Report Exclusive, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India जिला कलेक्टर ने सूरतगढ़ चिकित्सालय का किया निरीक्षण अधिकारियों की ली बैठक - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Thursday, 17 January 2019

जिला कलेक्टर ने सूरतगढ़ चिकित्सालय का किया निरीक्षण अधिकारियों की ली बैठक

जिला कलक्टर सूरतगढ़, विजयनगर व रायसिंहनगर क्षेत्रा के दौरे पर

श्रीगंगानगर। जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने गुरूवार को सूरतगढ़, विजयनगर व रायसिंहनगर क्षेत्र का दौरा कर चिकित्सालयों का निरीक्षण व अधिकारियों की बैठक लेकर आवश्यक निर्देश दिये। जिला कलक्टर ने राजकीय सामुदायिक चिकित्सालय सूरतगढ़ के ट्रोमा सेन्टर का अवलोकन किया। चिकित्सालय के विभिन्न वार्डों में जाकर सफाई व्यवस्था देखी तथा उपचाराधीन नागरिकों से बातचीत की। उन्होंने औषधि भंडार का भी निरीक्षण किया तथा निर्देश दिये कि भंडार में कोई भी दवा अवधि पार नही होनी चाहिए तथा जो दवाएं स्टॉक में नही है, उनकी डिमांड लगातार भेजते रहे। नागरिकों ने चिकित्सालय में सर्जन चिकित्सक नही होने की बात बताई। जिला कलक्टर ने नागरिकों को आश्वस्त किया कि एक-दो रोज में सीजेरियन ऑपरेशन के लिये सर्जन चिकित्सक की व्यवस्था हो जायेगी। ट्रोमा सेन्टर में सीआर मशीन के संबंध में भी चर्चा हुई।
एसडीएम कार्यालय में हुई बैठक
जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने सूरतगढ़ में उपखण्ड स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली तथा विभिन्न विकास कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये। जिला कलक्टर ने एसडीएम को निर्देशित किया कि उपखण्ड स्तरीय अधिकारियों की साप्ताहिक बैठक लेकर विकास कार्यों की समीक्षा की जाये तथा नियमित रूप से कोर्ट लगाकर प्रकरणों का निपटारा किया जाये। उन्होंने ऐटा-सिंगरासर क्षेत्रा मे किसानों को विशेष योजना के तहत दिये जाने वाले विधुत कृषि कनेक्शन देने में तेजी लाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन किसानों ने डिमाण्ड राशि जमा कर दी है,उन्हें विधुत कनेक्शन दिये जाये।
जिला कलक्टर ने नगरपालिका के अधीशाषी अधिकारी को निर्देशित किया कि शहर में सफाई व्यवस्था अच्छी होनी चाहिए। कचरे का उठाव नियमित करने के साथ-साथ नालियों की सफाई पर भी विशेष ध्यान दिया जाये। सूरतगढ़ शहर में सीवरेज कार्य की प्रोपर मॉनिटरिंग की जाये। सीवरेज कार्य में पाईप बिछाने के साथ-साथ सड़क के पुननिर्माण का कार्य किया जाये, जिससे आमजन को कम से कम परेशानी हो। महिला बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी को निर्देशित किया कि क्षेत्रा में आशाओं के जो रिक्त पद है, उन्हें नियमानुसार भरे जाये। जिला कलक्टर ने पुलिस विभाग व जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि नहरों में पानी चोरी न हो, इसके लिये लगातार नहरों पर गश्त की जाये। पानी चोरी का प्रकरण सामने आने पर प्रभावी कार्यवाही की जाये। जिला कलक्टर ने सूरतगढ़ में नंदीशाला के कार्य को प्रारम्भ करने के निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि विकास अधिकारी सूरतगढ़ को कार्यकारी ऐजेंसी बनाया गया है। नंदीशाला के निर्माण कार्य में किसी तरह का विलम्ब नही होना चाहिए। जितना जल्द नंदीशाला का निर्माण होगा। शहरवासियों को बेसहारा पशुओं से निजात मिलेगी। सूरतगढ़ नगरपालिका के अध्यक्ष ने भी जिला कलक्टर को बताया कि आसपास के गांवों के लोग बेसहारा पशुओं को शहर में छोड़ देते है, जिससे शहरवासियों को परेशानी होती है। जिला कलक्टर ने नगरपालिका के अधिशाषी अधिकारी को निर्देशित किया कि रात्रि के समय पशु न छोड़े, इस पर निगरानी रखी जाये तथा नंदीशाला का निर्माण होने से शहर की समस्या का समाधान हो सकेगा।
जिला कलक्टर ने आदर्श राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मांझूवास का भी निरीक्षण किया। चिकित्सालय में सेवारत चिकित्सकों व कार्मिकों की उपस्थिति का निरीक्षण किया। सफाई व्यवस्था, दवाईयों की उपलब्धता की जानकारी ली तथा चिकित्सकों को आवश्यक निर्देश दिये।
केन्द्रीय राज्य फार्म के अधिकारियों से चर्चा
जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने गुरूवार को सूरतगढ़ केन्द्रीय राज्य फार्म के अधिकारियों से बातचीत की। केन्द्रीय राज्य फार्म में वर्तमान में सरकार द्वारा संचालित गतिविधियों की जानकारी ली तथा उन्होंने सुझाव दिया कि केवीके तथा आत्मा परियोजना के तहत किसानों का भ्रमण करवाया जा सकता है, जिससे किसान कृषि की नवीन तकनीक सीख सकेगें।
विजयनगर सीएससी का निरीक्षण
जिला कलक्टर श्री नकाते ने गुरूवार को विजयनगर में सामुदायिक चिकित्सालय का निरीक्षण किया। चिकित्सालय में सफाई व्यवस्था संतोषजनक थी। दवाओं की उपलब्धता पूरी थी तथा रोगियों की जांच इत्यादि का कार्य भली प्रकार से किया जा रहा था। जिला कलक्टर ने उपखण्ड स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली तथा एसडीएम को निर्देशित किया कि कोर्ट नियमित रूप से की जाये। उन्होंने तहसील भवन के निर्माण कार्य का अवलोकन किया तथा सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि तहसील भवन की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाये तथा समय-समय पर नमूने लिये जाये। इंदिरा गांधी नहर परियोजना के अभियंताओं से भी चर्चा हुई। जल संसाधन विभाग के अभियंता ने बताया कि वर्तमान में सिंचाई व्यवस्था ठीक है तथा किसानों की जो भी समस्याएं आती है, उनका निदान किया जा रहा है। 

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे