Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India चेतक कोर ने मनाया 43वां स्थापना दिवस सप्तशक्ति कमाण्ड के आर्मी कमाण्डर ने कोर को दी शुभकामनाएं - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Thursday, 1 July 2021

चेतक कोर ने मनाया 43वां स्थापना दिवस सप्तशक्ति कमाण्ड के आर्मी कमाण्डर ने कोर को दी शुभकामनाएं

 चेतक कोर ने मनाया 43वां स्थापना दिवस सप्तशक्ति कमाण्ड के आर्मी कमाण्डर ने कोर को दी शुभकामनाएं

श्रीगंगानगर-जयपुर। चेतककोर ने गुरूवार को बठिंडा सैन्य स्टेशन में अपना 43 वां स्थापना दिवस मनाया। चेतक कोर की स्थापना 1 जुलाई 1979 को लेफ्टिनेंट जनरल एमएल तुली की कमान में बठिण्डा में की गई थी। इसकी स्थापना के बाद से चेतक कोर परिवर्तनों की एक श्रृखंला से होकर अत्यधिक सामरिक और प्रशासनिक रूप से प्रभावी कोर के रूप में अपनी वर्तमान स्थिति तक पहंुचा है।
 इस अवसर को पुनः स्मरण करते हुए लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार मागो, जनरल आॅफिसर कमांडिंग चेतककोर ने युद्ध स्मारक योद्धा यादगार में वीरगति को प्राप्त हुए वीरों की स्मृति में पुष्पचक्र अर्पित किये, जिन्होंने हमारे महान राष्ट्र की सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए इस क्षेत्र में लड़ी गई विभिन्न लड़ाईयों में अपने प्राणों की आहूति दी। सप्त शक्ति कमान के आर्मी कमाण्डर लेफ्टिनेंट जनरल अमरदीप सिंह भिंडर ने चेतककोर के सभी सैनिकों और असैनिक कार्मिकों को शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर बठिण्डा मिलिट्री स्टेशन में वृक्षारोपण अभियान को आगे बढ़ाते हुए चेतककोर कमांडर व श्रीमती कोमल मागो जनरल प्रेजिडेंट की अगुवाई में 14 हजार पेड़ पौधे भी लगवाये गये।
 युद्ध के बदलते प्रतिमान में नवीनतम वैश्विक और क्षेत्रीय सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिये भारतीय सेना की तैयारियों को मध्यनजर रखते हुए चेतककोर हमेशा दृढ़ रहता है और दक्ष सामरिक क्षमता, कड़ी मेहनत और समर्पण के माध्यम से अपनी परिचालन तैयारी को बढ़ाने पर केन्द्रित होता है। इस अवसर पर कोर कमाण्डर ने कोर के सभी रैंको को अपने कर्तव्यों को समर्पण के साथ जारी रखने और सेना की सर्वोच्च परम्पराओं को बनाये रखने के लिये प्रेरित किया। उन्होंने सभी रैंकों से निस्वार्थ संकल्प और साहस के साथ भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिये सक्रिय रूप से तैयार रहने का आग्रह किया साथ ही उनके बहुमूल्य योगदान के लिये भूतपूर्व सैनिकों और उनके परिजनों का धन्यवाद भी किया। उन्होंने आश्वासन दिया कि कोर हमेशा अपने भूतपूर्व सैनिकों और वीरांगनाओं की देखभाल करने और कोविड के इस कठिन समय में उनकी मदद करने का हर संभव प्रयास करता रहेगा।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे