Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India एडिटर एंड जर्नलिस्ट मीडिया काउंसिल की हुई आपातकालीन बैठक - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Thursday, 17 June 2021

एडिटर एंड जर्नलिस्ट मीडिया काउंसिल की हुई आपातकालीन बैठक



∆ जिला संयोजक एवं अध्यक्ष रहेंगे "दूरियां मिटाओ अभियान" के प्रभारी

∆ ग्रामीण से लेकर प्रदेश स्तर तक पत्रकारो की समस्याओं पर होगी समीक्षा

∆ पत्रकार सुरक्षा कानून निर्माण मुहिम को करेंगे ओर तेज

∆ गुलाब के फूल से दूरियां मिटाएगा इजेएमसी प्रन्यास

∆ कोरोना के दौरान निजी ईलाज से आर्थिक परेशान हुए पत्रकारो को सरकार द्वारा राहत देने की करेंगे मांग

राजस्थान। एडिटर एंड जर्नलिस्ट मीडिया काउंसिल प्रन्यास की बुधवार देर रात्रि राष्ट्रीय अध्यक्ष कुलदीप शर्मा के सानिध्य में आपातकालीन बैठक बुलाई गई। दरअसल प्रदेश में पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर प्रन्यास ने मुहिम शुरू कर रखी है। वहीं प्रन्यास को पिछले काफी समय से कई तहसील, जिला एवं ग्रामीण क्षेत्र के पत्रकारो में आपस फुट एवं नाराजगी की बाते सामने आ रही थी। जिसके बाद प्रन्यास के राष्ट्रीय अध्यक्ष कुलदीप शर्मा ने  नवाचार करते "दूरियां मिटाओ अभियान" मुहीम की शुरुआत करने पर जोर देने की बात कही गयी। आपातकालीन बैठक में निर्णय लिया गया कि राजस्थान प्रदेश के सभी जिलों में जिला संयोजक/अध्यक्ष को अपने-अपने जिलों का "दूरियां मिटाओ अभियान" मुहीम का प्रभारी नियुक्त किया जाएगा जो कि सभी तहसील/ग्रामीण अध्यक्षो से अपने-अपने क्षेत्र में कार्य करने वाले विभिन्न संगठनों एवं अलग-थलग रह रहे पत्रकारो के नाम जिला कमेटी को भिजवाने को लेकर आग्रह करेंगे। फिर जिला कमेटी सभी पत्रकार संगठनों एवं आपसी गुटबाजी को खत्म करने के लिए सभी से गुलाब के फूल के साथ मिलेंगे। सभी संगठनों एवं नाराज पत्रकारो को गुलाब का फूल देते हुए उनसे वार्ता की जाएगी। वार्ता का प्रमुख उद्देश्य सिर्फ पत्रकारिता हित मे एक-दूसरे के साथ खड़े होकर पत्रकारों की आवाज बुलंद करने का ही होगा। इसी के साथ प्रदेश में जहां संगठन कमजोर है उन जगहों को चिन्हित करते हुए कार्यकारिणी विस्तार को आगे बढ़ाया जाना निश्चित किया गया है। 


गुलाब के फूल से मिटायेंगे आपसी दूरियां

.......

एडिटर एंड जर्नलिस्ट मीडिया कांउसिल ने पत्रकार संगठनों एवं अलग-थलग हुए पत्रकारों से पत्रकारिता हित मे साथ लाने पर जोर देने का कार्य शुरू किया है। प्रन्यास की कोर कमेटी बैठक में हुए निर्णय के अनुसार पत्रकारिता हितों को ध्यान में रखते हुए सभी संगठनों एवं अलग-थलग रह रहे पत्रकारो को गुलाब के फूल के साथ आमंत्रित करने का नवाचार शुरू किया जाना तय हुआ है। प्रन्यास ने साफ कर दिया है कि पत्रकारिता हित सर्वोपरि की टैगलाइन के साथ संगठन पत्रकारो के लिए काम करता रहेगा। 



ग्रामीण एवं तहसील कमेटी सौंपेगी रिपोर्ट

.........

प्रन्यास की हुई आपातकालीन बैठक में निर्णय लिया गया कि राजस्थान प्रदेश के सभी जिलों के जिलाध्यक्ष की ड्यूटी लगाई जाएगी कि वो अपने जिले में स्थित विभिन्न पत्रकार संगठनों एवं अलग-थलग रह रहे पत्रकारो की रिपोर्ट तैयार करेगा जो कि प्रदेश एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी को भेजी जाएगी। जिसके चलते जिलाध्यक्ष ये जिम्मेदारी ग्रामीण एवं तहसील अध्यक्षो को सौंपेगा। जिसकी रिपोर्ट आने पर प्रन्यास आने वाले समय मे इन सभी को पत्रकारिता हित मे साथ आने पर जोर देगा। ताकि देश-प्रदेश मे पत्रकारो के मुद्दों पर पुरजोर से सभी संगठन एवं पत्रकार मिलकर आवाज उठा सके। 



कमेटियां सौंपेगी जिला एवं प्रदेश कमेटी को समस्याओं का पुलिंदा

......

इजेएमसी की आपातकालीन बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष कुलदीप शर्मा ने कहा कि प्रन्यास की कार्यकारिणी जिन-जिन प्रदेशो में कार्यरत है उन सभी कमेटियों को सूचित किया जावे की अपने-अपने प्रदेश में ग्रामीण से लेकर प्रदेश तक की ईजेएमसी कार्यकारिणी को आ रही समस्याओं पर एक रिपोर्ट तैयार की जाए जो कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी को भेजी जाए ताकि पता चल सके कि प्रदेश में पत्रकारो को किस प्रकार की समस्याओं का  सामना करना पड़ता है ताकि आने वाले समय मे इन समस्याओं पर अंकुश लगाने का अथक प्रयास किया जा सके।



इन मुद्दों पर भी चर्चा हुई

........

पत्रकार सुरक्षा कानून की राजस्थान प्रदेश में एडिटर एंड जर्नलिस्ट मीडिया काउंसिल द्वारा चलाई जा रही मुहिम की समीक्षा की गयी। समीक्षा के दौरान ये निर्णय लिया गया कि जो पदाधिकारी सक्रिय नहीं है उनसे पहले दूरभाष पर चर्चा की जाएगी उसके बाद भी अगर वो सक्रिय नही होते हैं तो उन्हें साधारण सदस्यता प्रदान कर दी जाएगी। ताकि अन्य ऊर्जावान पत्रकारो को मौका मिल सके जिससे कि प्रदेश एवं देश मे पत्रकारो की आवाज बुलंद की जा सके। इसके अलावा प्रदेश में कोरोना के दौरान जिन पत्रकारो की मौत हो चुकी है उन्हें श्रद्धा-सुमन अर्पित किए गए। वहीं जो पत्रकार कोरोना से लड़ते हुए जंग तो जीत गए लेकिन निजी अस्पतालों से इलाज करवाने में आर्थिक स्थिति जिनकी डगमगा गयी उनके लिए सरकार से मदद की मांग पर भी विचार किया गया।



No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे