Report Exclusive, Lok Sabha Elections 2019: Latest News, Photos, and Videos on India General Elections, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India पुस्तकों के ज्ञान से युवा अपनी मंजिल पा सकते है - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Tuesday, 1 January 2019

पुस्तकों के ज्ञान से युवा अपनी मंजिल पा सकते है


श्रीगंगानगर। जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि पुस्तकें इंसान का सच्चा मित्रा है तथा पुस्तकों के ज्ञान से युवा अपनी मंजिल को प्राप्त कर सकते है। 
जिला कलक्टर मंगलवार को कुम्हार धर्मशाला में सावित्रा बाई फूले आश्रम में सावित्रा पुस्तकालय के लोकापर्ण के अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्रा के युवा ज्यादा से ज्यादा प्रशासनिक एवं अन्य सेवाओं में जाये। इसके लिये किये जा रहे प्रयास सराहनीय है। उन्होंने कहा कि अध्ययन की आदत से युवा नशे से दूर रहता है तथा अपनी मंजिल को प्राप्त कर लेता है। 
उन्होंने कहा कि किसी भी प्रतियोगी परीक्षा देने से पूर्व एक लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए तथा उसी के अनुरूप दृढ संकल्प के साथ अध्ययन करना चाहिए। किसी भी परीक्षा को लेकर मन में भय व डर की भावना नही होनी चाहिए। जो कमजोर पक्ष है, उस पर अधिक ध्यान दिया जाये। जो मजबूत पक्ष है, उसे भी पढे़। कभी ओवर कॉन्फिडेंस में नही रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि परीक्षा में पूछे गये प्रश्न का सटीक उतर दें। अनावश्यक बहुत लम्बा उतर नही होना चाहिए। जो प्रश्न सबसे अच्छा आता है, उसे पहले करना चाहिए। उसके पश्चात कम आने वाले प्रश्न हल करे तथा अंत में नही आने वाले प्रश्नों पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने अपने अनुभवों के बारे में उपस्थित युवाओं को बताया। 

उन्होंने बताया कि मेनें स्वयं कभी कोचिंग क्लास में तैयारी नही की। घर पर ही अध्ययन किया। भारतीय प्रशासनिक सेवा से पूर्व राज्य सेवा, वन, सुरक्षा इत्यादि में भी परीक्षाओं में सफलता प्राप्त की थी। युवाओं को अपनी क्षमता को पहचानना होगा तथा उसी के अनुरूप तैयारी करनी होगी। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी श्री शिवराम यादव, श्री हरीश टाक, श्री हरिराम घोडेला सहित गणमान्य नागरिक व युवा उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन श्री ताराचंद लिम्बा ने किया। 

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे