श्री सचिन यादव, पीएमओ डॉ. बलदेव सिंह, डॉ. मुकेश मेहता, जल संसाधन के अधीक्षण अभियंता श्री धीरज चावला, पीडब्ल्यूडी के अधीक्षण अभियंता श्री सुमन मनोचा, उपनिदेशक कृषि जी.आर.मटोरिया, सहायक निदेशक उद्यान प्रीति गर्ग, डीएसओ श्री राकेश सोनी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे