Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India गंगानगर में शहद प्रयोगशाला और 8000 डिग्गियों के भौतिक लक्ष्यों का आवंटन करे राज्य सरकार - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Saturday, 5 February 2022

गंगानगर में शहद प्रयोगशाला और 8000 डिग्गियों के भौतिक लक्ष्यों का आवंटन करे राज्य सरकार

 गंगानगर में शहद प्रयोगशाला और 8000 डिग्गियों के भौतिक लक्ष्यों का आवंटन करे राज्य सरकार

दोनों मांगों के समर्थन में विधायक ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र
श्रीगंगानगर,। गंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड़ ने मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर गंगानगर जिले में शहद परीक्षण प्रयोगशाला स्थापित करने और डिग्गी निर्माण कार्यक्रम के अंतर्गत 8000 डिग्गियों के भौतिक लक्ष्यों का आवंटन करवाने की मांग की है।
 पत्र में विधायक ने बताया कि गंगानगर और हनुमानगढ़ जिलों में सरसों की खेती अत्यधिक क्षेत्रफल में होती है। सरसों पर बहुत अधिक मात्रा में मधुमक्खी पालन किया जा रहा है। लगभग 10,000 मधुमक्खी बॉक्स व कॉलोनी से 700 क्विंटल शहद का उत्पादन अकेले ही गंगानगर जिले में हो रहा है। मधुमक्खी पालन हेतु उद्यान विभाग द्वारा 40 प्रतिशत अनुदान दिया जाता है, जिसे बढ़ाकर 50 प्रतिशत किया जाना उचित रहेगा।
 उन्होंने बताया कि कुछ लोग शहद में मिलावट कर शहद बेच रहे हैं, जिससे लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ हो रहा है। इसलिए जिले में शहद के परीक्षण हेतु प्रयोगशाला खोला जाना आवश्यक है। श्री गौड़ ने गंगानगर में प्रयोगशाला खोलने के लिए एक बीघा जमीन तथा 5 करोड़ रुपए की सहायता की आवश्यकता जताते हुए बताया कि उद्यान विभाग के कार्यालय के पीछे स्थित राजकीय नर्सरी में पर्याप्त स्थान उपलब्ध है। इसलिए नए कृषि बजट में शहद परीक्षण प्रयोगशाला स्थापित करने की घोषणा की जाए।
 इसी क्रम में विधायक ने बताया कि गंगानगर जिले में फसलों की सिंचाई का मुख्य स्रोत नहरें हैं। कृषि विभाग द्वारा नहरी क्षेत्रों में नहर चालू होने के समय उपलब्ध सिंचाई की बारी के दौरान अतिरिक्त पानी को डिग्गी में संग्रहित करके फसल की क्रांतिक अवस्थाओं पर आवश्यकता के अनुरूप बूंद-बूंद सिंचाई और फव्वारा सिंचाई आदि के माध्यम से सिंचाई जल का संरक्षण तथा कुशलतम उपयोग करने के लिए डिग्गी निर्माण कार्यक्रम चलाया जा रहा है।
 उन्होंने बताया कि डिग्गी निर्माण कार्यक्रम के अंतर्गत वर्ष 2021-22 में राज किसान साथी पोर्टल पर गंगानगर जिले में कृषकों द्वारा डिग्गी के कुल 10270 अॅनलाइन आवेदन प्राप्त हुए हैं। इस प्रकार कृषि में सिंचाई जल के सदुपयोग की महती आवश्यकता और किसानों की मांग को देखते हुए पोर्टल पर डिग्गी निर्माण के लिए प्राप्त सभी लंबित आवेदनों के निष्पादन हेतु आगामी वित्तीय वर्ष 2022-23 के कृषि बजट में प्रावधान कर गंगानगर जिले में 8000 डिग्री के भौतिक लक्ष्यों का का आवंटन करवाए जाने की घोषणा का श्रम करें।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे