Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India किसानों का 18 हजार करोड़ का फसली ऋण माफ किया गुडगर्वनेंस में राजस्थान अग्रणी बना: शिक्षा राज्यमंत्री - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Saturday, 21 December 2019

किसानों का 18 हजार करोड़ का फसली ऋण माफ किया गुडगर्वनेंस में राजस्थान अग्रणी बना: शिक्षा राज्यमंत्री

श्रीगंगानगर। शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं जिले के प्रभारी श्री गोविन्द सिंह डोटसरा ने कहा कि शिक्षा विभाग में विभिन्न शिक्षण संस्थाओं के विकास के लिए 170 कायों के लिए 30 करोड़ रूपये की राशि स्वीकृत की है। 
श्री डोटासरा शानिवार को वर्तमान सरकार के एक वर्ष का कार्यकाल पूर्ण होने पर श्रीगंगानगर में आयोजित कार्यक्रम के दूसरे दिन प्रदर्शनी का अवलोकन करने के पश्चात मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत के दौरान यह बात कही। उन्होने कहा कि प्रदेश में 1260 नये विद्यालय नये व क्रमोन्त किये है। जिससे नामांकन में 2.75 लाख विद्यार्थियों की वृद्धि हुई है। प्रत्येक जिले में एक-एक अंग्रेजी माध्यम विद्यालय प्रारम्भ किया गया है तथा 167 ब्लाॅक स्तर पर अंग्रेजी माध्यम विद्यालय प्रारम्भ करने पर कार्य चल रहा है।
उन्होने कहा कि सरकार ने लम्बित परियोजनाओं को पूरा करने के साथ-साथ प्रदेश के किसानों का 18 हजार करोड़ रूपये का फसली ऋण माफ किया है तथा 200 करोड़ का नवीन ऋण भी दिया है। प्रदेश में किसानों के लिए, सफाई, शिक्षा, पेयजल, सड़क, बिजली के क्षेत्र में अच्छे कार्य हुए है तथा सौर ऊर्जा के क्षेत्र में भी प्रदेश में अच्छा कार्य होगा। 
शिक्षा राज्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान में पहली बार निःशुल्क दवा योजना की शुरूआत हुई, जिसका अन्य प्रदेशो ने भी अनुसरण किया। निरोगी राजस्थान की चर्चा करते हुए कहा कि प्रदेश के नागरिक नियमित शारीरिक अभ्यास करेंगे, तो वे स्वस्थ रहेंगे। उन्होने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भी श्रीगंगानगर से लगाव रखते है। श्रीगंगानगर में मेडिकल काॅलेज निर्माण के लिए कार्य चल रहा है। उन्होने कहा कि सरकार ने सामान्य वर्ग को 10 प्रतिशत आरक्षण संबंधी प्रावधान में बदलाव कर ज्यादा लोगों को लाभ देने का प्रयास किया है। 
राजस्थान लोक सेवा आयोग को भी निर्देश दिए है कि जो भर्तिया पाईपलाईन में उन पर शीघ्र कार्यवाही हो, जिससे युवाओं को रोजगार मिले। उन्होने कहा कि सभी वर्गो को साथ लेकर प्रदेश को आगे बढाएंगे। उन्होने कहा कि गुडगर्वनेंस में भी राजस्थान अग्रणी रहा है। 
प्रदर्शनी का किया अवलोकन
शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं जिले के प्रभारी श्री गोविन्द सिंह डोटसरा ने शनिवार को नगर विकास न्यास के सामुदायिक भवन में आयोजित तीन दिवसीय विकास प्रदर्शनी का अवलोकन किया तथा श्रीगंगानगर जिले व प्रदेश में हुए विकास कार्यो को चित्रों के माध्यम से देखा तथा प्रशंसा की। 
लोकार्पण व शिलान्यास किए
शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं जिले के प्रभारी श्री गोविन्द सिंह डोटसरा ने अपने दौरे के दौरान सामुदायिक भवन में शिक्षा विभाग के विभिन्न 23 विद्यालयों में 55 अध्ययन कक्षों के निर्माण कार्यो का लोकार्पण किया। इन अध्ययन कक्षों के निर्माण पर 549 लाख रूपये की राशि खर्च हुई है। इसी प्रकार विभिन्न 10 विद्यालयों में 26 अध्ययन कक्षों का शिलान्यास किया। इन अध्ययन कक्षों के निर्माण पर 234.25 लाख रूपये की राशि व्यय होगी। उन्होेने विजयनगर में निर्मित तहसील भवन का लोकार्पण किया। तहसील भवन के निर्माण पर 2.5 करोड़ रूपये की राशि व्यय हुई है। 
इसी प्रकार जिले में 10 पेयजल परियोजनाओं के विस्तार एवं नवीनीकरण के कार्यो का लोकार्पण किया। इन सभी पेयजल परियोजनाओं के नवीनीकरण पर 505.34 लाख रूपये की राशि व्यय हुई है। 
प्रभारी मंत्री ने गंगानगर टीम की सराहना की
शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं जिले के प्रभारी श्री गोविन्द सिंह डोटसरा ने श्रीगंगानगर जिले में हुए विकास कार्यो पर प्रशंनता व्यक्त करते हुए गंगानगर टीम की सराहना की। उन्होने कहा कि प्रभारी सचिव तथा जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते के कुशल नेतृत्व में श्रीगंगानगर जिले ने विकास के अच्छे सोपान तय किये है तथा निरन्तर यह जिला सर्वांगिण विकास की ओर बढेगा। 
इस अवसर पर पूर्व राज्यमंत्री एवं करणपुर विधायक श्री गुरमीत सिंह कुन्नर, गंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड़, प्रभारी सचिव श्री वैभव गलरिया, जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते, सभापति श्रीमती करूणा चांडक श्री अशोक चांडक, पूर्व सभापति श्री जगदीश जांदू उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे