Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India 31वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह 4 से दुर्घटनाओं में कमी लाना हो उद्देश्यः- जिला कलक्टर - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Monday, 3 February 2020

31वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह 4 से दुर्घटनाओं में कमी लाना हो उद्देश्यः- जिला कलक्टर


श्रीगंगानगर। जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम नकाते ने कहा कि दुर्घटनाओं में कमी लाने तथा दुर्घटनाओं के कारण मृत्युदर को रोकने के लिये आमजन को जागरूक करना सड़क सुरक्षा सप्ताह का मुख्य उद्देश्य है। दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिये आमजन के सुझाव भी लिये जाये। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा सप्ताह में परिवहन से जुड़े नागरिकों के साथ-साथ आमजन की भागीदारी सुनिश्चित की जाये। 
जिला कलक्टर श्री नकाते सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाहाॅल में आयोजित 31वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह से संबंधित बैठक में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि युवा शक्ति के माध्यम से परिवर्तन लाया जा सकता है। शिक्षण संस्थाओं में विधार्थियों को जागरूक करने के साथ-साथ जहां अभिभावक खड़े होते है, पेयजल वाले स्थान पर भी फलैक्स लगाकर सड़क सुरक्षा की जानकारी दी जा सकती है। 
उन्होंने कहा कि जहां-जहां दुर्घटनाओं के ब्लैक स्पोट है, उनका चिन्हिकरण करने के साथ-साथ हेलमेट व सीट बैल्ट का उपयोग जरूरी किया जाये। सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान वाहन चालकों के आंखों की जांच की जायेगी। 6 जनवरी को सूरतगढ रोड़, 7 जनवरी को हनुमानगढ रोड़ तथा 8 जनवरी को पदमपुर रोड के टोल प्लाजा के पास शिविर लगाकर नेत्रों की जांच होगी तथा जिन वाहन चालकों की आंखे कमजोर है या मोतियाबिन्द से ग्रस्त है, उनका उपचार होगा तथा दूसरे जिलों के वाहन चालकों की सूचना संबंधित जिले के परिवहन अधिकारी को दी जायेगी। 
जिला कलक्टर ने बसों के माध्यम से एवं अन्य वाहनों से डीजल के अवैध परिवहन को गंभीरता से लिया। उन्होंने कहा कि यात्री बस में अवैध डीजल परिवहन से कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है। परिवहन विभाग व पुलिस इसे रोकने के लिये प्रभावी कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा सप्ताह के आयोजन जिला मुख्यालय के अलावा पूरे जिले भर में चलाया जाकर ग्रामीण स्तर के नागरिकों को भी इसकी जानकारी दी जाये। उन्होंने कहा कि श्रीगंगानगर शहर में यातायात को सुव्यवस्थित करने के लिये एक प्लान तैयार किया जाये, किस समय कौनसी सड़क को एकतरफा यातायात, भारी वाहनों का समय, अवांछित डिवाइडर कट चिन्हित किये जाये। 
श्री नकाते ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं के दौरान जिस घायल व्यक्ति को जो नागरिक चिकित्सालय पहुंचाते है, उन्हें भी पुरस्कृत किया जाये। सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान सातों दिन विभिन्न प्रकार की गतिविधियां आयोजित की जाये, जिसका लाभ नागरिकों को मिलें तथा हमारा प्रयास अधिकतम जन जागरूकता को बढ़ावा देना है। उन्होंने कहा कि तेज गति से चलाने वाले वाहन चालकों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की जाये। सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान जिले के सभी स्थानीय निकायों द्वारा बेसहारा पशुओं को पकड़कर टैगिंग के साथ गौशालाओं में छोड़ने तथा बेसहारा पशुओं के सींगों पर रेडियम टेप लगाई जाये। उन्होंने कहा कि इस कार्य को करने की जिम्मेदारी नगरपरिषद की रहेगी। अपने उतरदायित्वों को पूर्ण नही करने वाले अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। 
31 वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह
4 से 10 फरवरी तक
बैठक में जिला परिवहन अधिकारी सुमन ने बताया कि जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम नकाते के निर्देशानुसार 4 फरवरी को प्रातः 10.30 बजे सुखाड़िया सर्किल पर कार्यक्रम का आयोजन होगा। गंगासिंह चैक से रैली निकाली जायेगी, जो मुख्य मार्गो से होते हुए सुखाड़िया सर्किल पहुंचेगी। सुखाड़िया सर्किल पर जन जागरूकता के लिये मानव श्रृंखला बनाई जायेगी। नुक्कड़ नाटक के माध्यम से जन जागरूकता बढाई जायेगी। 
5 फरवरी को 11 बजे संगोष्ठी का आयोजन किया जायेगा। इसके अलावा बिना हेलमेट, सीट बैल्ट न लगाना, अनुज्ञा पत्र नही होना, वाहन तेज गति से चलाने वाले वाहन चालकों के विरूद्ध परिवहन विभाग द्वारा कार्यवाही की जायेगी। जागरूकता के लिये पम्पलेट व ब्रोशर वितरित किये जायेगें।
6 फरवरी को सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा ब्लैक स्पोट का सर्वे व दुरस्तीकरण, ग्रामीण सड़कों से झाड़िया हटाना, गति सीमा के चिन्ह प्रर्दशित करना, टुटी सड़को की मरम्मत, लाईनिंग, जेब्रा क्रासिंग, स्टीट लाईटों को ठीक करने इत्यादि कार्य किये जायेगे। 7 फरवरी को जिले के विधालयों में विधार्थियों में सड़क सुरक्षा संबंधी चित्रकला, पोस्टर, पेन्टिंग, स्लोगन, निबंध, कहानी, वाद-विवाद प्रतियोगियों का आयोजन करवाया जायेगा, जिसमें 24 बच्चों का चयन किया जायेगा। महाविधालयों के विधार्थियों के सेमीनार आयोजित किये जायेगें। 
8 फरवरी को जिला परिवहन विभाग द्वारा जनजागरूकता के साथ-साथ निमयों की पालना नही करने पर कार्यवाही की जायेगी। 9 फरवरी को सड़क सुरक्षा से संबंधित जानकारी दी जायेगी तथा कार्यवाही भी की जायेगी। 10 फरवरी को समापन समारोह होगा। समारोह में विजेता विधार्थियों, सहयोगी संस्थाओं को सम्मानित किया जायेगा। जनसमूह को सड़क सुरक्षा की शपथ भी दिलवाई जायेगी। 
वाहनों को तेज गति से चलाने तथा परिवहन से संबंधित किसी प्रकार की समस्या या सुझाव जिला परिवहन विभाग के मोबाईल नम्बर 9414093933 पर संचालित व्हाट्स ऐप के माध्यम से जानकारी दी जा सकती है। 
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर सर्तकता श्री अरविन्द जाखड़, पीएमओ डाॅ. के.एस.कामरा, अधीक्षण अभियंता पेयजल श्री बलराम शर्मा, प्रर्वतक अधिकारी श्री संदीप गौड़, अधीशाषी अभियंता श्री पवन कुमार, सचिव नगरपरिषद श्री लाजपत सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, यातायात प्रभारी सहित परिवहन से जुड़ी संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित थे। 

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे