Report Exclusive, Lok Sabha Elections 2019: Latest News, Photos, and Videos on India General Elections, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India Loksabha Election 2019 - उम्र का तकाजा है ‘आडवाणी और जोशी’ को सेवानिवृत्त होना ही पड़ेगा – नितिन गड़करी - Report Exclusive

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Friday, 29 March 2019

Loksabha Election 2019 - उम्र का तकाजा है ‘आडवाणी और जोशी’ को सेवानिवृत्त होना ही पड़ेगा – नितिन गड़करी


नई दिल्ली। केंद्रीय भूतल परिवहन और जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि पूरा भरोसा है कि उनकी पार्टी लोकसभा की 300 से ज्यादा सीटें जीतेगी और नरेंद्र मोदी एक बार फिर देश के प्रधानमंत्री बनेंगे। उन्होंने आगे कहा, ‘मैं रेस में नहीं हूं।’  नितिन गड़करी एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में यह बात कही। भाजपा द्वारा एलके आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और शांता कुमार जैसे दिग्गज नेताओं को इस चुनाव में टिकट नहीं देने के सवाल पर गडकरी ने कहा, ‘आडवाणी जी और जोशी जी दोनों हमारे रोल मॉडल हैं, वे हमारे आइकॉन और मार्गदर्शक हैं। वे हम सभी के लिए प्रेरणास्रोत हैं। यह समय का तकाजा है कि उम्र ज्यादा होने की वजह से उन्हें रिटायर होना पड़ेगा। आडवाणी जी 93 वर्ष के हैं और यह नए लोगों को कमान सौंपने का समय है। इसे अपमान नहीं समझा जाना चाहिए।‘


गडकरी ने कहा, ‘मोदी सरकार ने पांच वर्षों में जो कर दिखाया वह पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारें 50 वर्षों में नहीं कर पाईं। हम लोग इसबार सकारात्मक वोटों से जीतेंगे और हमारी पार्टी बीजेपी 300 से ज्यादा सीटें जीतकर मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनाएगी।’ यह पूछे जाने पर कि यदि बीजेपी 220 सीटों से कम जीतती है तो कौन प्रधानमंत्री बनेगा, गडकरी ने कहा; ‘मैं इफ्स और बट्स का जवाब नहीं दे सकता लेकिन केवल इतना कह सकता हूं कि क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है। कृपया इस वाक्य का सही अर्थ समझें। हालात चाहे जो कुछ भी हो नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बन जाएंगे। मैं 100 प्रतिशत कह रहा हूं, हमें बहुमत मिलेगा और नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री होंगे। मैं प्रधानमंत्री की रेस में नहीं हूं।’

एंटी सैटेलाइट मिसाइल का काम यूपीए के शासनकाल में शुरू करने के कांग्रेस नेताओं के बयान पर नितिन गडकरी ने निशाना साधा, उन्होने कहा ‘हमारे वैज्ञानिकों ने इसमें सफलता पाई (मिसाइल टेस्ट करके)। उनकी सरकार ने इसकी अनुमति नहीं दी थी। हमारी सरकार ने इस टेस्ट की इजाजत दी और हमारे वैज्ञानिकों ने इसे सफलता पूर्वक अंजाम दिया। अब वे कह रहे हैं हमने इसे शुरू किया था। अगर ऐसा था तो पिछले 60 वर्षों में उन्होंने इसे क्यों नहीं किया था?’

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे