Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India जिले में चलेगा अब ’’शुद्ध के लिए युद्ध‘‘ अभियान खाद्य पदार्थों में मिलावटियों की खैर नहीं सूचना देने वालों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Friday, 23 October 2020

जिले में चलेगा अब ’’शुद्ध के लिए युद्ध‘‘ अभियान खाद्य पदार्थों में मिलावटियों की खैर नहीं सूचना देने वालों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि

राज्य सरकार ने लगाया खाद्य सुरक्षा अधिकारी

26 अक्टूबर से 14 नवंबर तक चलेगा अभियान
श्रीगंगानगर, । जिला कलक्टर श्री महावीर प्रसाद वर्मा ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार जिले में 26 अक्टूबर से 14 नवंबर तक ’’शुद्ध के लिए युद्ध‘‘ अभियान चलेगा। इस दौरान जिले में खाद्य पदार्थ में मिलावट करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। यही नहीं मिलावटखोरों की सूचना देने वालों को राज्य सरकार की ओर से प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी। श्रीगंगानगर जिले में खाद्य सुरक्षा अधिकारी नहीं होने के कारण राज्य सरकार ने राहत देते हुए अभियान के लिए विशेष रूप से खाद्य सुरक्षा अधिकारी नियुक्त किया है। इस संबंध में जिला कलक्टर महावीर प्रसाद वर्मा ने समस्त अधिकारियों को उक्त अभियान के तहत गंभीरता से कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। 
 सीएमएचओ डाॅ0 गिरधारी लाल मेहरड़ा ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से ’’शुद्ध के लिए युद्ध‘‘ अभियान के संचालन के लिए जिला स्तरीय प्रबंधन समिति एवं जांच दल का गठन किया गया है। अभियान के तहत दूध, मावा, पनीर व अन्य दुग्ध उत्पादए आटा, बेसन, खाद्य तेल व घी की जांच की जाएगी। वहीं सूखे मेवे, मसालों और बाट व माप की जांच भी की जाएगी। त्योहारी सीजन को देखते हुए 14 नवम्बर तक अभियान चलाकर मिलावट करने वालों के खिलाफ खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि अभियान की अवधि में मिलावटी खाद्य वस्तुएं बनाने वालों की सूचना देने वालों को सूचना सही पाए जाने पर 51 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इस राशि का वितरण जिला कलक्टर के द्वारा फूड टेस्टिंग लैब की सूचना के बाद निष्कर्ष प्रमाणित करते हुए दिया जाएगा। सूचना देने वालों की पहचान गोपनीय रखी जाएगी। जिला स्तरीय प्रबंधन समिति की ओर से जिले के खाद्य पदार्थ उत्पादक, बड़े थोक विक्रेता एवं खुदरा विक्रेता चिन्हित किए जाएंगे, जहां मिलावट की संभावना अधिक रहती है। वहीं समिति द्वारा अभियान की नियमित समीक्षा की जाएगी।
वीसी के माध्यम से दिए निर्देश
अभियान को सफल बनाने के लिए राज्य सरकार की ओर से दिशा-निर्देश प्रदान किए गए हैं। गुरुवार को आयोजित इस वीसी में जिला स्तर से जिला श्री कलक्टर श्री महावीर प्रसाद वर्मा पुलिस अधीक्षक राजन दुष्यंत, एडीएम डाॅ0 गुंजन सोनी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ0 गिरधारी मेहरड़ा, डिप्टी सीएमएचओ डाॅ0 करन आर्य व डीएसओ सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे। वीसी के बाद अधिकारियों ने बैठक कर अभियान को सफल बनाने के लिए विस्तृत चर्चा की। 

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे