Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India सांसद निहालचन्द के प्रयासों से श्रीगंगानगर-रायसिंहनगर भारतमाला सड़क के टेंडर हुए जारी - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Tuesday, 2 March 2021

सांसद निहालचन्द के प्रयासों से श्रीगंगानगर-रायसिंहनगर भारतमाला सड़क के टेंडर हुए जारी

 सांसद निहालचन्द के प्रयासों से श्रीगंगानगर-रायसिंहनगर भारतमाला सड़क के टेंडर हुए जारी

नई दिल्ली/श्रीगंगानगर। पूर्व केन्द्रीय मंत्री व लोकसभा सांसद निहालचन्द के अथक प्रयासों से केंद्र सरकार द्वारा भारतमाला परियोजना के तहत श्रीगंगानगर (एनएच 62- साधुवाली)- जैड माईनर-श्रीकरणपुर-गजसिंहपुर होते हुए रायसिंहनगर तक बनने वाली अति-महत्वपूर्ण सड़क निर्माण के टेंडर जारी हो गए है।  
क्षेत्रवासियों को लगभग पिछले 3 वर्षों से इस महत्वाकांक्षी सड़क का इंतजार था । इस महत्वपूर्ण सड़क के जल्द से जल्द निर्माण हेतु कई बार सांसद निहाल चन्द जी ने केन्द्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी जी से भी मुलाकात की थी और लोकसभा में भी इस मुद्दे को उठाया था । अब इस परियोजना के टेंडर जारी होने से इसके जल्द निर्माण की संभावना को बल मिला है । कुल 102.076 किमी. लम्बी इस सड़क के निर्माण हेतु 644 करोड़ रूपए की स्वीकृति जारी हुई है । जून माह के पहले हफ्ते से शुरू होने वाली इस परियोजना को कुल 730 दिनों में पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है । 
सीमावर्ती जिले और सामरिक दृष्टि से अति महत्वपूर्ण इस सड़क को 2 लेन (विद पेव शोल्डर) हाईवे के रूप में विकसित किया जाएगा और 3 जगहों पर रेलवे ओवरब्रिज बनाए जाएंगे, साथ ही बहुत से अंडरपास व फ्लाईओवरों का निर्माण किया जाएगा । इस सड़क को श्रीगंगानगर, श्रीकरणपुर, गजसिंहपुर व रायसिंहनगर में कुल 41.524 किमी. के बाईपास के रूप में बनाया जाएगा, जिससे यातायात सुगम होगा और लोकल ग्रामीणों को भी परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा ।
इस सड़क के निर्माण से 4 मंडियों समेत क्षेत्रवासियों को आवागमन के लिए भी बहुत सुविधा होगी, जोकि क्षेत्र के विकास में बहुत सहायक सिद्ध होगी । विदित हो कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद मोदी जी के द्वारा देश के सीमावर्ती क्षेत्रों के तेजी से विकास और देश की सुरक्षा व सामरिक दृष्टि को ध्यान में रखते हुए वर्ष 2015 में इस महत्वाकांक्षी भारतमाला परियोजना की शुरुआत की गई थी, जिसके पहले चरण में 29000 किमी. की सीमावर्ती सडकों का विकास किया जाएगा।

No comments:

Post a comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे