Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India कोरोना काल में डाॅक्टरों की भूमिका सराहनीय: श्री गंगल - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Thursday, 1 July 2021

कोरोना काल में डाॅक्टरों की भूमिका सराहनीय: श्री गंगल

 कोरोना काल में डाॅक्टरों की भूमिका सराहनीय: श्री गंगल

श्रीगंगानगर,। डाक्टरों के अमूल्य योगदान को सम्मानित करने के लिए हर साल एक जुलाई को भारत में राष्ट्रीय डाक्टर्स डेष्का आयोजन किया जाता है। ’’डाक्टर्स डे‘‘ के आयोजन के अवसर पर उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक श्री आशुतोष गंगल ने समस्त डाक्टर तथा स्वास्थ सेवा से जुड़े कर्मियों को शुभकामनाएं दीं। श्री गंगल ने कहा कि जब राष्ट्र कोरोना महामारी से लड़ रहा है, उस समय डाक्टर लाखों लोगों के जीवन को बचाने हेतु दिन-रात अथक मेहनत से जान बचाने के लिए प्रयासरत हैं। मानवताए डाक्टरों की निस्वार्थ सेवाए अमूल्य योगदान तथा हमें स्वस्थ बनाये रखने में उनके प्रयास की सदैव ऋणी रहेगी। विश्वव्यापी कोरोना वायरस नये स्वरूपों के साथ नई चुनौतियां दे रहा है तथा इसने आज पूरे विश्व में स्वास्थ्य संकट खड़ा कर दिया है। डाक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, तकनीनिशयन तथा अन्य स्वास्थ्य वर्कर कोरोना-19 महामारी से लड़ने में फ्रन्टलाईन योद्धा हैं। ये लोग असंख्य लोगों के जीवन को बचाने में दिन-रात लगे हुए हैं।
 उन्होने बताया कि भारतीय रेल का सबसे बड़ा जोन होने के कारण उत्तर रेलवे कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ने के प्रयासों में आगे रहा है। देशभर में खाद्यान की आपूर्ति हेतु कार्गो स्पेशल रेलगाड़ियाँ तथा मेडिकल मदों की सप्लाई में रेल महत्वपूर्ण योगदान कर रही है। हाल ही में उत्तर रेलवे से आॅक्सीजन एक्सप्रेस रेलगाड़ियों द्वारा जीवनदायिनी मेडिकल आॅक्सीजन का प्रभावित क्षेत्रों के लिए परिवहन किया जा रहा है। बोकारो, राउरकेला, अंगुल, हापा, वडोदरा तथा कई अन्य तरल आक्सीजन औद्योगिक सेन्टरों से देश के दूसरे स्थानों पर त्वरित रूप से आॅक्सीजन एक्सप्रेस रेलगाड़ियों के द्वारा माऊंटिड टेंकरों से सप्लाई की जा रही है। उत्तर रेलवे पर 858 टेंकरों से 14,050 मिट्रिक टन लिक्विड मेडीकल आॅक्सीजन का परिवहन किया गया है। चिकित्सीय परामर्शदाताओं के मार्ग दर्शन में आइसोलेशन कोचों को कोविड केयर सुविधा में बदला गया है। वर्तमान में उत्तर रेलवे पर विभिन्न स्थानों पर ऐसे 530 कोच लगाये गये हैं।
 उन्होने बताया कि उत्तर रेलवे के प्रमुख रेफरल अस्पताल, सेण्ट्रल हास्पिटल, नई दिल्ली के साथ-साथ मण्डल अस्पतालों को भी कोविड केयर सेंटर में बदला गया है। यहां आई.सी.यू. सहित अन्य जाँच तथा चिकित्सा सुविधायें उपलब्ध कराई गई हैं ताकि अधिक से अधिक लोगों को चिकित्सा सुविधा मिल सके। उत्तर रेलवे पर 710 कोविड बेड उपलब्ध कराये गए हैं। बड़ी संख्या में कोरोना मरीजों को आॅक्सीजन की आवश्यकता पड़ती है, दूसरी लहर के दौरान रेल निवास को अल्प समय में कोरोना सेन्टर के रूप में परिवर्तित कर इसे सेण्ट्रल हास्पिटल से जोड़ दिया गया। उत्तर रेलवे के अस्पतालों में कुल 4500 कोरोना मरीजों को भर्ती कर उनका इलाज किया गया। उत्तर रेलवे ऐसा पहला जोन है जिसने कोरोना-19 की जाँच हेतु टूªनट एण्ड जेने-एक्सपर्ट मशीन द्वारा सेण्ट्रल हास्पिटल में इन हाउस जाँच शुरू की। अभी तक उत्तर रेलवे द्वारा कुल 30,000 आरटीपीसीआर टेस्ट किए गए हैं। विश्व भर में टीकाकरण अभियान की शुरूआत के क्रम में माननीय प्रधानमंत्री जी ने 16 जनवरी 2021 को इसकी शुरूआत भारत में की थी। इसमें वरिष्ठ नागरिकों, कर्मियों तथा उनके परिजनों तथा 18 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों का मुफ्त टीकाकरण रेलवे अस्पतालों में किया जा रहा है। अभी तक कुल 94,761 कर्मियों को टीके की पहली डोज लग चुकी है, जो कि कुल संख्या का 75.80 प्रतिशत है।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे