Report Exclusive, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India पत्रकारिता धर्म व धमकी! पत्रकार अपना धर्म कब तक,क्यों और किसलिए निभाये ? - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Saturday, 5 January 2019

पत्रकारिता धर्म व धमकी! पत्रकार अपना धर्म कब तक,क्यों और किसलिए निभाये ?


राजस्थान।(कुलदीप शर्मा) पत्रकारिता करते काफी वर्ष बीत गए लेकिन आमजन में पत्रकारिता के प्रति बदलता नजरिया काफी चिंतित करने वाला है। पत्रकारिता का धर्म ईमानदारी से निभाने वाले पत्रकारों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता आया है। जिसको लेकर कई प्रदेशों में पत्रकारों ने आवाज उठाई जिसका नतीजा सुखद अनुभव वाला रहा और उन राज्यो में पत्रकारों की तरफ आंख उठा कर देखने वालों पर भी सीधा मुकदमा दर्ज करने का फरमान है। लेकिन राजस्थान में भी पत्रकारों के प्रति आमजन की बदलती सोच ने एक बार फिर से पत्रकारिता जगत में सोचने को मजबूर कर दिया है।

आमजन के लिए संघर्ष करने वाला मीडिया
....
कहा जाता है कि किसी के पहचान पत्र,राशनकार्ड बनने से लेकर सरकारी कोई भी सुविधा ना मिलने तक हर खबर पर आमजन की आवाज बनते आया है। हर रोज मीडिया का पहला पेज आमजन के हित से जुड़े मुद्दों पर सीधा सरकार व महकमों से लड़ता आया है। लेकिन समाज को शायद इन्ही मीडिया को खत्म करने की इतनी जल्दी है कि मानो उनकी गाड़ी छूट रही हो! चिंता होना लाजमी है अब कब तक मीडिया किसी की आवाज बिना किसी सुरक्षा के बनते रहेगा!


कई राज्यो में सख्त आदेश तो केंद्रीय गृह मंत्री भी है सख्त
.......
बात करे भारत के कई राज्यो की तो मुख्यमंत्रियों व गृह मंत्रियों ने अपने अधीनस्थ पुलिस विभाग को सख्त आदेश दिया हुआ है कि पत्रकारिता का कार्य करते वक्त किसी को कोई नुकसान करना चाहे या डराना,धमकाना चाहे तो सीधा 24 घण्टे में एक्शन ले वहाँ का प्रशासन व पुलिस महकमा! लेकिन बावजूद इसके देश मे ऐसे मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे है।

सत्यता का मार्ग कांटो से होता है भरा
....
सभी जानते है कि मीडिया सच्चाई व समाज का आईना होती है लेकिन अगर उसी आईने को कोई तोड़ने का प्रयास करे तो वो यानी कि मीडिया कब तक स्वतन्त्र रह पाएगी। ओर वो स्वतन्त्र रहेगी भी क्यों ? क्योंकि जब उसी समाज को उनकी परवाह नहीं तो मीडिया उनकी परवाह कब तक कर पायेगी। खैर पत्रकारिता का धर्म निभाते रहेंगे।

धमकी से तो आज तक नहीं डरे अब कहाँ डरने वाले
.....
रिपोर्ट एक्सक्लूसिव न्यूज़ लगातार समाज मे सच्चाई को दिखाने के सतत प्रयास में जुटा हुआ है। लेकिन शायद सच्चाई पचाना कुछ एक जनो के लिए मुश्किल होता है। पत्रकारिता के धर्म मे हमेशा शत प्रतिशत लाने के प्रयास में ना जाने कितने दुश्मन हर रोज खड़े करते जा रहा है रिपोर्ट एक्सक्लूसिव न्यूज़। लेकिन बावजूद इसके कभी अपने रास्ते से डगमगाया नहीं ओर वादा रहा हम अपना कार्य ओर पूर्ण निष्ठा व ईमानदारी से निभाएंगे। परंतु अब समाज को सोचने की जरूरत है आपको कैसी मीडिया चाहिए!

मीडिया का आईना टूटा तो दमन हो जाएगा शुरू
....
हम पहले भी बता चुके हैं मीडिया समाज का आईना तो होती ही है लेकिन अगर इस आईने को तोड़ दिया जाए या फिर आईना धुंधला कर दिया जाए तो समाज को कुछ नजर नहीं आएगा। रही बात मीडिया की तो इसके बिना - किसी भी आम से खास व्यक्ति को कुछ भी अधिकार लेने के लिए शायद जिंदगी भी कम पड़ जाएगी। अब सभी को सोचने की जरूरत है मीडिया हमे स्वतन्त्र चाहिए या फिर शीशा टूटा हुआ चाहिए। खैर हम अपना धर्म निभाते रहेंगे लेकिन आखिर कब तक,क्यों ओर किसलिए ????

सन्देश:-आमजन से लेकर खास को मीडिया को मजबूत करने पर बल देने की जरूरत है वरना वो दिन दूर नहीं जब सभी आमजन भटकते हुए नजर आएंगे...!

धन्यवाद!
लेखक:-कुलदीप शर्मा
सम्पादक,रिपोर्ट एक्सक्लूसिव न्यूज़

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे