Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India हनुमानगढ़ पुलिस अधीक्षक कार्यालय में युवक ने जहरीली दवा गटकी, आईसीयू में उपचाराधीन - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Tuesday, 19 March 2019

हनुमानगढ़ पुलिस अधीक्षक कार्यालय में युवक ने जहरीली दवा गटकी, आईसीयू में उपचाराधीन


श्रीगंगानगर। हनुमानगढ़ में पुलिस अधीक्षक कार्यालय परिसर में सोमवार दोपहर को अफरा-तफरी मच गई, जब एक युवक बेहोश होकर गिर गया और उसके मुंह से झाग आने लगे। इस युवक को तत्काल हनुमानगढ़ टाऊन सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया। ट्रोमा सेंटर में  उपचार दिये जाने के बाद युवक को गहन सघन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में रखा गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार हनुमानगढ़ जंक्शन में हाऊसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी यह युवक रोहित रामगढिय़ा दोपहर करीब 11 बजे पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आया। इसके कुछ देर बाद ही वह बेहोश होकर गिर गया और मुंह से झाग आने लगे। उसने कार्यालय परिसर में आने के बाद किसी जहरीली दवा का सेवन कर लिया। इसकी सूचना मिलते ही हनुमानगढ़ जंक्शन पुलिस सिविल अस्पताल में पहुंची। पुलिस के अनुसार रोहित को अभी होश नहीं आया है। वह बयान देने की स्थिति में नहीं है। उसे आईसीयू में रखा हुआ है। हालत में सुधार होने और बयान दिये जाने पर पूरी बात का पता चल सकेगा। डॉक्टर ही बतायेंगे कि उसने जहरीली दवा का सेवन किया है या कुछ और निगला है। अन्य सूत्रों के मुताबिक रोहित किसी घरेलू परेशानी के कारण परेशान बताया जा रहा है। उस पर कोई मामला दर्ज है। रोहित इसलिए परेशान बताया जा रहा है कि इस मामले में पुलिस उसकी सुनवाई नहीं कर रही। 



जेब में मिला चार पेज का सुसाइड नोट
 हनुमानगढ़ पुलिस अधीक्षक कार्यालय परिसर में कथित रूप से जहरीली दवा का सेवन करने वाले युवक रोहित रामगढिय़ा के पास से पुलिस को चार पेज का सुसाइड नोट मिला है। जानकारी के अनुसार इस नोट में रोहित ने अपनी पत्नी और ससुराल वालों पर लगातार मानसिक रूप से प्रताडि़त करते हुए ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है। रोहित की शादी लगभग 10 वर्ष पहले बठिंडा-पंजाब की निवासी मंजू के साथ हुई थी। इस नोट के मुताबिक रोहित पर उसकी पत्नी ने बठिंडा में केस कर रखा है। बताया गया है कि मंजू का एक भाई पंजाब पुलिस में है। इस पत्र में रोहित ने पुलिस अधिकारियों से गुहार लगाई है कि वे उसे इंसाफ दिलायें। अगर उसे कुछ हो जाता है तो इसके लिए दोषी व्यक्तियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाये। इस बीच हनुमानगढ़ पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि इससे पहले रोहित ने कभी भी सम्बन्धित थाने में या किसी अधिकारी को आकर अपनी व्यथा नहीं बताई। आज भी जब वह पुलिस अधीक्षक कार्यालय परिसर में आया तो आते ही उसने अपने साथ लाई हुई शीशी से दवा निगल ली। वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे ऐसा करने से रोकने की भी कोशिश की। 

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे