Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India जिले में नहरबंदी के दौरान पानी का दुरूपयोग नहीं हो: जिला कलक्टर - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Friday, 19 March 2021

जिले में नहरबंदी के दौरान पानी का दुरूपयोग नहीं हो: जिला कलक्टर

 

जिला कलक्टर ने नहरबंदी की समीक्षा की

जिले में नहरबंदी के दौरान पानी का दुरूपयोग नहीं हो: जिला कलक्टर
श्रीगंगानगर, । जिला कलक्टर श्री महावीर प्रसाद वर्मा ने शुक्रवार को नहरबंदी के दौरान जल संबंधी समस्याओं और पेयजल और सिंचाई व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करने के संबंध में समीक्षा बैठक ली। जिला कलक्टर ने पिछले सप्ताह डिग्गियों में जल भण्डारण का आत्म निरीक्षण किया था। उन्होंने सभी ब्लाक विकास अधिकारियों को निर्देशित किया कि जहां भी भण्डारण के स्रोत उपलब्ध हैं, वे स्वयं दौरे कर निरीक्षण कर लें और डिग्गियों में पानी भर रहे हों और बाघ की समस्या नहीं हो, यह भी सुनिश्चित करें।
पीएचडी के अधीक्षण अभियंता श्री बलराम शर्मा ने ब्लाक विकास अधिकारियों से कहा कि जिन क्षेत्रों में स्टोरेज केपेसिटी कम हो, वहां तीन दिन में एक बार सप्लाई समय बढ़ाकर दें। उपखण्ड अधिकारियों के सहयोग से डिग्गियां भरते समय पूर्ण योजना बनाकर कार्य करें। कहीं भी जल का दुरूपयोग न होने पाए और आवश्यकता होने पर ट्रांसपोर्टेशन के जरिये भी पानी उपलब्ध कराया जा सकता है लेकिन यह सुनिश्चित होना चाहिए कि संबंधित क्षेत्र में पानी का दुरूपयोग न हो।
जिला कलक्टर ने निर्देशित किया है कि सभी ग्राम सरपंच ग्रामवासियों से बातचीत कर आटोमेटिक पानी वाले सिस्टम को बंद रखें ताकि खाद पानी ना बहे। उन्होंने सभी ब्लाक विकास अधिकारियों से डिग्गी भण्डारण के विषय में अलग-अलग चर्चा की। करणपुर, अनूपगढ़, सूरतगढ़, श्रीविजयनगर, रायसिंहनगर, घड़साना, पदमपुर आदि में डिग्गियां भरी हुई हैं। श्री वर्मा ने कहा कि जिन डिग्गियों में बाघ हो, उन्हें मरम्मत करवाकर तुरन्त ठीक करवावे और सभी अधिकारी ट्यूबवेल मेनटेंनेंस पर भी माईनिंग रखें।
श्री बलराम शर्मा ने बताया कि पूरे जिले में हैण्डपम्पस भी सुचारू रूप से कार्य कर रहे हैं और जहां भी मरम्मत की आवश्यकता है, वे स्वयं इनकी माईलिंग कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि हैण्डपम्प मरम्मत की आवश्यकता पड़ने पर तुरन्त कार्यवाही कर वेरीफाई किया जाता है और रिपोर्ट भी भिजवाई जाती है। जिला कलक्टर श्री वर्मा ने कहा कि सभी जल भण्डारण स्त्रोतों में पानी स्वच्छ रहे और डिग्गियों में ब्लीचिंग पाउडर की मात्रा का ध्यान रखा जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रति एक लाख लीटर पर 800 ग्राम ब्लीचिंग पाउडर डाला जा सकता है। जिला कलक्टर ने सभी अधिकारियों को अपने क्षेत्रों में सप्लाई नियंत्रक रखने के आदेश दिए।
इस बैठक में जोधपुर विधुत वितरण निगम के अधीक्षण अभियंता श्री जे.एस.पन्नू, जल संसाधन विभाग के श्री प्रदीप रूस्तगी, पूर्व ब्लाक विकास अधिकारी एवं अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे