Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India नशा व्यक्ति को अपना गुलाम बना लेता है-: इन्द्रमोहन सिंह जुनेजा - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Friday, 18 January 2019

नशा व्यक्ति को अपना गुलाम बना लेता है-: इन्द्रमोहन सिंह जुनेजा


श्रीगंगानगर। जिला पुलिस अधीक्षक हेमंत शर्मा के निर्देशानुसार पुलिस प्रशासन द्वारा जिला स्तर पर चलाए जा रहे नशा मुक्ति अभियान के अंतर्गत नशा मुक्ति जन जाग्रति कार्यशाला का आयोजन शुक्रवार को राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय ततारसर में पुलिस थाना चुनावढ के सहयोग से किया गया।
           कार्यक्रम में नशा मुक्ति विशेषज्ञ डा रविकांत गोयल ने मुख्य वक्ता के रूप में अपने संबोधन में कहा कि नशा मानवता का दुश्मन होता है। नशे का सेवन व्यक्ति आनंद के लिए करता है लेकिन वास्तव में नशा व्यक्ति के जीवन से आनंद को गायब कर देता है, खुशियाँ छीन लेता है ,सम्पनता को लील लेता है तथा बदले में दुःख तकलीफ ,बीमारियाँ ,अपमान व् अभाव प्रदान करता है। नशा करने वाला दर-दर की ठोकरें खाता हुआ नारकीय जीवन जीने को विवश हो जाता है। डा गोयल ने नशें से दूर रहने की प्रेरणा प्रदान करते हुए नशें से बचने ,बचाने ,नशा छोड़ने व् छुडवाने की जानकारी देते हुए उपस्थित जनसमूह को जीवनभर नशा न करने की शपथ दिलवाई।
          इस अवसर पर पी एल वी इन्द्रमोहन सिंह जुनेजा ने अपने संबोधन में कहा कि नशा व्यक्ति को अपना गुलाम बना लेता है ,नशे के नियमित सेवन से नशे का प्रभाव व्यक्ति के दिल दिमाग पर छा जाता है जिससे व्यक्ति को कुछ नही सूझता, ऐसा व्यक्ति नशा प्राप्त करने के लिए अपराध करने लगता है तथा नशे के प्रभाव में अनैतिक कार्य कर बैठता है अतः नशे से बचाव में ही समाज की भलाई है।
             इस अवसर पर प्रधानाचार्य रमेश बेरवाल ने नशे को बुराईयों की जड़ बताते हुए ग्रामीणों को नशें से दूर रहने व् युवा पीढ़ी को भी नशें से दूर रहने के लिये प्रेरित किया। कार्यक्रम में उप सरपंच पृथ्वीराज ढाका, वार्ड पंच गिरधारी लाल व् दौलत राम पुलिस थाना सहायक उपनिरीक्षक संतोख सिंह ,चांदनी शर्मा व् पंचायत सहायक सुरेन्द्र कुमार ने भाग लिया। 

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे