Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India Hanumangarh Special : पुरानी ईंटो से कर डाला नाली निर्माण शिकायत हुई लेकिन जवाब कौन दे गया अधिकारियों को नहीं पता - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Wednesday, 24 June 2020

Hanumangarh Special : पुरानी ईंटो से कर डाला नाली निर्माण शिकायत हुई लेकिन जवाब कौन दे गया अधिकारियों को नहीं पता


सम्पर्क पोर्टल की शिकायतों का जवाब कौन देता है भला

 वहीं से उखाड़ा खडवंजा और वहीं बना दी उन्ही ईंटो से नाली

ठेकेदार से मिलीभगत कर सरपंच और ग्राम विकास अधिकारी ने किया भृष्टाचार


हनुमानगढ़(कुलदीप शर्मा) जिला मुख्यालय के नजदीकी गाँव मक्कासर में नाली निर्माण कार्य में भृष्टाचार का मामला सामने आया है। मक्कासर गाँव के वार्ड आठ में नाली निर्माण के दौरान पुरानी ईंटो का इस्तमाल करने का आरोप लगाया गया है। ग्राम पंचायत सरपंच और ग्राम विकास अधिकारी द्वारा भृष्टाचार के चलते नालियों का निर्माण बिना किसी मापदंडो के कर दिया गया। जानकारों की माने तो कोई भी ग्राम पंचायत नए निर्माण कार्य में पुरानी सामग्री या ईंटो का इस्तमाल बिलकुल भी नहीं कर सकती है। लेकिन बावजूद इसके ग्राम पंचायत मक्कासर में इन सभी नियमो और मापदंडो को दरकिनार करते हुए पुरानी ईंटो का इस्तमाल करते हुए नाली निर्माण कार्यो को आनन-फानन में ठेकेदार की मदद से पूर्ण कर दिया गया।  

क्या थी शिकायत
शिकायतकर्ता ने शिकायत पत्र में लिखा की वार्ड नंबर आठ की गली में सड़क किनारे नाली निर्माण का कार्य किया जा रहा है. गली में दूसरी तरफ की नाली का निर्माण नई ईंटो के द्वारा किया गया था. और लॉकडाउन के दौरान उस गली में निर्माण कार्य बंद कर दिया गया था. 08 मई को शिकायतकर्ता के घर के पास नाली निर्माण का कार्य पुनः शुरू कर दिया गया. जब शिकायतकर्ता ने देखा की नई नाली निर्माण में पुरानी और घटिया ईंटो का इस्तमाल किया जा रहा है. तो इस मामले में ग्राम पंचायत सरपंच को सूचित किया। तब सरपंच ने मौके पर पहुँच कर पुराना बजट होने की बात कह कर पुरानी ईंटे लगाने की बात कही. जब की शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया की उसी के घर के सामने वाली दूसरी साइड में नई ईंटो का इस्तमाल किया गया था. शिकायतकर्ता को सरपच ने प्रशासन से शिकायत करने को कहते हुए निर्माण कार्यो को निरंतर जारी रखा. जिसके बाद शिकायतकर्ता ने भृष्टाचार को रोकने की नियत के चलते शिकायतों का दौर शुरू किया। 

शिकायतों का कौन देता है जवाब
जब इस मामले को लेकर रिपोर्ट एक्सक्लूसिव ने अधिकारियों से सम्पर्क साधा तो उन्होंने कहा कि हमारे ध्यान में ऐसा कोई मामला आया ही नहीं है। अब ये बात भी ध्यान देने वाली है कि राज्य सरकार द्वारा चलाये जा रहे सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज शिकायतों का निस्तारण आखिर कौन कर रहा है। मामले की जांच उन्ही व्यक्तियों से करवाई गई जो खुद इसमे लिप्त हैं ये भी बड़ा सवाल खड़ा होता है। अब देखना ये रहेगा कि आखिर उच्च अधिकारी इस मामले को कितना गम्भीरता से लेते हैं। 

वहीं से उखाड़ा खडवंजा और वहीं बना दी उन्ही ईंटो से नाली
जानकारी के अनुसार मक्कासर ग्राम पंचायत के वार्ड नंबर आठ में नाली निर्माण के दौरान उसी गली से उखाड़ी गयी खडवंजा ईंटो का इस्तमाल नाली निर्माण के कार्य में कर लिया गया. दरअसल गाँव में पुराने खंडवंजा सड़को को उखाड़कर कर सीसी ब्लॉक (सीमेंट चौके) लगाने का कार्य चल रहा था उसी दौरान ग्राम पंचायत में नाली निर्माण भी हो रहा था. इसका फायदा उठाते हुए नाली निर्माण ठेकेदार ने खडवंजा से उखाड़ी ईंटो का इस्तमाल नाली निर्माण में कर लिया। जिसके बाद जागरूक लोगो ने इसका विरोध भी किया। 


कब-कब और कहाँ-कहाँ हुई शिकायत
08 मई को सबसे पहले सरपंच को सूचित किया गया जिसके बाद कुछ नहीं हुआ तो 09 मई को राजस्थान सरकार के संपर्क पोर्टल 181 पर शिकायत दर्ज करवाई गयी। उसी दिन जिला कलक्टर और एसडीएम को ईमेल और व्हाट्सप्प के जरिये फोटो सहित शिकायत भेजी गयी। जिला परिषद सीईओ और बीडीओ हनुमानगढ़ को ईमेल के जरिये शिकायत फोटो सहित भेजी गयी। 22 जून को दुबारा शिकायत को अंसतुष्ट बताते हुए संपर्क पोर्टल पर भेजी गयी। शिकायतकर्ता को इन शिकायतों के दौरान किसी भी अधिकारी या जांचकर्ता ने कोई संपर्क नहीं किया। 

अधिकारी और जांच अलग लेकिन जवाब एक
शिकायतकर्ता ने बताया की जब इसकी शिकायत कलक्टर एवं एसडीएम को ईमेल और व्हाट्सएप्प के माध्यम से की गयी तो जांच में थोड़ी हलचल जरूर हुई थी। रिपोर्ट एक्सक्लूसिव को मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान संपर्क पोर्टल 181 पर भी शिकायत दर्ज करवाई गयी थी। जिसके बाद शिकायत को जांच के लिए बीडीओ हनुमानगढ़ को भेजी गयी थी। बीडीओ ने अपनी जांच में इसे निराधार मानते हुए ग्राम पंचायत सरपंच और ग्राम विकास अधिकारी को बचाने का कार्यं किया। जब शिकायतकर्ता ने असंतुष्ट होते हुए शिकायत को जारी रखा तो शिकायत को अबकी बार जिला परिषद को भेज दी गयी। लेकिन यहां भी जवाब वो ही मिला जो बीडीओ ने पहले से दे रखा था। अब इन शिकायतों को लेकर अधिंकारी कितने सजग और ईमानदार है वो इन जवाबो से पता चलता है। हर शिकायत का एक ही जवाब आना इतना तो स्पष्ट करता है की हो न हो सभी मामलो की जाँच चाहे जहां ही भेज दो जांच और जवाब उसी ने ही देना है। 

क्या है मामला
दरअसल मामला मई 2020 का है जानकारी के अनुसार वार्ड नंबर आठ में नाली निर्माण घटिया ईंटो से किया जा रहा था। जिसकी शिकायत एसडीएम और जिला कलक्टर को ईमेल और व्हाट्सप्प के जरिये भेजी गयी। शिकायतकर्ता राकेश कुमार ने बताया की 07 मई को वार्ड आठ में मेरे घर के नजदीक पुराणी ईंटो से नाली का निर्माण किया जा रहा था जिसका मेने विरोध किया। जिसके बाद सरपंच को सुचना दी गयी। मक्कासर ग्राम पंचायत सरपंच बलदेव सिंह और ग्राम विकास अधिकारी रमेश शर्मा ने मौके पर पहुँच कर मामले को दबाने का प्रयास किया। 

मेने पुरानी ईंटो के इस्तमाल पर शिकायत की थी लेकिन किसी ने ना तो मुझसे संपर्क किया और ना ही कोई जांच हुई। अब जिला परिषद की जांच में भी पँचायत को क्लीन चिट दे दी है। सरेआम भृष्टाचार किया गया है सभी दबाने का प्रयास कर रहे है। :- राकेश कुमार, शिकायतकर्ता

मुझे मक्कासर ग्राम पंचायत के पुरानी खड़वंजे की ईंटो से नाली निर्माण का कोई मामला पता नहीं है ना ही ऐसा मामला मेरी ध्यान में आया है। :- राधेराम रेवाड़, बीडीओ हनुमानगढ़ पंचायत समिति


No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे