Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India श्रीगंगानगर के कृषि अनुसंधान केन्द्र को मिला आइएसओ प्रमाण पत्र - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Thursday, 9 April 2020

श्रीगंगानगर के कृषि अनुसंधान केन्द्र को मिला आइएसओ प्रमाण पत्र

श्रीगंगानगर के कृषि अनुसंधान केन्द्र को मिला आइएसओ प्रमाण पत्र
श्रीगंगानगर-बीकानेर। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के श्रीगंगानगर स्थित कृषि अनुसंधान केन्द्र (एआरएस) को क्वालिटी मैनेंजमेंट सिस्टम में आइएसओ 9001ः2015 प्रमाण पत्र प्राप्त हुआ है। श्रीगंगानगर का यह केन्द्र राज्य का पहला कृषि अनुसंधान केन्द्र है, जिसे यह उपलब्धि हासिल हुई है।
 कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह ने बताया कि केन्द्र को यह प्रमाण पत्र अनुसंधान एवं फसल सुधार, उत्पादन और संरक्षण प्रौद्योगिकियां, प्रमाणित फसल की किस्मों के उत्पादन, फल उत्पादन के लिए उच्च गुणवत्ता वाले पौधों की आपूर्ति और कृषि विस्तार प्रशिक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के फलस्वरूप प्राप्त हुआ है। यह प्रमाण पत्र 7 अप्रैल 2020 से 6 अप्रैल 2023 तक प्रभावी रहेगा।
 कुलपति ने बताया कि विश्वविद्यालय से संबद्ध इकाईयों को पिछले छह महीनों में पांचवां आइएसओ प्रमाण पत्र मिला है। इससे पहले कृषि यंत्र एवं मशीनरी परीक्षण एवं प्रशिक्षण केन्द्र को क्वालिटी मैनेंजमेंट और एनवारयमेंट मैनेंजमेंट के लिए अलग-अलग आइएसओ प्रमाण पत्र प्राप्त हुए। वही कृषि व्यवसाय प्रबंध संस्थान और सीड प्रोजक्ट को भी आइएसओ प्रमाण पत्र मिल चुके हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी उपलब्धियों से विश्वविद्यालय की साख में और अधिक वृद्धि होगी। निकट भविष्य में अन्य इकाईयों के लिए भी ऐसे प्रयास किए जाएंगे।
 अनुसंधान निदेशालय के निदेशक डाॅ. पी. एस. शेखावत ने बताया कि अनुसंधान केन्द्र के क्षेत्रीय निदेशक डाॅ. यू.एस. शेखावत और सभी अधिकारियों की ‘टीम भावना’ के फलस्वरूप यह उपलब्धि हासिल हुई है। केन्द्र द्वारा आइएसओ के विभिन्न मानकों के आधार पर रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। सभी मानकों पर खरा उतरने के बाद यह प्रमाण पत्र मिला है। उन्होंने कृषि अनुसंधान केन्द्र के सभी कार्मिकों को बधाई दी है।

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे