Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India 1 लाख 99 हजार करोड़ रूपए के बजट से देश की सड़कों और आर्थिक विकास को मिलेगी गति - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Monday, 21 March 2022

1 लाख 99 हजार करोड़ रूपए के बजट से देश की सड़कों और आर्थिक विकास को मिलेगी गति

 1 लाख 99 हजार करोड़ रूपए के बजट से देश की सड़कों और आर्थिक विकास को मिलेगी गति

ः  सांसद श्री निहाल चन्द


श्रीगंगानगर। लोकसभा में केन्द्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय की अनुदान मांगों पर चर्चा के दौरान लोकसभा सांसद श्री निहाल चन्द ने भी अपने विचारों और क्षेत्र की मांगो को सदन के समक्ष रखते हुए कहा कि किसी भी देश के आर्थिक और सामाजिक विकास के साथ-साथ सामरिक सुरक्षा की दृष्टि का आधार सड़क परिवहन होता है, जोकि देश को बेहतर गति प्रदान करते हुए विकास के नए मार्गों को खोलता है। भारत में बिछे सड़कों के जाल को आज दुनिया के विशाल सड़क नेटवर्कों में से एक माना जाता है। भारत का सड़क मार्ग कुल मिलाकर 66 लाख किलोमीटर लम्बा है, जोकि दुनिया का दुसरे नंबर का सड़क तंत्र है।
 श्री निहालचंद ने बताया कि आर्थिक सर्वेक्षण के मुताबिक, देश में वर्ष 2013-14 से अभी तक राष्ट्रीय राजमार्गाे व सड़कों के निर्माण में काफी तेजी आई है। वर्ष 2019-20 में कुल 10,237 किलोमीटर सड़कें बनाई गई थी और वर्ष 2020-21 में 13,327 किलोमीटर सड़क बनाई गई। वर्ष 2022-23 के बजट में 25,000 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग बनाने का लक्ष्य हमारी केंद्र सरकार ने रखा है। आज देश में प्रतिदिन लगभग 37 किलोमीटर लम्बे राजमार्गों का निर्माण हो रहा है, जोकि एक रिर्कार्ड है।
 उन्होने कहा कि गत सरकार के समय में औसतन रोजाना केवल 12 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गाे और 69 किलोमीटर ग्रामीण सड़कों का निर्माण होता था, लेकिन माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में आज लगभग 37 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग और 162 किलोमीटर ग्रामीण सड़कों का निर्माण किया जा रहा हैं। सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री के द्वारा इसमें भी और सुधार की बात कही जा रही है, ये उनकी विकास के प्रति प्रतिबद्धता को दर्शाता है। वर्ष 2022-23 के लिए सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय को लगभग 1 लाख 99 हजार करोड़ रूपए का बजटीय आवंटन किया गया है। इसके तहत देश में सड़क परिवहन के बुनियादी ढांचे को मजबूती प्रदान करने पर जोर दिया जाएगा, इससे आने वाले दशकों में देश को बड़े पैमाने पर लाभ होगा। अभी हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा राजस्थान प्रदेश को लगभग 8 हज़ार 500 करोड़ रूपए रूपए की लगभग 18 नई परियोजनाओं की सौगात दी गई है, जिसके अंतर्गत कुल 1 हज़ार 127 किलोमीटर लंबी सड़कों का निर्माण किया जाएगा। वर्ष 2014 में राजस्थान में राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लम्बाई 6 हजार 302 किमी.् थी, जोकि अब लगभग 11 हजार किलोमीटर लम्बे हो चुके है।
 श्री निहालचंद ने बताया कि पिछले 6 वर्षों में हमारी सरकार ने केवल राजस्थान में ही लगभग 5 हजार किमी. के नए राष्ट्रीय राजमार्गाे का निर्माण किया है और वर्तमान में भी बहुत सी परियोजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है। संसदीय क्षेत्र श्रीगंगानगर जिले में भारतमाला सड़क परियोजना के अंतर्गत 650 करोड़ रुपए की लागत से 256 किमी. लम्बी सड़क बनाई जा रही है। भारतमाला सड़क परियोजना के ही अंतर्गत श्रीगंगानगर मुख्यालय से रायसिंहनगर के मध्य लगभग 102 किमी. लम्बे राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण किया जाएगा, जिस पर लगभग 630 करोड़ रूपए खर्च होंगे। देश के 7 राज्यों, 3 बड़ी रिफाइनरियों और 3 पोर्ट को जोड़ने वाला लगभग 1224 किमी. लम्बा अमृतसर-जामनगर ग्रीन एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जा रहा है, जिस पर लगभग 31 हजार करोड़ रूपए खर्च किये जाएंगे। इस एक्सप्रेसवे का कुछ हिस्सा मेरे संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत हनुमानगढ़ व श्रीगंगानगर जिलों से भी गुजरेगा, जिसके निर्माण से मेरे संसदीय क्षेत्र के असंख्य लोगों को इसका लाभ मिलेगा।
 सदन में अपनी बात रखते हुए सांसद श्री निहाल चन्द ने श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिलों में सड़क यातायात से जुडी समस्याओं की ओर केंद्र सरकार का ध्यान आकर्षित करते हुए सूरतगढ़ से रावतसर होते हुए हिसार (हरियाणा) तक प्रस्तावित राष्ट्रीय राजमार्ग का जल्द से जल्द निर्माण कराये जाने, हनुमानगढ़ में कालीबंगा रेलवे फाटक पर और श्रीविजयनगर नई धान मंडी से रायसिंहनगर की और अत्याधिक यातायात भार के मद्देनजर आरओबी का निर्माण, श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ मार्ग की चौड़ाई को बढाकर इसको राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करते हुए इसका मिलान हनुमानगढ़ जिले से गुजरने वाले अमृतसर-जामनगर ग्रीन एक्सप्रेसवे व श्रीगंगानगर-रायसिंहनगर भारतमाला सड़क से करने और हनुमानगढ़ में अत्याधिक यातायात के भार से निजात दिलाने हेतु एक बाईपास के निर्माण की मांग केंद्र सरकार के सामने रखी।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे