Report Exclusive, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India 2008 में मुझे पुलिस और कोर्ट के झूठे केस की धमकी दी गई थी: तनुश्री - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Saturday, 13 October 2018

2008 में मुझे पुलिस और कोर्ट के झूठे केस की धमकी दी गई थी: तनुश्री


(जी.एन.एस) बॉलिवुड ऐक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने ओशिवरा पुलिस स्टेशन में बीते बुधवार को अपना बयान दर्ज करवाया, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि जब साल 2008 में ‘हॉर्न ओके प्लीज़’ के सेट पर हैरसमेंट की शिकायत की थी तो उसके बाद उनके खिलाफ पुलिस और कोर्ट के झूठे केस की धमकी दी गई थी। ऐक्टर नाना पाटेकर, कोरियॉग्रफर गणेश आचार्य और फिल्म डायरेक्टर राकेश सारंग और प्रड्यूसर सामी सिद्दीकी के खिलाफ तनुश्री के बयान को रिकॉर्ड करने में पुलिस को चार घंटे लगे। बता दें कि तनुश्री ने इस मामले में 6 अक्टूबर को लिखित शिकायत दर्ज करवाई थी। मुंबई पुलिस प्रवक्ता, मंजुनाथ शिंगे ने बताया, ‘इस मामले में धारा 354 (जब कोई किसी महिला की मर्यादा को भंग करने के लिए उस पर हमला या जोर-जबरदस्ती करे) और धारा 509 (किसी औरत के शील या सम्मान को चोट पहुंचाने वाली बात करना या हरकत करना) के तहत ओशिवरा पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस ने जानकारी दी है कि तनुश्री के निवेदन पर उनका यह बयान इंग्लिश में दर्ज किया गया है, जहां उनके वकील और दो महिला पुलिस अधिकारी भी मौजूद थीं, जिसमें से एक सीनियर ऑफिसर थीं। पुलिस को दिए तनुश्री के बयान के मुताबिक, ‘शूटिंग के चौथे दिन 26 मार्च 2008 को वहां सेट पर 100 सपॉर्टिंग स्टाफ मौजूद थे, जिनमें जूनियर आर्टिस्ट, डांसर और कुछ अन्य लोग शामिल थे। नाना पाटेकर ने मेरी इच्छा और सहमति के बगैर मुझे अपनी बाहों में जकड़ लिया और मुझे चारों तरफ इस बहाने से घुमाने लगे जैसे कि वह मुझे डांस सिखा रहे हों, जबकि वह कोरियॉग्रफर नहीं थे। जब वह मुझे बेमतलब और गलत तरीके से छूने लगे तो किसी ने इसपर सवाल नहीं किया। सभी इस अपराध का हिस्सा बने क्योंकि सब चुपचाप मूक दर्शक बने रहे। मुझे काफी अनकम्फर्टेबल लग रहा था। उन्होंने कोरियॉग्रफर और जूनियर आर्टिस्टों को वहां से जाने को कहा ताकि वह मुझे डांस स्टेप सिखा सकें। उनका यह व्यवहार सही नहीं था और मैं इसे लेकर बिल्कुल भी कम्फर्टेबल फील नहीं कर रही थी। मैंने ठीक उसी दिन अपनी फिल्म के प्रड्यूसर, डायरेक्टर और कोरियॉग्रफर से नाना पाटेकर के इस व्यवहार के खिलाफ शिकायत की।
source Report Exclusive
उनके स्टेटमेंट में कहा गया है, ‘मुझे कोरियॉग्रफर गणेश आचार्य ने बताया कि डांस सीक्वेंस में कुछ नए स्टेप्स जोड़े गए हैं, जिसमें इंटीमेट हुए हुए नाना पाटेकर मुझे टच करते हैं।

सामी सिद्दीकी, राकेश सारंग, गणेश आचार्या और नाना पाटेकर ने सेट पर एक जॉइंट मीटिंग की और उन्होंने मेरी सहमति, जानकारी और इच्छा के बगैर इंटीमेट डांस स्टेप रखने का फैसला कर लिया। मैं सेट से निकलकर वैनिटी वैन में चली गई, क्योंकि वे मुझे फिज़िकली और मेंटली हैरस कर रहे थे। वैनिटी वैन से ही मैंने अपने पैरंट्स और मैनेजर जमशेदजी को फोन किया। जब वे आए तो उन्होंने पूछा कि नाना पाटेकर मेरे साथ क्यों गलत व्यवहार कर रहे हैं तो प्रड्यूसर ने कहा कि किसी भी कंडीशन में मुझे यह डांस स्टेप करना ही होगा। उन्होंने बिना इस समस्या का समाधान किए शूट पैकअप कर दिया। जब पाटेकर के वकील राजेन्द्र शिरोडकर से बात की गई तो उन्होंने कहा, ‘हम इन सभी आरोपों का खंडन करते हैं।’ आचार्या और सारंग ने इस मामले पर न तो फोन और न ही मेसेज का कोई जवाब दिया। हालांकि, सिद्दीकी के वकील किशोर गायकवाड़ ने कहा, ‘मैं मेरे क्लाइंट पर लगे सभी आरोपों का खंडन करता हूं। पुलिस को इस मामले में जांच करने दें। हमने एफआईआर दर्ज करने से पहले ही पुलिस को आवेदन दे दिया है।
source Report Exclusive

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे