Report Exclusive, Lok Sabha Elections 2019: Latest News, Photos, and Videos on India General Elections, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India ग्राम स्तर पर सेवारत पटवारी व ग्राम विकास अधिकारी मुख्यालय पर प्रतिदिन प्रातः 9 बजे से सायं 6.30 बजे तक कार्यालयों में उपस्थित रहे- शिक्षा राज्यमंत्री - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Saturday, 17 August 2019

ग्राम स्तर पर सेवारत पटवारी व ग्राम विकास अधिकारी मुख्यालय पर प्रतिदिन प्रातः 9 बजे से सायं 6.30 बजे तक कार्यालयों में उपस्थित रहे- शिक्षा राज्यमंत्री


20 सूत्री कार्यक्रम के लक्ष्यों को पूरा करे : शिक्षा राज्यमंत्री
श्रीगंगानगर,। शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्रा प्रभार) श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि ग्राम स्तर पर सेवारत पटवारी व ग्राम विकास अधिकारियों को मुख्यालय पर रहकर प्रतिदिन प्रातः 9 बजे से सायं 6.30 बजे तक कार्यालयों में उपस्थित रहना होगा। उन्होने कहा कि ग्राम स्तर के कर्मिक एक प्रमुख कडी है।
श्री डोटासरा शनिवार को कलैक्ट्रेट सभाहॉल में 20 सूत्रा कार्यक्रम की समीक्षात्मक बैठक में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होने कहा कि ग्राम स्तर के कार्मिक मुख्यालय पर नही रहेंगे तो, जो विकास का सपना हम देख रहे है, वे पूरा नही होगा। उन्होने कहा कि ग्राम स्तर के कार्मिकों का नियमित निरीक्षण किया जाए तथा ग्राम पंचों से उपस्थिति के संबंध में फीडबैक लिया जाए। उन्होने कहा कि चुनी हुए महिला जनप्रतिनिधियों तथा राजकीय सेवा में सेवारत महिला कार्मिक ही अपने कार्य को पूरा करे तथा वे सक्षम भी है, लेकिन कई स्थानों पर महिलाओं के पति कार्य करते है या कार्य में दखलांदाजी करते है जो उचित नही है। उन्होने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा में मेट को रोटेशन के अनुसार लगाए, अगर प्रशिक्षण की आवश्यकता है, तो उन्हे प्रशिक्षित किया जाए। 
राज्यमंत्रा श्री डोटासरा ने कहा कि सम्बल ग्राम योजना के तहत जो 1409 गांव चिन्हित है, उनमें योजना के अनुसार मूलभूत सुविधाएं विकसित की जाए। ये वो गांव है, जिनमे सर्वाधिक अनुसूचित जाति के परिवार निवास करते है। उन्होने कहा कि अधिकारी जनप्रतिनिधियों के सम्पर्क में रहे तथ विकास से संबंधित कार्यो में किसी तरह का विलम्ब नही होना चाहिए। उन्होने पर्यावरण की रक्षा के लिए अधिक से अधिक पौधे लगाने का आग्रह किया। उन्होने कहा कि पर्यावरण के इस कार्य में आमजन की भागीदारी भी होनी चाहिए। उन्होने कहा कि जिन वृद्धजनों की पैंशन बंद है, उसे चालू की जाए तथा जो पात्रा है, उनके नये आवेदन प्राप्त किए जाए। उन्होने जिले में संचालित वृद्धाश्रम का लगातार निरीक्षण करने व उनकी सुविधाओं का ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि इन केन्द्रों में पीडित मानव की सेवा होती है , उन्हे उसे ओर बेहतर बनाना है। 
श्रीर डोटासरा ने जिले में विद्युत आपूर्ति नियमित रखने, खराब मीटरों को बदलने तथा विद्युत छिजत में कमी लाने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि शिक्षण कार्य में लगे शिक्षकों, प्रधानाचार्यो से शिक्षा का कार्य ही लिया जाए। किसी कार्यालय में कार्मिको के अभाव में कार्य प्रभावित हो रहा हो तो मंत्रालयी कार्मिको की सेवा ली जाए। उन्होने कहा कि माननीय मुख्यमंत्रा की मंशा के अनुरूप अधिकारी जनता की समस्याओं को सुने तथा उसका समाधान करने का पूरा प्रयास करे। हमारा दायित्व है कि हम जनता की आशाओं पर खरे उतरे । उन्होने स्वीकृत विकास कार्यो को पूर्ण करने तथा पूर्ण कार्यो की यूसी व सीसी जारी करने में विलम्ब न करने के निर्देश दिए। 
गंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड ने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा में श्रमिको को पूरी मजदूरी मिले, इसके लिए अधिकारी उनसे टॉस्क पूरा करवाए। उन्होने शहर में सीवरेज कार्यो में तेजी लाने का सुझाव दिया। श्री गौड ने कहा कि सीवरेज के अधूरे कार्यो से आमजन को परेशानी हो रही है, जो सड़के, नालिया अधूरी है, उन्हे पूरा किया जाए। 
सादुलशहर विधायक श्री जगदीश जांगिड ने सुझाव दिया कि महात्मा गांधी नरेगा में जो मेट लम्बे समय से चल रहे है, उन्हे बदला जाए। मेट के नये पेनल के लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था की जाए। उन्होने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन गांव में ही बांटने का आग्रह किया। उन्होने विद्युत आपूर्ति तथा विद्युत ट्रिपिंग की समस्या भी बैठक में रखी। 
जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि 20 सूत्रा कार्यक्रम में रोजगार सृजन के लिए 22 लाख के  विरूद्ध 45 लाख रूपये की राशि युवाओं को उपलब्ध करवाई गई है। जिले में महिला समूहो का गठन किया जाकर उन्हे बैंको से वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाई गई है। जिले में आयोजित रात्रि चौपालों में पात्रा नागरिकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ दिया जाता है। जो आवेदन पत्रा लम्बित है, उनका निस्तारण विकास अधिकारियों के माध्यम से करवाया जाएगा। प्रधानमंत्रा आवास निर्माण में जिला राज्य में प्रथम स्थान पर है। 
जिला कलक्टर ने बताया कि वृक्षारोपण के कार्यक्रम आयोजित कर पौधे लगाने का कार्य वन विभाग के अलावा शिक्षा विभाग तथा अन्य विभागों द्वारा किया जा रहा है। गरीब परिवारों को बिजली उपलब्ध करवाने के 1071 के लक्ष्य के विपरित 1462 गरीब परिवारों को बिजली दी गई है। पुलिस अधीक्षक श्री हेमन्त शर्मा ने जिले की कानून व्यवस्था की जानकारी दी। 
बैठक में सूरतगढ विधायक श्री रामप्रताप कासनिया, मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री सौरभ स्वामी, एडीएम प्रशासन श्री ओ.पी. जैन, एडीएम सतर्कता श्री राजवीर सिंह, उपवन संरक्षक श्री पयोंग शशि, विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियन्ता श्री के.के. कस्वा, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता श्री सुशील बिश्नोई, पेयजल विभाग के अधीक्षण अभियन्ता श्री बलराज शर्मा सहित विभिन्न विभागों अधिकारी उपस्थित थे। 

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे